आधी आबादी ब्‍लॉग

असहिष्णुता: क्‍या आप जानते हैं शाहरुख खान की मां आपातकाल में संजय गांधी की उस टीम में शामिल थीं, जिसने मुसलमानों के जबरन नसबंदी का फैसला किया था!

संदीप देव। मैं 'असहिष्‍णुता' पर जिन तथ्‍यों सामने रख रहा हूं, उससे पहले बहुत कम लोग परिचित थे और यह दर्शाता है कि कांग्रेस-वामपं‍थियों ने किस तरह झूठ की बुनियाद पर देश का पूरा इतिहास लिखा है! #असहिष्‍णुता पर पहले मैंने यह बताया था कि किस तरह से आमिर खान के पूर्वज मौलाना अब्‍दुल कलाम आजाद ने भारत के साथ धोखे का व्‍यवहार किया। मौलाना आजाद आमिर खान के पड़नाना थे।

Read more...

असहिष्णुता: काश! सोनिया मैडम और आमिर खान तक कोई इस सच्चाई को पहुँचा दे!

संदीप देव। आखिर कांग्रेस, कांग्रेस समर्थक व आमिर-शाहरुख जैसे मुसलमान किस मुंह से सहिष्णुता की बात करते हैं? आपातकाल के दौरान इंदिरा-संजय गांधी ने दिल्ली की जनता, खासकर मुसलमानों पर इतना अधिक जुल्म ढाया था कि तत्कालीन दिल्ली के उपराज्यपाल ने इन दोनों का आदेश मानने की जगह आत्महत्या कर लिया था! जी हाँ, आत्महत्या!

Read more...

असहिष्णुता: आमिर खान के पूर्वज मौलाना आजाद ने भी देश को शर्मसार करने में कसर नहीं छोड़ी थी!

संदीप देव। आमिर खान जिस तरह आप देश छोड़ने की बात कर रहे हैं वैसा ही कुछ हाल आपके पुरखे मौलाना आज़ाद का भी था . वो तो नेहरू ने उन्हें कांग्रेस का मुस्लिम पोस्टर बॉय बना रखा था और यह बात जिन्ना खुल कर कहते थे. बाद में मौलाना आज़ाद को नेहरू ने देश का प्रथम शिक्षा मंत्री बनाया था और बिलकुल आप ही की तरह उनकी गद्दारी देखिये, उन्होंने अपनी पुस्तक में भारत विभाजन का मुख्य दोषी नेहरू को माना और जिन्ना को इस आरोप से मुक्त कर दिया.

Read more...

Arun Jaitley साहब अब बस भी कीजिए! मोदी सरकार को बदनाम करने वालों को पुरस्‍कृत करने का यह खेल क्‍यों?

संदीप देव। अरुण जेटली साहब आपमें Narendra Modi सुनामी में भी जीतने की क्षमता नहीं रही, इसलिए शायद आप हम मतदाताओं एवं अपनी ही सरकार के सम्मान से खिलवाड़ करने में जुटे हैं! PIB एक्रेडेशन कमेटी की यह सूची देखिए! नितिन गडकरी और Sushma Swaraj ji के खिलाफ फर्जी दस्तावेज के जरिए साजिश करने वाली TIMES NOW की राजनीति संपादक नविका कुमार जैसों को आपने शामिल किया है! साजिश इसलिए कह रहा हूँ कि Nitin Gadkari ji के अध्यक्ष पद से हटते और संसद का सत्र खत्म होते ही, दोनों के खिलाफ TIMES का बिगएक्सपोजे एकदम से बंद हो गया! भाजपा के अंदर जो चर्चा थी कि दोनों नेताओं के खिलाफ नविका कुमार के जरिए Times तक श्रीमान जेटली ने दस्तावेज पहुँचाया है, वो नविका को आपके मंत्रालय द्वारा उपकृत करने से बहुत हद तक सही प्रतीत हो रहा है!

Read more...

चुनाव अयोग के आदेशों की अवहेलना कर इंदिरा गांधी ने 5 हजार मुसलमानों का नरसंहार क्‍या सहिष्‍णुता स्‍थापित करने के उददेश्‍य से कराया था?

संदीप देव। एक तरफ बिहार चुनाव में 'महाठगबंधन' प्रतिदिन भाजपा की शिकायत चुनाव आयोग से कर रहा है, तो दूसरी ओर मैडम सोनिया के नेतृत्‍व में समूची विपक्षी पार्टियां, पत्रकार, साहित्‍यकार, फिल्‍मकार, वामपंथी बुद्धिजीवी देश में असहिष्‍णुता-असहिष्‍णुता का राग अलाप कर प्रधानमंत्री मोदी पर हमलावर हैं, जबकि वह जानते हैं कि सुरक्षा राज्‍य सरकारों का विषय होता है। ये असहिष्‍णुता का मंत्र जाप करने वाले तब कहां थे जब चुनाव आयोग के निर्देशों की अवहेलना कर सोनिया की सास इंदिरा गांधी ने आसाम में चुनाव कराया था, जिसमें 5000 से अधिक मुसलमानों का नरसंहार हुआ था?

Read more...

धर्म नहीं, राष्‍ट्र है व्‍यक्ति की सही प...
धर्म नहीं, राष्‍ट्र है व्‍यक्ति की सही पहचान!

