फेसबुक पर पनपे प्रेम ने उसे देश का गद्दार बना दिया!

नई दिल्ली/लखनऊ। ‘इश्क ने गालिब निकम्मा कर दिया वर्ना आदमी हम भी काम के थे’ कुछ ऐसा ही हुआ है सेना के जवान सुनीत कुमार के साथ. फौजी से आइएसआइ एजेंट बनने की कहानी नाटकों से भी ज्यादा नाटकीय है. सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक से शुरू हुई अनजाने में एक प्रेम कहानी देश के लिए गद्दारी तक पहुंच गई. यूपी पुलिस की एसटीएफ ने उसे लखनऊ से गिरफ्तार किया है.

पाक जासूस युवती से उसकी फेसबुक पर दोस्ती तब शुरू हुई, जब वह अपने पिता के सपनों को पूरा करने के लिए भारतीय सेना में भर्ती होकर देश की सेवा करने की तैयारी में जुटा हुआ था. स्टूडेंट बताकर आर्मी पर रिसर्च करने की बात कहते हुए उसकी महिला दोस्त ने सुनीत से सेना से जुड़ीं कई अहम जानकारियां हासिल की. बीते दिनों ISI एजेंट आसिफ अली की मेरठ से गिरफ्तारी होने के बाद उसने अपने एकाउंट से ISIS एजेंट प्रेमिका को हटा दिया.

हिमाचल के कांगड़ा, पालमपुर अंद्रेटा निवासी रिटायर्ड सुबेदार देशराज के बेटे सुनीत कुमार का शुरू से कंप्यूटर में मन लगता था. लेकिन उसके पिता चाहते थे कि वह भी देश की सेवा करने में अपना जीवन लगाएं. इसलिए दिसंबर 2012 में उसे सेना में भर्ती करा दिया था. सुनीत सेना में जाने से 3 वर्ष पहले सुनीत ग्रेट नामक अपने फेसबुक एकाउंट पर खुद को पंजाब की बताने वाली पूनम प्रकाश लोरिडा से दोस्ती कर ली.

यहां से शुरु होती है फरेब और गद्दारी की कहानी

पूनम ने सुनीत को बताया कि वह यूएसए में रहती है और वहां पर वह आर्मी पर रिसर्च कर रही है. इससे पहले पूनम सुनीत के करीबी दोस्त मनोहर सिंह की फ्रेंड लिस्ट में थी. सुनीत एक दोस्त की तरह पूनम से वातचीत करता था. सुनीत ने पूनम के कहने पर 9 दिसंबर 2013 को सुनीत ने अपना नाम बदलकर शानू सेन (प्रिंस) के नाम से फर्जी आइडी बना ली.

फर्जी मोहब्बत और फौजी की बर्बादी

सुनीत के फर्जी आईडी बनाते ही उसके मुताबिक उसकी जीत होने लगी. लेकिन वाकया कुछ और था जिसे शायद सुनीत समझ नहीं पाया. फर्जी आईडी पर सुनीत और पूनम रात-रात भर चैटिंग करते थे. फेसबुक पर ही दोनों के बीच रोमांस शुरू हुआ और दोनों में प्यार हो गया. बात शादी करने तक पहुंच गई. पूनम ने शादी की बात पर सुनीत को भरोसा दिलाया कि वह 2015 में पढ़ाई पूरी करने के बाद वापस भारत आकर उससे शादी करेगी.

पूनम ने ले लिया था सेना युनिट का नंबर

एसटीएफ के मुताबिक, पूनम ने सुनीत से बबीना की सेना यूनिट का नंबर लिया. पूनम में आर्मी के बारे में जानकारी लेने के बाद उसका बैंक एकाउंट भी पता किया. यह भी बात सामने आई है कि उसमें सुनीत के लिए रकम भी डाली जाती थी.

आसिफ से दिलाया था लैपटॉप

पहले गूगल व फेसबुक चैटिंग के जरिए पूनम सुनीत से जानकारी लेती रही. जून 2014 में पूनम ने आसिफ अली से एक लैपटॉप सुमित को दिलवाया. सुनीत को पूनम ने अपना परिचित बताया था. उस लैपटॉप का मैक आइडी पाकिस्तान में जाहिद खोलकर सभी जानकारी हासिल कर लेता था.

आसिफ के पास मिली थी लैपटॉप की रशीद

आसिफ की गिरफ्तारी के बाद 18 अगस्त को पूनम ने लैपटॉप को फार्मेट करने के लिए सुनीत को फोन किया था. लेकिन सुनीत ने कहा कि वह लैपटॉप को फार्मेट नहीं कर पाया. जिसे एसटीएफ ने फोरेंसिक जांच के लिए भेज दिया है. आपको बता दें कि आसिफ की गिरफ्तारी के वक्त उसके पास से पाकिस्ताने के एक बैंक का पासबुक, पाक के कई सिम कार्ड, डेटा कार्ड के साथ एक लैपटॉप की रशीद भी मिली थी. यहा वहीं लैपटॉप है.

Web title: All is about Love_1

Keywords: प्‍यार|सेक्‍स| धोखा| लव| लव सेक्‍स और धोखा|प्रेम| प्रेम विवाह| प्रेम क्‍या है| कामवासना और प्रेम| प्रेम एक खूबसूरत एहसास| लव स्‍टोरी| मशहूर व्‍यक्तियों की प्रेम कहानी| प्रेम कहानी| प्रेम कहानियां| सच्‍ची प्रेम कहानी| प्रेम का दृष्टिकोण| इजहार-ए-इश्क| रोमांस| इश्क| प्रेम प्यार मोहब्बत लव| प्रेम का दरिया| love| Romance love| the meaning of love| love words| love stories| Romantic Love stories| love sex aur dhokha| pyar sex aur dhokha|


साभार: http://www.shrinews.com/