अपनी छोटी बहन अक्षरा को लेकर श्रुति हासन है बेहद पजेसिव!

अभिनेत्री श्रुति हासन का कहना है कि वह अपनी छोटी बहन अक्षरा को लेकर प्रोटेक्टिव हैं. अक्षरा ने फिल्म 'शमिताभ' से बॉलीवुड में अपने करियर की शुरुआत की थी. उन्होंने बताया, 'मैं अक्षरा को लेकर रक्षात्मक हूं और मुझे उसकी उपलब्धियों पर गर्व है. 

 

दिग्गज अभिनेता कमल हासन और सारिका की बेटियां श्रुति और अक्षरा दोनों प्रतिभा की धनी है. एक ओर जहां श्रुति गायक-संगीतकार भी हैं. वहीं अक्षरा आर. बाल्की की फिल्म में आने से पहले एक सहायक निर्देशक के रूप में कैमरे के पीछे भी सक्रिय रहीं. श्रुति ने हिंदी, तमिल और तेलुगू फिल्मों का निर्देशन किया .

उन्होंने साझा किया, 'मैं बॉलीवुड में अभिनय की योजना कभी नहीं बनाई क्योंकि मैंने कभी नहीं सोचा था कि मैं हिंदी सिनेमा का हिस्सा बन सकती हूं. मैं हमेशा संगीतकार बनना चाहती थी. मैं संगीत के प्रति भावुक हूं.'

Web Title : i am very protective about akshara shruti haasan

Keyword : Shruti Haasan, Akshara, Bollywood, Shamitabh, Kamal Haasan, श्रुति हासन, अक्षरा हासन

समाजवादियों की अवसरवादिता को राममनोहर लो...
समाजवादियों की अवसरवादिता को राममनोहर लोहिया ने पहले ही पहचान लिया था! ‪ ‪‎

संदीपदेव‬।ेश की जनता को गुमराह करने वाले मुलायम-लालू-नीतीश- कम्‍यूनिस्‍ट भले ही राममनोहर लोहिया का नाम ले-ले कर राजनीति करते रहे हों, लेकिन समाजवादियों की अवसरवादिता और इनके व्‍यक्तित्‍व में बसी [...]

यह इतिहास है और यह क्रूर है! यह न मेरा ह...

संदीप देव। जातिवाद पर ऐतिहासिक तथ्‍यों के जरिए मैंने कुछ रोशनी डालने की कोशिश की है, लेकिन कुछ तथाकथित दलितवादी और सवर्ण जाति की ऊंची नाक वाले लोगों को यह पसंद नहीं आ रहा है। [...]

धर्म मनुष्‍य को इंसान बनाता है, न कि रोब...
धर्म मनुष्‍य को इंसान बनाता है, न कि रोबोट!

संदीप देव।‍यों है, खासकर इस्‍लाम में, क्‍योंकि उसके अनुयायी इस्‍लाम और पैगंबर मोहम्‍मद के अलावा किसी को श्रेष्‍ठ नहीं मानते और यही उन्‍हें हिंसा के लिए प्रेरित करता है। हर धर्म का मार्ग आखिर [...]

अब रिमोर्ट से कंट्रोल करें अपने गर्भनिरो...
अब रिमोर्ट से कंट्रोल करें अपने गर्भनिरोधक को!

नर्इ दिल्‍ली। अमेरिका के मैसाचुसेट्स यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने एक कंप्यूटर चिप आधारित गर्भनिरोधक विकसित किया है, जिसे रिमोट कंट्रोल से ऑपरेट किया जा सकेगा। यह लगातार 16 साल तक काम कर सकता है। खास बात यह है [...]

द्वितीय विश्‍व युद्ध में ब्रिटिश जहां मह...
द्वितीय विश्‍व युद्ध में ब्रिटिश जहां महात्‍मा गांधी के मित्र थे, वहीं सुभाष चंद्रबोस के लिए दुश्‍मन!

संदीप देव।दूसरे के फटे में टांग अड़ाना। जब द्वितीय विश्‍व युद्ध शुरु हुआ तो गांधी जी के नेतृत्‍व में कांग्रेस ब्रिटिश शासन को बार-बार मदद देने का प्रस्‍ताव दे रही थी, जबकि ब्रिटिश [...]

औरंगजेब के दरबारी ने औरंगजेब को इतना लज्...
औरंगजेब के दरबारी ने औरंगजेब को इतना लज्जित किया कि वह मंदिर तोड़ कर मस्जिद बनाना भूल गया! ‪

संदीप देव। औरंगजेब सबसे बड़ा मूर्ति भंजक था। हिंदुओं के मंदिर को तोड़कर उस पर मस्जिद का निर्माण कराने की उसे सनक सवार हो गई थी। पहले पहल तो वह मंदिर तोड़ कर उसे छोड़ देता था, [...]

बम फोड़ने वाले का कोई मजहब नहीं होता, ले...
बम फोड़ने वाले का कोई मजहब नहीं होता, लेकिन सजा मिलते ही उसके नाम का कलमा पढने वालों की बाढ़ आ जाती है! कमाल है!

संदीपदेव‬। और मजहब का होता तो क्‍या मीडिया वाले उसके पक्ष में इस तरह का अभियान चलाते? सुप्रीम कोर्ट का एक पूर्व जस्टिस अंग्रेजी अखबार में उसके लिए लेख लिखता? एक फिल्‍म स्‍टार दनादन [...]

भारत की सेक्‍यूलर प्रजाति!...
भारत की सेक्‍यूलर प्रजाति!

संदीप देव।े लिए सेक्‍यूलर नामक प्रजाति सबसे अधिक जिम्‍मेवार है! अमेरिका की एक बहुत बड़ी वेबसाइट है, जो चर्च मिशनरी को सपोर्ट करता है, नाम है

दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!...
दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!

आधी आबादी ब्‍यूरो, नई दिल्ली। जंगल बनता जा रहा है। बच्चों के लिए खेलने के लिए जगह नहीं बची है। पार्क भी धीरे-धीरे खत्म होते जा रहे हैं। अभिभावकों की [...]

नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदे...
नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदेश

दिल्‍ली।  कमल इंसटिट्यूट ऑफ हायर एडूकेशन के छात्र और छात्राओ ने 'बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ ' अभियान पर नुक्कड नाटक का आयोजन किया। 22 जनवरी 2015 को प्रधानमंत्री नरेंद्र [...]

असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के ब...
असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के बीच रहती हूं, लेकिन मैंने कभी भारत में भेदभाव महसूस नहीं किया!

सोफिया रंगवाला। पेशे से डॉक्टर हूं। बंगलोर में मेरी एक हाइ एण्ड लेजर स्किन क्लिनिक है। मेरा परिवार कुवैत में रहता है। मैं भी कुवैत में पली बढ़ी हूं लेकिन 18 साल [...]

प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम कर...
प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम करे, सूचना प्रसारण मंत्री को तो क्रिकेट डिप्‍लोमेसी से ही फुर्सत नहीं है!

संदीप देव।उटलुक पत्रिका के एक गलत खबर के कारण जो हंगामा हुआ और सदन को स्‍थगित करना पड़ा, इसका जिम्‍मेवार कौन है? क्‍या मोदी सरकार मीडिया के इस तरह के गैरजिम्‍मेवार और सबूत [...]

Other Articles