संदीप देव।ं (सिर्फ कटटर लिख रहा हूं, इसलिए उदार मुस्लिम इससे खुद को न जोडें) से कहना चाहता हूं कि जहां से इस्‍लाम निकला था, वह देश ही जब धर्म से अधिक राष्‍ट्र [...]

आप प्रतिक्रिया मत दीजिए, बल्कि मसीह-मोहम...

संदीप देव।ने इतिहास अभियान को लेकर मैं जो कुछ लिख रहा हूं, उसमें कुछ वामपंथी-सेक्‍यूलर-इस्‍लामी जमात घुसकर उसे संदर्भ से काटकर लोगों को भटकाने की लगातार कोशिश कर रहे हैं। ओशो ने [...]

Aurangzeb‬ के पक्ष में वही लोग खड़े हैं,...
Aurangzeb‬ के पक्ष में वही लोग खड़े हैं, जो आतंकी याकून मेनन के लिए खड़े थे!

संदीपदेव‬।ी बनाने और जहरीले तेल से उनकी मालिश कर उसकी हत्‍या कराने वाले, बड़े भाई दारा शिकोह को नृशंसतापूर्वक मारने वाले, सूफी संत सरमद को जामा मस्जिद की सीढ़ी पर कत्‍ल करवाने वाले, [...]

दुनिया की सबसे वैज्ञानिक लिपि है देवनागर...
दुनिया की सबसे वैज्ञानिक लिपि है देवनागरी लिपि

‪संदीपदेव‬।निक लिपि है देवनागरी लिपि। देखिए, देवनागरी का पहला अक्षर है 'अ' अर्थात 'अज्ञान' और देवनागरी का आखिरी अक्षर है 'ज्ञ' अर्थात 'ज्ञान'। देवनागरी मतलब- ' [...]

धर्म के नाम पर इतना पाखंड ठीक नहीं है वै...
धर्म के नाम पर इतना पाखंड ठीक नहीं है वैदिक जी ! ‪

संदीप देव।रे होते हैं और सचमुच उसके अंदर कितना पाखंड भरा होता है, यह आप उसके पूरे आचरण और व्‍यवहार के आधार पर जान सकते हैं। वरिष्‍ठ पत्रकार वेदप्रताप वैदिक, फ्रांस के अखबार शार्ली [...]

कृष्‍ण ने अर्जुन से कहा, हे अर्जुन वृक्ष...
कृष्‍ण ने अर्जुन से कहा, हे अर्जुन वृक्षों में मैं पीपल हूं। लेकिन आखिर पीपल ही क्‍यों?

संदीप देव।: सर्ववृक्षाणां देवर्षीणां च नारद: हे अर्जुन वृक्षों में मैं पीपल हूं और देवर्षियों में नारद। कदम्‍ब के पेड़ के नीचे रास [...]

वह महात्‍मा गांधी थे, जिन्‍होंने कस्‍तूर...
वह महात्‍मा गांधी थे, जिन्‍होंने कस्‍तूरबा का स्‍मारक बनवा कर परिवार को महिमा मंडित करने की शुरुआत की थी! ‪‎

संदीपदेव‬।ी थे, जिन्‍होंने सबसे पहले परिवारवाद की मूर्ति पूजा का चलन इस देश में शुरु किया। और यह भी बता दूं कि देश के सबसे बढिया स्‍मारक में उनकी पत्‍नी कस्‍तूरबा गांधी का स्‍मारक शामिल [...]

सुंदरता के बाजार से जन्‍मी नई विषमता!...
सुंदरता के बाजार  से जन्‍मी नई विषमता!

संजय कुमार बलौदिया। पिछले दिनों द इंटरनेशनल सोसायटी ऑफ एस्थेटिक प्लास्टिक सर्जरी का सर्वे प्रकाशित हुआ जिसके मुताबिक कॉस्मेटिक सर्जरी के मामले में अमेरिका, चीन और ब्राजील के बाद भारत चौथे स्थान पर आता है। यह आंकड़ा भारत की [...]

दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!...
दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!

आधी आबादी ब्‍यूरो, नई दिल्ली। जंगल बनता जा रहा है। बच्चों के लिए खेलने के लिए जगह नहीं बची है। पार्क भी धीरे-धीरे खत्म होते जा रहे हैं। अभिभावकों की [...]

नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदे...
नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदेश

दिल्‍ली।  कमल इंसटिट्यूट ऑफ हायर एडूकेशन के छात्र और छात्राओ ने 'बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ ' अभियान पर नुक्कड नाटक का आयोजन किया। 22 जनवरी 2015 को प्रधानमंत्री नरेंद्र [...]

असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के ब...
असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के बीच रहती हूं, लेकिन मैंने कभी भारत में भेदभाव महसूस नहीं किया!

सोफिया रंगवाला। पेशे से डॉक्टर हूं। बंगलोर में मेरी एक हाइ एण्ड लेजर स्किन क्लिनिक है। मेरा परिवार कुवैत में रहता है। मैं भी कुवैत में पली बढ़ी हूं लेकिन 18 साल [...]

प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम कर...
प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम करे, सूचना प्रसारण मंत्री को तो क्रिकेट डिप्‍लोमेसी से ही फुर्सत नहीं है!

संदीप देव।उटलुक पत्रिका के एक गलत खबर के कारण जो हंगामा हुआ और सदन को स्‍थगित करना पड़ा, इसका जिम्‍मेवार कौन है? क्‍या मोदी सरकार मीडिया के इस तरह के गैरजिम्‍मेवार और सबूत [...]

Other Articles