शख्सियत

मनु शर्मा व रामबहादुर राय, जिनके गले से लगकर सम्‍मानित हुआ 'पद्मश्री'

संदीप देव। आज मेरे लिए दोहरी खुशी का दिन है। मेरे दो-दो आदर्श व आदरणीय साहित्‍यकार-पत्रकार को आज पद्म पुरस्‍कार मिल रहा है। इनमें एक हैं मनु शर्मा और दूसरे हैं रामबहादुर राय। सच पूछिए तो ये दोनों ऐसी शख्सियत हैं, जो किसी भी पुरस्‍कार से कहीं ऊपर हैं। सरकार ने इन्‍हें पद्म पुरस्‍कार देकर पद्म पुरस्‍कार की ही गरिमा बढाई है। भारतीय साहित्‍य और पत्रकारिता को जो योगदान इन दो विभूतियों ने दिया है, वह किसी पुरस्‍कार की मोहताज न कभी थी और न ही कभी रहेगी।

Read more...

पद्मश्री एक सहज, सजग और सार्थक संवाद को

के. एन. गोविंदाचार्य। पद्म पुरस्कारों के आईने में देखा जाए तो पत्रकारिता का चेहरा इस बार ज्यादा सहज, सजग और सार्थक संवाद करता हुआ दिख रहा है। यह सच है कि व्यक्ति पुरस्कार से बड़ा या छोटा नहीं होता, हां व्यक्तित्व प्रभावी हो तो पुरस्कार की शोभा बढ़ जाती है। वरिष्ठ पत्रकार राम बहादुर राय को पद्मश्री से नवाजने से पद्मश्री की प्रासंगिकता और शोभा दोनों बढ़ गई। ऐसा नहीं कहता कि पद्मश्री रायसाहब के लिए मायने नहीं रखता। हां इतना जरूर है कि यह उनके लिए मील के एक पत्थर को पार कर सफर में आगे बढ़ जाने जैसा है। क्योंकि खुद राम बहादुर राय एक जीवंत मील के पत्थर हैं।

Read more...

राजनीति में अलग इतिहास बनाना चाहता हूं : मनोज तिवारी

गायन से करियर की शुरुआत करने वाले मनोज भोजपुरी सिनेमा का जानामाना चेहरा हैं। उन्होंने अनुराग कश्यप की सफल फिल्म ‘गैंग्स आफ वासेपुर’ के ‘जिया तू’ गाने में भी आवाज दी है। मनोज ने इससे सहमति जताई कि फिल्म और गायन से लोगों के बीच बनी उनकी छवि से उन्हें फायदा हुआ है।

Read more...

धर्मांतरण रोकने के लिए जिन्‍होंने शस्‍त्...
धर्मांतरण रोकने के लिए जिन्‍होंने शस्‍त्र उठाया, सूअर पाला, हिंदुओं ने उन्‍हें ही अछूत बना डाला!

संदीप देव।ठता हूं तो काफी तकलीफों से घिर जाता हूं। आखिर किस तरह से अंग्रेज व वामपंथी-कांग्रेसी इतिहासकारों ने हमारे गर्व को कुचला है और हमें अपने ही भाईयों से जुदा कर दिया है, [...]

भारत में कम हुआ HIV का प्रकोप, एड्स से ह...
भारत में कम हुआ HIV का प्रकोप, एड्स से होने वाली मौतों में 41 फीसदी की कमी

भाषा, नई दिल्ली। कि भारत वर्ष 2000 और 2014 के बीच एचआईवी संक्रमण के नए मामलों में 20 प्रतिशत से ज्यादा की कमी लाकर [...]

भारत एक धर्मभीरू देश है जो कट्टरता को भी...
भारत एक धर्मभीरू देश है जो कट्टरता को भी जायज ठहराता है!

संदीप देव। पत्रकारों व कार्टूनिस्‍टों की हत्‍या के बाद दुनिया भर के पत्रकारों और बुद्धिजीवियों ने जहां इस्‍लामी कटटरता को अपनी कलम से जबरदस्‍त जवाब दिया है, वहीं भारत दुनिया का अकेला मुल्‍क है जहां एक [...]

