सशक्‍त महिला

विश्व में नंबर एक रैंकिंग हासिल करने वाली पहली भारतीय महिला बैडमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल

साइना नेहवाल दुनिया की नंबर वन रैंकिंग हासिल करने वाली पहली भारतीय महिला बैडमिंटन खिलाड़ी बन गई। उन्‍होंने यह खितान स्पेन की कैरोलिना मारिन को इंडिया ओपन सुपर सीरिज के सेमीफाइनल में हरा कर हासिल किया। नेहवाल ने इंडिया ओपन सुपर सीरीज बैडमिंटन टूर्नामेंट में चैंपियन बनने का अपना ख्वाब भी रविवार को खिताबी मुकाबले में थाईलैंड की रत्चानोक इंतानोन को लगातार गेमों में 21-16, 21-14 से हराकर पूरा कर लिया।

Read more...

चीन की प्रथम महिला लोकगायिका होने के साथ-साथ सैनिक भी रह चुकी हैं!

चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग अपनी पत्नी पिंग लियुआन के साथ भारत के तीन दिवसीय दौरे पर आए हुए हैं. 'चीन की प्रथम महिला' लियुआन के बारे में इस समय खूब चर्चा हो रही है. आइए डालते हैं एक नजर लियुआन के जीवन पर...

Read more...

एक महिला की सफल माउंटेन बाइकर बनने की कहानी

प्रियंका दुबे मेहता। एक सामान्य धारणा है कि महिलाएं अच्छे से कार नहीं चला सकतीं। बाइक चलाना उनके बस की बात नहीं है। ऐसे में महिलाओं की ड्राइविंग स्किल पर कई चुटकुले भी बने हैं। लोग महिलाओं की ड्राइविंग कौशल का मजाक उड़ाते हैं व उन्हें खराब ड्राइवर माना जाता है। इस अवधारणा को बदला है गुड़गांव सेक्टर 57 निवासी वामिनी सेठी ने। वामिनी न केवल कार रैली में विजेता रहती हैं, बल्कि वे बाइकिंग और साइकलिंग भी करती हैं। आज वे शहर के लिए इस क्षेत्र में एक जाना माना नाम हैं।

Read more...

मंगल मिशन से सुर्खियों में आई 'इसरो गर्ल' राजदीप ने कठिनाई में जीया है जीवन!

कोटा। कभी गांव की पगडंडियों से होते हुए स्कूल जाना पड़ता था। ढेरों दुश्वारियों का सामना करते हुए स्कूल की पढ़ाई पूरी की। मां-बाप के पास इतने पैसे नहीं थे कि टू-व्हीलर दिला सकें। लेकिन आज उनकी लाडली राजदीप कौर भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के सबसे बड़े अंतरिक्ष मिशन (मिशन मंगल) में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है। उसे मंगल से आने वाली तस्वीरों की प्रॉसेसिंग की जिम्मेदारी सौंपी गई है। बूंदी के नैनवा की रहने वाली राजदीप को इसके लिए इसरो के अहमदाबाद सेंटर से बेंगलुरु बुलाया गया है। उसका सिलेक्शन 5 साल पहले इसरो में बतौर जूनियर साइंटिस्ट हुआ था।

Read more...

महिलाओं को कभी नहीं मिल सकती है पूरी खुशी: इंदिरा नूयी

न्यूयॉर्क। विश्व की सबसे शक्तिशाली महिलाओं में शुमार पेप्सीको की भारतीय मूल की मुख्य कार्यकारी इंदिरा नूयी ने स्वीकार किया कि ऑफिस के काम और घर के जीवन के बीच संतुलन बिठाना मुश्किल हो गया है और महिलाओं को सब कुछ नहीं मिल सकता।

Read more...