संभोग के दौरान जल्‍दी हांफ जाता हूं

सवाल : जब मैं अपनी पत्नी के साथ सहवास करता हूं, तो बहुत जल्दी क्लाइमैक्स पर पहुंच जाता हूं और हांफने भी लगता हूं। क्या किसी बीमारी की वजह से ऐसा होता है?

जवाब द्वारा: सेक्सॉलजिस्टप्रकाश कोठारी : आप जल्दी डिस्चार्ज होने की परेशानी से निपटने के लिए डिपॉक्स्टिन (Dapoxetine) 30 एमजी की दो गोलियां, सहवास के 1 घंटे पहले 1 गिलास पानी के साथ लें, तो जल्दी चरम सीमा पर पहुंचने की समस्या से राहत मिलेगी। इनका असर गोली लेने के 4-5 घंटे तक बना रहता है। अगर आप इस दौरान हांफने लगते हैं अपना ब्लड चेक कराएं। कई बार eosinophils (वाइट ब्लड सेल्स) बढ़ जाने से भी इंसान हांफने लगता है। स्मोकिंग की वजह से फेफड़े पर असर पड़ता है और इस वजह से सांसे फूलने लगती हैं । इसलिए अगर स्मोक करते हैं, तो फौरन छोड़ दें।
नोट: अगर हांफने की वजह से रिलेशन बनाने में समस्या आती है, तो सहवास के पहले अपने डॉक्टर की सलाह से इनहेलर आजमा सकते है। ध्यान रहे, इनहेलर स्टेरॉयड रहित होना चाहिए।


मूल लिंक: http://navbharattimes.indiatimes.com/other/home-and-relations/experts-column/sex-life/started-to-pant-during-intercourse/articleshow/46651921.cms

Web Title: experts advise for sex life-1

Keywords: relations|experts column|sex-life| हांफना| सहवास| क्लाइमैक्स| संभोग| सेक्‍स| experts advise for sex life| started to pant during intercourse

 

लालबहादुर शास्‍त्री, छोटे कद का बड़ा आदम...
लालबहादुर शास्‍त्री, छोटे कद का बड़ा आदमी!

भारत में बहुत कम लोग ऐसे हुए हैं जिन्होंने समाज के बेहद साधारण वर्ग से अपने जीवन की शुरुआत कर देश के सबसे  पड़े पद को प्राप्त किया। चाहे रेल दुर्घटना के बाद उनका रेल मंत्री के पद से इस्तीफ़ा [...]

पद्मश्री एक सहज, सजग और सार्थक संवाद को...
पद्मश्री एक सहज, सजग और सार्थक संवाद को

के. एन. गोविंदाचार्य।जाए तो पत्रकारिता का चेहरा इस बार ज्यादा सहज, सजग और सार्थक संवाद करता हुआ दिख रहा है। यह सच है कि व्यक्ति पुरस्कार से बड़ा या छोटा [...]

AN OPEN LETTER TO THE PRIME MINISTER Nar...
AN OPEN LETTER TO THE PRIME MINISTER NarendraModi about ‪‎BiharElections ‬

Francois Gautier. Dear Mr Prime Minister [...]

लंबे समय तक शारीरिक संबंध बनाने से इनकार...
लंबे समय तक शारीरिक संबंध बनाने से इनकार बन सकता है तलाक का आधारः सुप्रीम कोर्ट

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने व्यवस्था दी है कि लंबे समय तक जीवनसाथी को सेक्स करने की अनुमति नहीं देना मानसिक क्रूरता है और यह तलाक का आधार हो सकता है।

वेतन बढ़ते ही अमेरिकी युवा हो जाते हैं अ...
वेतन बढ़ते ही अमेरिकी युवा हो जाते हैं अविश्‍वासी

वाशिंगटन। अमेरिका में युवाओं के बीच किए गए एक सर्वे में पता चला है कि आय बढ़ने के साथ युवाओं में दूसरों के प्रति भरोसा और सामाजिक संस्थानों में विश्वास कम होता जाता है। आज के युवा अपने पक्षों को [...]

अनुयायी नहीं, आलोचक बनें क्‍योंकि तटस्‍थ...

संदीप देव।डिया के मित्रों से अनुरोध है कि आप किसी के कार्यकर्ता/ अनुयायी की तरह बर्ताव न करें, बल्कि स्‍वतंत्र विचार रखें, जिसमें तथ्‍य भी हों और तर्क भी। मैं जो भी बात [...]

धर्म नहीं, राष्‍ट्र है व्‍यक्ति की सही प...
धर्म नहीं, राष्‍ट्र है व्‍यक्ति की सही पहचान!

संदीप देव।ं (सिर्फ कटटर लिख रहा हूं, इसलिए उदार मुस्लिम इससे खुद को न जोडें) से कहना चाहता हूं कि जहां से इस्‍लाम निकला था, वह देश ही जब धर्म से अधिक राष्‍ट्र [...]

मेरे लिए पंडित मदनमोहन मालवीय और अटलबिहा...
मेरे लिए पंडित मदनमोहन मालवीय और अटलबिहारी वाजपेयी का अर्थ!

संदीप देव। खुशी का दिन है। पंडित मदनमोहन मालवीय जी को भारतरत्‍न मिलना गर्व की बात तो है ही, मुझे इसका गर्व ज्‍यादा है कि जिस काशी हिंदू विश्‍वविद्यालय की उन्‍होंने स्‍थापना की, मैं [...]

दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!...
दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!

आधी आबादी ब्‍यूरो, नई दिल्ली। जंगल बनता जा रहा है। बच्चों के लिए खेलने के लिए जगह नहीं बची है। पार्क भी धीरे-धीरे खत्म होते जा रहे हैं। अभिभावकों की [...]

नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदे...
नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदेश

दिल्‍ली।  कमल इंसटिट्यूट ऑफ हायर एडूकेशन के छात्र और छात्राओ ने 'बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ ' अभियान पर नुक्कड नाटक का आयोजन किया। 22 जनवरी 2015 को प्रधानमंत्री नरेंद्र [...]

असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के ब...
असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के बीच रहती हूं, लेकिन मैंने कभी भारत में भेदभाव महसूस नहीं किया!

सोफिया रंगवाला। पेशे से डॉक्टर हूं। बंगलोर में मेरी एक हाइ एण्ड लेजर स्किन क्लिनिक है। मेरा परिवार कुवैत में रहता है। मैं भी कुवैत में पली बढ़ी हूं लेकिन 18 साल [...]

प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम कर...
प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम करे, सूचना प्रसारण मंत्री को तो क्रिकेट डिप्‍लोमेसी से ही फुर्सत नहीं है!

संदीप देव।उटलुक पत्रिका के एक गलत खबर के कारण जो हंगामा हुआ और सदन को स्‍थगित करना पड़ा, इसका जिम्‍मेवार कौन है? क्‍या मोदी सरकार मीडिया के इस तरह के गैरजिम्‍मेवार और सबूत [...]

Other Articles