निर्देशन के क्षेत्र में फिर से वापसी करेंगे आदित्य चोपड़ा

बॉलीवुड के जानेमाने फिल्मकार आदित्य चोपड़ा सात साल बाद फिल्म निर्देशन के क्षेत्र में वापसी करने जा रहे है. आदित्य ने वर्ष 2008 में प्रदर्शित फिल्म 'रब ने बना दी जोड़ी' का निर्देशन किया था .इसके बाद आदित्य सात साल बाद फिल्म 'बेफिक्रे' के निर्देशन से वापसी कर रहे हैं. आदित्य ने पिता दिवंगत फिल्मकार यश चोपड़ा की 83वीं जयंती पर फिल्म का नाम बताया. आदित्य ने इसे अपने करियर की सबसे रिस्की फिल्म करार दिया है.

 

आदित्य ने ई-लेटर के जरिए इस फिल्म का ऐलान किया. आदित्य ने लिखा ,‘अपने पिता के आशीर्वाद से मैं उनकी 83वीं जयंती पर सात साल बाद अपने अगले प्रोजेक्ट का ऐलान कर रहा हूं.

उन्होंने यह भी बताया कि उनके पिता हमेशा यश राज फिल्म्स की बड़ी फिल्मों का निर्देशन चाहते थे और यह नई फिल्म वैसी नहीं है.वह यह फिल्म इसलिए बनाना चाहते हैं, क्योंकि वह खुद को बोझ मुक्त करना चाहते हैं.

Web Title: aditya-chopra-again-in-direction-with-his-befikre-movie

Keywords: entertainment news in hindi| bollywod news in hindi| yash Raj Films upcoming-movies

करोड़ों की नौकरी छोड़ कर बन गया किसान! ...
करोड़ों की नौकरी छोड़ कर बन गया किसान!

खंडवा। कोलकाता के दीपक गोयल के सिर पर खेती करने का जुनून ऐसा चढ़ा कि वे सालाना डेढ़ करोड़ रुपए पैकेज की नौकरी छोड़ किसान बन गए। श्री गोयल ने खंडवा के बंजारी गांव के पास 100 [...]

आजाद भारत का इतिहास राजनैतिक हत्‍याओं का...
आजाद भारत का इतिहास राजनैतिक हत्‍याओं का इतिहास है, जिसमें सभी दल शामिल हैं!

संदीप देव।ना पढ़ता जा रहा हूं, मेरी तकलीफ उतना ही बढ़ती जा रही है। मैंने आप सभी को '' अपना वास्‍तविक इतिहास जानो'' मुहिम का हिस्‍सा बनाना चाहा था, लेकिन [...]

हिंदुओं को बदनाम करने के लिए राष्‍ट्रीय-...
हिंदुओं को बदनाम करने के लिए राष्‍ट्रीय-अंतरराष्‍ट्रीय मीडिया द्वारा चलाया जा रहा है संगठित अभियान!

संदीप देव‬।्च के नन से रेप करने वाले आरोपी बंग्‍लादेशी मुसलमान निकले, दिल्‍ली के चर्च पर हमले की जांच में केरल के कांग्रेसी विधायक का नाम सामने आया, नवी मुंबई में चर्च पर हमले [...]

डाबर लाएगा देसी हाजमोला ड्रिंक्स...
डाबर लाएगा देसी हाजमोला ड्रिंक्स

जॉन सरकार, नई दिल्ली/टाइम्स न्यूज नेटवर्क/प्रॉडक्शन करने वाली भारतीय एफएमसीजी डाबर ने कन्यूजमर के रुझान को पहचान कर यह कदम उठाने की योजना [...]

धर्म नहीं, राष्‍ट्र है व्‍यक्ति की सही प...
धर्म नहीं, राष्‍ट्र है व्‍यक्ति की सही पहचान!

संदीप देव।ं (सिर्फ कटटर लिख रहा हूं, इसलिए उदार मुस्लिम इससे खुद को न जोडें) से कहना चाहता हूं कि जहां से इस्‍लाम निकला था, वह देश ही जब धर्म से अधिक राष्‍ट्र [...]

नरेंद्र मोदी का दृष्टिकोण पूर्ववर्ती अन्...
नरेंद्र मोदी का दृष्टिकोण पूर्ववर्ती अन्‍य प्रधानमंत्रियों से कोसों आगे है!

संदीप देव। मैंने अपने होश में जितने भी प्रधानमंत्री देखे हैं, उसमें नरेंद्र मोदी का विजन उन सभी से कोसों आगे दिखता है। अपने शपथ ग्रहण समारोह में दक्षेस देशों के राष्‍ट्राध्‍यक्षों को बुलाकर नरेंद्र मोदी ने एक ही [...]

राष्‍ट्रवाद की उपजाऊ जमीन बनाने की कोशिश...
राष्‍ट्रवाद की उपजाऊ जमीन बनाने की कोशिश!

संदीप देव। आज मैं रोहतक गया था। B.ED से लेकर GNM, ANM, MBA, Jounalism, G [...]

धर्म मनुष्‍य को इंसान बनाता है, न कि रोब...
धर्म मनुष्‍य को इंसान बनाता है, न कि रोबोट!

संदीप देव।‍यों है, खासकर इस्‍लाम में, क्‍योंकि उसके अनुयायी इस्‍लाम और पैगंबर मोहम्‍मद के अलावा किसी को श्रेष्‍ठ नहीं मानते और यही उन्‍हें हिंसा के लिए प्रेरित करता है। हर धर्म का मार्ग आखिर [...]

दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!...
दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!

आधी आबादी ब्‍यूरो, नई दिल्ली। जंगल बनता जा रहा है। बच्चों के लिए खेलने के लिए जगह नहीं बची है। पार्क भी धीरे-धीरे खत्म होते जा रहे हैं। अभिभावकों की [...]

नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदे...
नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदेश

दिल्‍ली।  कमल इंसटिट्यूट ऑफ हायर एडूकेशन के छात्र और छात्राओ ने 'बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ ' अभियान पर नुक्कड नाटक का आयोजन किया। 22 जनवरी 2015 को प्रधानमंत्री नरेंद्र [...]

असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के ब...
असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के बीच रहती हूं, लेकिन मैंने कभी भारत में भेदभाव महसूस नहीं किया!

सोफिया रंगवाला। पेशे से डॉक्टर हूं। बंगलोर में मेरी एक हाइ एण्ड लेजर स्किन क्लिनिक है। मेरा परिवार कुवैत में रहता है। मैं भी कुवैत में पली बढ़ी हूं लेकिन 18 साल [...]

प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम कर...
प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम करे, सूचना प्रसारण मंत्री को तो क्रिकेट डिप्‍लोमेसी से ही फुर्सत नहीं है!

संदीप देव।उटलुक पत्रिका के एक गलत खबर के कारण जो हंगामा हुआ और सदन को स्‍थगित करना पड़ा, इसका जिम्‍मेवार कौन है? क्‍या मोदी सरकार मीडिया के इस तरह के गैरजिम्‍मेवार और सबूत [...]

Other Articles