छोटे कपड़े पहनकर आइटम सांग करना मुझे पसंद नहीं: राधिक आप्‍टे

बॉलीवुड फिल्म हंटर में मुख्‍य भूमिका अदा करने वाली खूबसूरत अदाकार  राधिका आप्‍टे का कहना है कि वो कभी ऐसे आइटम सांग नहीं करेंगी जो महिलाओं की छवि खराब करे.

पत्रकारों  द्वारा पूछे गए सवाल पर राधिका ने बताया कि आइटम सांग गाने और डांस का सिक्‍वेंस होता है. राधिका ने बताया कि मुझे आइटम सांग करने से परहेज नहीं है लेकिन मैं तभी यह करुंगी जब मुझे पता चले इसका विषय क्‍या है. केवल छोटे कपड़े पहन कर नृत्‍य करना मुझे पसंद नहीं है. और मैं यह कभी नहीं करुंगी.
 
राधिका ने फिल्‍मी दुनिया में पुरुष और महिला कलाकारों की पारिश्रमिक का मुद्दा उठाते हुए कहा की यहां पारिश्रमिक में बहुत अंतर है. राधिका ने कहा कि समाज अब भी पुरुष प्रधान है यहां समान काम के लिए मुझे मेरे पुरष सहकर्मी से कम पारिश्रमिक मिलता है यह भेदभाव मुझे बिल्‍कुल पसंद नहीं है.   
 
7 से अधिक भाषाओं की फिल्‍मों में काम कर चुकी राधिका आप्‍टे ने हाल ही में फिल्‍म हंटर में काम किया था. उससे पहले राधिका  वरुण धवन की फिल्‍म बदलापुर में भी काम कर चुकी हैं.

Web title: item song shall extend not only to the short dress and dance-radhika apte

Keywords: बॉलीवुड | राधिका आप्टे | आइटम सांग| गीत | कम कपड़े और नृत्य | Bollywood | Radhika Apte | Item song | short dress and dance

जानिए, आखिर क्या है अनुच्छेद 370...
जानिए, आखिर क्या है अनुच्छेद 370

नई दिल्ली। भारतीय संविधान का अनुच्छेद 370 एक 'अस्‍थायी प्रबंध' के जरिए जम्मू और कश्मीर को एक विशेष स्वायत्ता वाला राज्य का दर्जा देता है। अनुच्छेद 370 का खाका 194 [...]

महिलाएं सीखें सिलाई, बने आत्‍मनिर्भर ...
महिलाएं सीखें सिलाई, बने आत्‍मनिर्भर

आधीआबादी ब्‍यूरो। महिलाओं को आत्‍मनिर्भर बनाने के लिए वैसे तो रोजगार के भरपूर अवसर हैं,  लेकिन सिलाई एक ऐसी कला है जो महिलाएं अपने घर पर रहकर भी कर सकती हैं। इससे अच्‍छी आमदनी के साथ-साथ घर-परिवार [...]

भेदभाव से बचने के लिए अपना धर्म छोड़ने व...
भेदभाव से बचने के लिए अपना धर्म छोड़ने वाले हिंदू आज भी मुस्लिम और ईसाई समाज में हैं दोयम दर्ज के नागरिक!

संदीप देव।रक्षण की वकालत करने वाले हिंदू समाज के दलितों को भरमाने के लिए 'दलित-मुस्लिम' भाई-भाई का नारा लगाते हैं। Narendra Mo [...]

जोगेंद्रनाथ मंडल के इतिहास से सबक लो सेक...
जोगेंद्रनाथ मंडल के इतिहास से सबक लो सेक्‍यूलरवादियों...!

संदीप देव।ेक्‍यूलरों के समान ही भारत विभाजन के समय एक सेक्‍यूलर नेता था, जोगेंद्रनाथ मंडल। नीतीश कुमार, लालू यादव और मुलायम सिंह यादव की तरह वह भी अनुसूचित जाति का नेता था। नीतीश-लालू- [...]

Aurangzeb‬ द्वारा काशी विश्‍वनाथ मंदिर त...
Aurangzeb‬ द्वारा काशी विश्‍वनाथ मंदिर तोड़े जाने को सबसे पहले सही एक कांग्रेसी नेता ने ही ठहराया था, जिसके बाद झूठ प्रचलित हुआ!

दीपदेव‬।औरंगजेब द्वारा काशी विश्‍वनाथ मंदिर तोड़े जाने को सही ठहराने की शुरुआत महात्‍मा गांधी के बेहद खास कांग्रेसी पटटाभिसीतारमैया ने एक पुस्‍तक 'द फ़ेदर्स एण्ड द स्टोन्स’ लिखकर की थी। यह वही पटटाभि थे, [...]

देश तोड़ने वालों को सरदार पटेल की तरह फट...
देश तोड़ने वालों को सरदार पटेल की तरह फटकारिए, न कि धर्मनिरपेक्षतावाद का राग अलापिए!

संदीप देव।करते हुए तथाकथित धर्मनिरपेक्षतावादी, बुद्धिजीवी, वामपंथी, कांग्रेसी प्रवक्‍ता, मुस्लिम नेता व मौलाना लगातार यह कहते रहते हैं कि भारत के मुसलमान भी राष्‍ट्रवादी हैं। लेकिन भारत विभाजन व देश की आजादी [...]

Sex can become the bridge between you an...
Sex can become the bridge between you and the ultimate: OSHO

OSHO. "Sex can become the bridge between [...]

होली हिंदुस्‍तान की गहरी प्रज्ञा से उपजा...
होली हिंदुस्‍तान की गहरी प्रज्ञा से उपजा हुआ त्‍यौहार है

अमृत साधना।गहरी प्रज्ञा से उपजा हुआ त्योहार है। उसमें पुराण कथा एक आवरण है, जिसमें लपेटकर मनोविज्ञान की घुट्टी पिलाई गई है। सभ्य मनुष्य के मन पर नैतिकता का इतना बोझ होता है कि उसका [...]

दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!...
दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!

आधी आबादी ब्‍यूरो, नई दिल्ली। जंगल बनता जा रहा है। बच्चों के लिए खेलने के लिए जगह नहीं बची है। पार्क भी धीरे-धीरे खत्म होते जा रहे हैं। अभिभावकों की [...]

नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदे...
नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदेश

दिल्‍ली।  कमल इंसटिट्यूट ऑफ हायर एडूकेशन के छात्र और छात्राओ ने 'बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ ' अभियान पर नुक्कड नाटक का आयोजन किया। 22 जनवरी 2015 को प्रधानमंत्री नरेंद्र [...]

असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के ब...
असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के बीच रहती हूं, लेकिन मैंने कभी भारत में भेदभाव महसूस नहीं किया!

सोफिया रंगवाला। पेशे से डॉक्टर हूं। बंगलोर में मेरी एक हाइ एण्ड लेजर स्किन क्लिनिक है। मेरा परिवार कुवैत में रहता है। मैं भी कुवैत में पली बढ़ी हूं लेकिन 18 साल [...]

प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम कर...
प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम करे, सूचना प्रसारण मंत्री को तो क्रिकेट डिप्‍लोमेसी से ही फुर्सत नहीं है!

संदीप देव।उटलुक पत्रिका के एक गलत खबर के कारण जो हंगामा हुआ और सदन को स्‍थगित करना पड़ा, इसका जिम्‍मेवार कौन है? क्‍या मोदी सरकार मीडिया के इस तरह के गैरजिम्‍मेवार और सबूत [...]

Other Articles