ज्‍वेलरी डिजाइनिंग में बनाएं अपना भविष्‍य

  • Print

फैशन ने आज ग्लोबल स्तर पर लोगों के जीवन को पूरी तरह बदल दिया है। फैशन और स्टाइल की आज जितनी भी परिभाषांए मौजूद हैं,वे सब आज की पीढ़ी को रहन-सहन और पहनने-ओढने के नए-नए ज्ञान देती नज़र आती हैं। यहां अगर हम बदलते परिधानो की बात करें, तो पहनावे में चार चान्द लगाने वाले आर्कषक आभूषणों की चर्चा करना भी आवश्यक हो जाता है। किसी शादी में जाने का प्रोग्राम हो या किसी पार्टी में तो आभूषणों की अधिक परवाह होती है। मुद्दा सिर्फ विशेष आभूषण और एक्सेसरीज़ रखने का ही नहीं अपितु अपने पसन्दीदा आभूषणों में एक उज्ज्वल कॅरिअर तलाशने का है।

60 प्रतिशत सालाना से भी अधिक की वृद्धि वाली लगभग 75,000 करोड़ रुपए की भारतीय ज्वैलरी से जुड़ने का सुनहरा अवसर आपके सामने है। वर्तमान परिप्रेक्ष्य में अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर सोने के सबसे अधिक आयात और निर्यात के साथ भारत विश्व का सबसे बड़ा सोने का उपभोक्ता है। सोने की इस लगातार बढ़ती मांग को देखते हुए देश में तमाम इंस्टिट्यूट में ज्वैलरी डिजाइनिंग और जैमोलॉजी जैसे कोर्सेज शुरू किए गए हैं जिनमें छात्र अपना कॅरिअर बना सकते हैं। छात्रों को एक नई दिशा और कॅरिअर बनाने का एक नया आयाम देने के आलावा ये कोर्सेज हमें आधुनिक आभूषणों से रू-ब-रू भी कराते रहते हैं। इस कोर्स के अन्तर्गत ज्वैलरी मैन्यूफैक्चरिंग यूनिट से जुड़ी हर आधारभूत जानकारी छात्र को दी जाती है।

एक लचीले कॅरिअर विकल्प के तौर पर,जिसमें आगे वृद्धि ही वृद्धि है,ज्वैलरी डिजाइनिंग लड़कियों के बीच काफी लोकप्रिय हो रहा है। इस क्षेत्र से जुड़े कई डिप्लोमा, सिर्टिफकेट और एडवांस डिप्लोमा कोर्सेज हैं। कुछ नामी इंस्टिट्यूट में तो कंप्यूटर की सहायता से भी ज्वैलरी डिजाइनिंग की शिक्षा दी जाती है। कुछ कोर्स के लिए कम से कम स्नातक होना आवश्यक है और कुछ शॉर्ट टर्म या कम अविध वाले कोर्स  सीधे बारहवीं के बाद भी किए जा सकते हैं। यदि आप क्रिएटिव हैं, कलर मैचिंग की परख रखते हैं, फैशन और लेटेस्ट स्टाइल को समझते और जानते हैं, और आधुनिक टेक्नोलॉजी व मशीनो के बीच काम कर सकते हैं, तो आपका स्वागत है।

आइए नज़र डालते हैं देश के कुछ प्रमुख इंस्टिट्यूट पर जो इस क्षेत्र में शिखर तक पहुंचा सकते हैं-
1.    जैमोलॉजी इंस्टिट्यूट ऑफ इण्डिया, मुम्बई
2.    सेंट जेवियर्स कॉलेज, मुम्बई
3.    जैमस्टोन्स आर्टिसन्स टे[निंग स्कूल, जयपुर
4.    इण्डियन जैमोलॉजी इंस्टिट्यूट,नई दिल्ली
5.    इण्डियन डायमण्ड इंस्टिट्यूट
6.    जैम एण्ड ज्वैलरी एक्सपोर्ट प्रमोशन कांउसिल, जयपुर
7.    नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी, नई दिल्ली
8.    ज्वैलरी डिज़ाइन एण्ड टेक्नोलॉजी इंस्टिट्यूट, नोएडा

चलते चलते एक सरसरी निगाह कुछ प्रमुख  कोर्सेज पर भी डाल ली जाए-

*जैम आइडेन्टि्फिकेशन कोर्स-3 महीने
* डायमण्ड ग्रेडिंग कोर्स-2 महीने
* डिग्री इन ज्वैलरी डिज़ाइन एण्ड जैमोलॉजी -3 साल
* डिप्लोमा इन ज्वैलरी डिज़ाइन एण्ड जैमोलॉजी -2 साल
* सिर्टिफकेट इन ज्वैलरी डिज़ाइन एण्ड जैमोलॉजी -1साल
* शार्ट टर्म सिर्टिफकेट  कोर्सेज इन जैमोलॉजी, पॉलिशिग,मैनफैक्चरिंग आदि

उपरोक्त इंस्टिट्यूट और कोर्स के अलावा भी तमाम और स्थानों से आप कई अन्य कोर्स कर सकते हैं। देश में तेज़ी से उभरते तमाम क्षेत्रों में से एक है यह ज्वैलरी डिजाइनिंग कोर्स। लड़कियां और महिलाएं इस दिशा में गहराई से सोचें। आखिर गहने ही तो हर स्त्री की शान होते हैं,और यह शान यदि एक आय स्त्रोत भी बन जाए तो क्या कहने।

दीपिका शर्मा