जीवन मंत्र

स्ट्रेस मॅनेजमेंट का फंडा

एक मनोवैज्ञानिक स्ट्रेस मॅनेजमेंट के बारे में, अपने छात्रों से मुखातिब था। उसने पानी से भरा एक ग्लास उठाया। सभी ने समझा की अब "आधा खाली या आधा भरा है", यही पुछा और समझाया जाएगा! मगर मनोवैज्ञानिक ने पूछा..''कितना वजन होगा इस ग्लास में भरे पानी का?'' सभी ने 300 से 400 ग्राम तक अंदाज बताया!

Read more...

लंबे कान वाला व्‍यक्ति होता है धनवान!

दीवारों के भी कान होते हैं यह कहावत तो आपने सुनी होगी लेकिन क्या आपने अपने कान पर गौर फरमाया है कि उनकी बनावट भी आपके व्यक्तित्व के राज खोलती है आइए जानते हैं कानों के आकार से आपके व्‍यक्तित्‍व के बारे में...

Read more...

आंखों की गहराई व भौहों की बनावट बता देता है आपका व्‍यक्तित्‍व

नई दिल्‍ली। किसी भी व्यक्ति को देखकर उसकी चारित्रिक विशेषताओं का आकलन किया जा सकता है। चेहरा हमारे व्यक्तित्व और स्वभाव का प्रतिनिधित्व करता है। मन के भीतर जो भाव चलते हैं वही चेहरे पर प्रतिबिंबित होते हैं। आइए जानते है ज्योतिष के आधार पर भौहों और आंखों की बनावट से कैसे की जाती है व्यक्ति की पहचान।

Read more...

अपनी सकारात्‍मक और नकारात्‍मक सोच की जांच कुछ इस तरह करें

राजीव शर्मा, नई दिल्‍ली। कई बार देखने में आता है कि किसी महिला में तमाम खुबियां होने के बावजूद भी जाने-अनजाने में उसमें कुछ ऐसे अवगुण आ जाते हैं जो उसके व्यक्तित्व में चांद के दाग की तरह होते हैं। इसलिए किसी भी आकर्षक व्यक्तित्व वाली महिला बनने के लिए यह जरूरी होता है कि उसके आचार-व्यवहार में कहीं भी कोई नकारात्मकपन न हो, क्योंकि इससे न केवल आपका व्यक्तित्व ही खराब होता है बल्कि घर-परिवार, ऑफिस आदि में भी आपकी इमेज खराब होने लगती है। समाज में अपनी अच्छी छवि बनाए रखने के लिए आपको अभी से अपने व्यक्तित्व का विश्लेषण कर लेना चाहिए। इस काम में आपकी मदद के लिए हम यहां दे रहे हैं एक व्यक्तित्व मीटर। इसके सहारे आप खुद ही पता लगा सकती हैं कि आपमें कहां-कितनी कमी है।

Read more...

लोमड़ी और कौआ

एक  कौआ को मांस का एक टुकड़ा कहीं से मिल गया। अपनी चोंच से पकड़े हुए वह एक पेड़ की ओर उड़ चला और पेड़ की डाली पर बैठ गया। एक लोमड़ी ने जैसे ही कौए की चौंच में मांस का टुकड़ा देखा, उसकी लालसा उसे पाने की हुई। लोमड़ी ने सिर उठा कर कौए की तरफ देखा और कहा, 'मित्र, तुम कितने सुंदर हो। तुम्हारे पंख कितने अदभुत और सुंदर हैं। क्या तुम्हारी आवाज़ भी वैसे ही मीठी है जैसे सुंदर तुम दिखते हो? यदि ऐसा है तो तुम पक्षियों के राजा हो।'

Read more...

भारत की सेक्‍यूलर प्रजाति!...
भारत की सेक्‍यूलर प्रजाति!

संदीप देव।े लिए सेक्‍यूलर नामक प्रजाति सबसे अधिक जिम्‍मेवार है! अमेरिका की एक बहुत बड़ी वेबसाइट है, जो चर्च मिशनरी को सपोर्ट करता है, नाम है

महिला दिवस की औपचारिकताएं छोडि़ए, पहले उ...
महिला दिवस की औपचारिकताएं छोडि़ए, पहले उन्‍हें न्‍याय दिलाने के लिए कदम उठाइए!

संदीप देव। करने वाला इंसान हूं और हर हाल में कानून का पालन करता हूं। लेकिन जिस तरह से नागालैंड के दीमापुर में घटनाएं हुई वह कानून नहीं, समाज के अंदर का सवाल है। फास्‍ट [...]

