शिक्षा

नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदेश

दिल्‍ली। मोहन गार्डन स्थित कमल इंसटिट्यूट ऑफ हायर एडूकेशन के छात्र और छात्राओ ने 'बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ ' अभियान पर नुक्कड नाटक का आयोजन किया। 22 जनवरी 2015 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू किए गए 'बेटी बचाओ-बेटी पढाओ' अभियान महिलाओं एवं बाल विकास मंत्रालय ,स्वास्थ्य मंत्रालय, परिवार कल्याण मंत्रालय एवं मानव संसाधन विकास की संयुक्त पहल है। इसके अंतर्गत बालिकाओं को संरक्षण और सशक्त करने के लिए बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का संदेश समाज में दिया गया है।  

Read more...

स्‍वामी रामदेव का अगला लक्ष्य, देश में पुन: वैदिक शिक्षा की स्थापना करना है

संदीप देव। 5 जनवरी 2009 को भ्रष्टाचार से मुक्ति, काला धन की वापसी, स्वदेशी को सम्मान और संपूर्ण व्यवस्था परिवर्तन को लेकर स्वामी रामदेव ने ‘भारत स्वाभिमान’ आंदोलन की शुरुआत की थी। भारत स्वाभिमान आंदोलन का मूल दर्शन ‘अध्यात्मिक न्यायवाद’ पर आधारित है। अर्थात समाज के आखिरी छोर पर स्थित व्यक्ति की संपूर्ण भौतिक एवं अध्यात्मिक उन्नति ही भारत स्वाभिमान आंदोलन का अंतिम लक्ष्य है।

Read more...

नालंदा विश्‍विद्यालय में सात विषयों की होगी पढ़ाई

नालंदा अंतरराष्ट्रीय विश्वविद्यालय की मूल भावना प्राचीन महाविहार की तर्ज पर होगी। तत्कालीन महाविहार में बौद्ध धर्म के महायान और हीनयान सम्प्रदायों के धार्मिक ग्रंथों के अलावा हेतुविद्या (न्याय), शब्द विद्या (व्याकरण), चिकित्सा विद्या और वेदों की पढ़ाई होती थी। नए विश्वविद्यालय में सात विषयों की पढ़ाई होगी।

Read more...

ममता, सृजन और संयम का गुण आपको बना सकता है नर्सरी टीचर

बच्चों की दुनिया को समझना कोई खेल नहीं है। आमतौर पर लोगों को लगता है कि बच्चों को सम्भालना, उन्हें पढ़ाना सिखाना आसान काम होता है। लेकिन उनके मूड को समझकर उनके साथ चलना इतना आसान नहीं है। विशेष तौर पर घर से नए नए स्कूल जाने वाले बच्चों को अगर स्कूल में उनके घर जैसा प्यार और अपनापन न मिले तो वह पलभर भी वहां नहीं टिकेंगे। लेकिन इस काम को बेहद अपनेपन से अंजाम देती हैं 'नर्सरी टीचर्स'। नर्सरी टीचर वो होती हैं जो स्‍कूल में बच्‍चों को मां की कमी महसूस नहीं होने देतीं । यदि आपमें मां की ममता, सृजनात्‍मकता और संयम का गुण है तो आप एक बेहतरीन नर्सरी टीचर गुण रखती हैं और इस क्षेत्र में अपना करियर बना सकती हैं।

Read more...

विदेशी भाषा, सीखने के रोमांच के साथ करियर का बेहतरीन विकल्‍प

विदेशी भाषा के बलबूते पर भी आप अपने करियर को अलग मोड़ दे सकते हैं । विदेशी भाषा सीखने का चलन आजकल जोरों पर हैं और बात अगर इसको सीखकर भविष्य की करें तो एमएनसी कम्पनी से लेकर एम्बेसी, अनुवादक, होटल, लैंग्वेज एक्सपर्ट आदि के रूप में कार्यरत हो सकते हैं।

12वीं के बाद Foreign language courses कर आप अपने करियर को बुलन्दियों पर पहुंचा सकते हैं । आजकल इस कोर्स का चलन जोरों पर है । ऐसे बहुत से छात्र हैं जो 12वीं के बाद इसी में डिग्री लेने की सोचते हैं या फिर स्नातक के साथ-साथ भी आप इसे पार्ट टाइम में सीख सकते हैं।

Read more...

साम्‍यवादियों के जुल्म का परिणाम था हिटल...
साम्‍यवादियों के जुल्म का परिणाम था हिटलर!

शंभू चौधरी। लोकसभा के चुनाव की तरफ बढ़ता जा रहा है, वैसे-वैसे सत्ताधरी दल अभी से ही विपक्ष की मुद्रा में दिखाई देने लगी है। कोई हिटलरवाद या फासिस्टवाद की तुलना श्री नरेन्द्र मोदी [...]