क्‍या आप जानते हैं कि आपकी पत्‍नी या गर्...
क्‍या आप जानते हैं कि आपकी पत्‍नी या गर्लफ्रेंड आपके साथ सेक्‍स क्‍यों करती है

महिलाएं पुरुषों के साथ सेक्स सिर्फ इसलिए करती हैं ताकि उनकी शादीशुदा जिंदगी में शांति बनी रहे , या वह बिना वजह के सिरदर्द से बचना चाहती हैं। महिलाओं की लिस्ट में रोमैंस और पेशन की जगह काफी पीछे [...]

लालबहादुर शास्‍त्री, छोटे कद का बड़ा आदम...
लालबहादुर शास्‍त्री, छोटे कद का बड़ा आदमी!

भारत में बहुत कम लोग ऐसे हुए हैं जिन्होंने समाज के बेहद साधारण वर्ग से अपने जीवन की शुरुआत कर देश के सबसे  पड़े पद को प्राप्त किया। चाहे रेल दुर्घटना के बाद उनका रेल मंत्री के पद से इस्तीफ़ा [...]

कश्‍मीर से 370 को हटाने का एक बार प्रयास...
कश्‍मीर से 370 को हटाने का एक बार प्रयास वहां के मुस्लिम मुख्‍यमंत्री ही कर चुके हैं

संदीप देव। पूर्व प्रधानमंत्री (1964 to 1965) एवं मुख्‍यमंत्री (1965-71) गुलाम मोहम्‍मद सादिक अकेले शख्‍स हैं, [...]

महिला दिवस की औपचारिकताएं छोडि़ए, पहले उ...
महिला दिवस की औपचारिकताएं छोडि़ए, पहले उन्‍हें न्‍याय दिलाने के लिए कदम उठाइए!

संदीप देव। करने वाला इंसान हूं और हर हाल में कानून का पालन करता हूं। लेकिन जिस तरह से नागालैंड के दीमापुर में घटनाएं हुई वह कानून नहीं, समाज के अंदर का सवाल है। फास्‍ट [...]

जब कल रात मैं एक कांग्रेसी निर्देशक की अ...
जब कल रात मैं एक कांग्रेसी निर्देशक की असहिष्‍णुता का शिकार हुआ!

‎संदीपदेव‬।्‍णुता की चर्चा चल रही है। हां, यह सच है कि देश में असहिष्‍णुता बढ़ी है, लेकिन इस असहिष्‍णुता को देखना है तो आप कांग्रेसी और वामपंथी विचारकों, पत्रकारों, कलाकारों, [...]

दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!...
दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!

आधी आबादी ब्‍यूरो, नई दिल्ली। जंगल बनता जा रहा है। बच्चों के लिए खेलने के लिए जगह नहीं बची है। पार्क भी धीरे-धीरे खत्म होते जा रहे हैं। अभिभावकों की [...]

नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदे...
नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदेश

दिल्‍ली।  कमल इंसटिट्यूट ऑफ हायर एडूकेशन के छात्र और छात्राओ ने 'बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ ' अभियान पर नुक्कड नाटक का आयोजन किया। 22 जनवरी 2015 को प्रधानमंत्री नरेंद्र [...]

असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के ब...
असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के बीच रहती हूं, लेकिन मैंने कभी भारत में भेदभाव महसूस नहीं किया!

सोफिया रंगवाला। पेशे से डॉक्टर हूं। बंगलोर में मेरी एक हाइ एण्ड लेजर स्किन क्लिनिक है। मेरा परिवार कुवैत में रहता है। मैं भी कुवैत में पली बढ़ी हूं लेकिन 18 साल [...]

प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम कर...
प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम करे, सूचना प्रसारण मंत्री को तो क्रिकेट डिप्‍लोमेसी से ही फुर्सत नहीं है!

संदीप देव।उटलुक पत्रिका के एक गलत खबर के कारण जो हंगामा हुआ और सदन को स्‍थगित करना पड़ा, इसका जिम्‍मेवार कौन है? क्‍या मोदी सरकार मीडिया के इस तरह के गैरजिम्‍मेवार और सबूत [...]

Other Articles