ब्राहमणों की हठधर्मिता ने पूरे पूर्वी बं...
ब्राहमणों की हठधर्मिता ने पूरे पूर्वी बंगाल (बंग्‍लादेश) को मुसलमान बना डाला था!

संदीप देव।िस काटजू की मूर्खता (खुद कह चुके हैं 90 फीसदी भारतीय मूर्ख हैं, इसलिए मैं उन्‍हें 10 फीसदी में गिनने की मूर्खता नहीं करूंगा) देखिए कि वह बिना किसी तथ्‍यात्‍मक [...]

आधुनिक भारत में धर्मांतरण और घर वापसी का...
आधुनिक भारत में धर्मांतरण और घर वापसी का सच!

संदीप देव।अशोक सिंघल ने जब मुस्लिम और ईसाई पर कुछ कहा तो मीडिया बवाल मचा रहा है, लेकिन बाबा साहब भीमराव अंबेडकर ने इन दोनों ही धर्म को विदेश से आयातित धर्म कहा था और [...]

राष्‍ट्रीय नायक नरेंद्र मोदी की राष्‍ट्र...
राष्‍ट्रीय नायक नरेंद्र मोदी की राष्‍ट्रनीति!

संदीप देव । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सत्‍तासीन हुए एक महीना हो चुका है। बहुत कुछ 'मोदी सरकार' का विजन और रोड मैप स्‍पष्‍ट हो चुका है और अभी बहुत कुछ स्‍पष्‍ट होना बांकी है। लेकिन एक बात [...]

स्‍वामी रामदेव के खिलाफ कांग्रेस की हर स...
स्‍वामी रामदेव के खिलाफ कांग्रेस की हर साजिश का अब हो रहा है पर्दाफाश!

संदीप देव।ष्‍टाचार और कालाधन के खिलाफ स्‍वामी रामदेव के नेतृत्‍व में चल रहे आंदोलन को रामलीला मैदान में आधी रात को कुचलने के बाद, तत्‍कालीन यूपीए सरकार और कांग्रेस [...]

भारत में कम हुआ HIV का प्रकोप, एड्स से ह...
भारत में कम हुआ HIV का प्रकोप, एड्स से होने वाली मौतों में 41 फीसदी की कमी

भाषा, नई दिल्ली। कि भारत वर्ष 2000 और 2014 के बीच एचआईवी संक्रमण के नए मामलों में 20 प्रतिशत से ज्यादा की कमी लाकर [...]

भगवा अग्नि और सूरज की तरह खुद को जलाकर द...
भगवा अग्नि और सूरज की तरह खुद को जलाकर दूसरों के जीवन में रौशनी बिखेरने का प्रतीक है!

संदीप देव।हर भारतीय जीवन का आधार मान लें तो तिरंगे में तो भगवा रंग भी है। भगवा रंग अग्नि का रंग है, भगवा रंग सूरज की किरणों का रंग है-यही कारण है कि [...]

दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!...
दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!

आधी आबादी ब्‍यूरो, नई दिल्ली। जंगल बनता जा रहा है। बच्चों के लिए खेलने के लिए जगह नहीं बची है। पार्क भी धीरे-धीरे खत्म होते जा रहे हैं। अभिभावकों की [...]

नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदे...
नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदेश

दिल्‍ली।  कमल इंसटिट्यूट ऑफ हायर एडूकेशन के छात्र और छात्राओ ने 'बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ ' अभियान पर नुक्कड नाटक का आयोजन किया। 22 जनवरी 2015 को प्रधानमंत्री नरेंद्र [...]

असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के ब...
असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के बीच रहती हूं, लेकिन मैंने कभी भारत में भेदभाव महसूस नहीं किया!

सोफिया रंगवाला। पेशे से डॉक्टर हूं। बंगलोर में मेरी एक हाइ एण्ड लेजर स्किन क्लिनिक है। मेरा परिवार कुवैत में रहता है। मैं भी कुवैत में पली बढ़ी हूं लेकिन 18 साल [...]

प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम कर...
प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम करे, सूचना प्रसारण मंत्री को तो क्रिकेट डिप्‍लोमेसी से ही फुर्सत नहीं है!

संदीप देव।उटलुक पत्रिका के एक गलत खबर के कारण जो हंगामा हुआ और सदन को स्‍थगित करना पड़ा, इसका जिम्‍मेवार कौन है? क्‍या मोदी सरकार मीडिया के इस तरह के गैरजिम्‍मेवार और सबूत [...]

Other Articles