अनुयायी नहीं, आलोचक बनें क्‍योंकि तटस्‍थ...

संदीप देव।डिया के मित्रों से अनुरोध है कि आप किसी के कार्यकर्ता/ अनुयायी की तरह बर्ताव न करें, बल्कि स्‍वतंत्र विचार रखें, जिसमें तथ्‍य भी हों और तर्क भी। मैं जो भी बात [...]

राहुल गांधी ये तो बताएं कि दलित मसीहा अं...
राहुल गांधी ये तो बताएं कि दलित मसीहा अंबेडकर के नाम पर देश में एक भी कल्‍याणकारी योजना क्‍यों नहीं है?

संदीप देव। दलित उत्थान के लिए 'जूपिटर इस्केप वलोसिटी' अवधारणा देने वाले राहुल गांधी कम से कम ये तो बताएं कि 60 साल में एक भी सरकारी योजना दलितों के मसीहा बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर के [...]

तथ्‍य न मेरे होते हैं और न तुम्‍हारे...।...

संदीप देव।ॉसोपी को न समझने वाले मुझ पर लगातार हमलावर हैं। वो समझ नहीं पा रहे हैं कि मैं किस विचारधारा का हूं, इसलिए पूछते रहते हैं कि आपने पहले तो फलां व्‍यक्ति की ओलाचना की [...]

अब पति-पत्‍नी के साथ घर में ही रह सकेगी ...
अब पति-पत्‍नी के साथ घर में ही रह सकेगी ‘वो’ भी!

खंडवा। लोक अदालत से आए एक अनोखे फैसले के अनुसार ‘पति और पत्नी’ के साथ अब ‘वो’ भी घर में रह सकेगी. लोक अदालत के शनिवार को आए इस फैसले के तहत धार्मिक नगरी ओंकारेश्वर के मांधाता निवासी पति [...]

दुनिया के ऐसे क्रूर शासक, जिन्‍होने आम ज...
दुनिया के ऐसे क्रूर शासक, जिन्‍होने आम जनता को गाजर-मूली की तरह काटा!

नई दिल्‍ली। शासक और नेता रहे हैं, जिनके इशारों पर खूनों की नदियां बहा दी गईं। कुछ पुराने जमाने के शासक स्वयं ही बेहद सधे योद्धा थे, जिनकी तलवारों के सामने कोई टिक नहीं [...]

समान अपराध संहिता से इस्‍लाम नष्‍ट नहीं ...

संदीप देव।म तुष्टिकरण करने वाली एक पार्टी दम तोड़ती है तो दूसरी पार्टी तत्‍काल खड़ी हो जाती है। भारत का अधिकांश मुसलमान बिना तुष्टिकरण के जी ही नहीं सकता है। उसे देश व समाज में समानता [...]

ईसा मसीह जब शरीर में वापस आ सकते हैं तो ...
ईसा मसीह जब शरीर में वापस आ सकते हैं तो आशुतोष महाराज क्‍यों नहीं?

संदीप देव। 28 जनवरी 2014 को पंजाब के नूर महल आश्रम के कई साधकों से उनके पूज्‍य गुरुदेव आशुतोष महाराज जी अलग-अलग मिले और उन्‍हें कुछ निर्देश दिया। उन्‍होंने दिल्‍ली सहित अपने अनेक [...]

दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!...
दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!

आधी आबादी ब्‍यूरो, नई दिल्ली। जंगल बनता जा रहा है। बच्चों के लिए खेलने के लिए जगह नहीं बची है। पार्क भी धीरे-धीरे खत्म होते जा रहे हैं। अभिभावकों की [...]

नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदे...
नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदेश

दिल्‍ली।  कमल इंसटिट्यूट ऑफ हायर एडूकेशन के छात्र और छात्राओ ने 'बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ ' अभियान पर नुक्कड नाटक का आयोजन किया। 22 जनवरी 2015 को प्रधानमंत्री नरेंद्र [...]

असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के ब...
असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के बीच रहती हूं, लेकिन मैंने कभी भारत में भेदभाव महसूस नहीं किया!

सोफिया रंगवाला। पेशे से डॉक्टर हूं। बंगलोर में मेरी एक हाइ एण्ड लेजर स्किन क्लिनिक है। मेरा परिवार कुवैत में रहता है। मैं भी कुवैत में पली बढ़ी हूं लेकिन 18 साल [...]

प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम कर...
प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम करे, सूचना प्रसारण मंत्री को तो क्रिकेट डिप्‍लोमेसी से ही फुर्सत नहीं है!

संदीप देव।उटलुक पत्रिका के एक गलत खबर के कारण जो हंगामा हुआ और सदन को स्‍थगित करना पड़ा, इसका जिम्‍मेवार कौन है? क्‍या मोदी सरकार मीडिया के इस तरह के गैरजिम्‍मेवार और सबूत [...]

Other Articles