अपनी छोटी बहन अक्षरा को लेकर श्रुति हासन है बेहद पजेसिव!

अभिनेत्री श्रुति हासन का कहना है कि वह अपनी छोटी बहन अक्षरा को लेकर प्रोटेक्टिव हैं. अक्षरा ने फिल्म 'शमिताभ' से बॉलीवुड में अपने करियर की शुरुआत की थी. उन्होंने बताया, 'मैं अक्षरा को लेकर रक्षात्मक हूं और मुझे उसकी उपलब्धियों पर गर्व है. 

 

दिग्गज अभिनेता कमल हासन और सारिका की बेटियां श्रुति और अक्षरा दोनों प्रतिभा की धनी है. एक ओर जहां श्रुति गायक-संगीतकार भी हैं. वहीं अक्षरा आर. बाल्की की फिल्म में आने से पहले एक सहायक निर्देशक के रूप में कैमरे के पीछे भी सक्रिय रहीं. श्रुति ने हिंदी, तमिल और तेलुगू फिल्मों का निर्देशन किया .

उन्होंने साझा किया, 'मैं बॉलीवुड में अभिनय की योजना कभी नहीं बनाई क्योंकि मैंने कभी नहीं सोचा था कि मैं हिंदी सिनेमा का हिस्सा बन सकती हूं. मैं हमेशा संगीतकार बनना चाहती थी. मैं संगीत के प्रति भावुक हूं.'

Web Title : i am very protective about akshara shruti haasan

Keyword : Shruti Haasan, Akshara, Bollywood, Shamitabh, Kamal Haasan, श्रुति हासन, अक्षरा हासन

गांधी जी और शास्‍त्री जी में कुछ समानता,...
गांधी जी और शास्‍त्री जी में कुछ समानता, लेकिन ढेर सारी असमानता!

‪संदीपदेव‬।ालबहादुर शास्‍त्री- दोनों की जयंती है। दोनों में कुछ बातें समान थीं, जैसे- दोनों बेहद सादगी से जीते थे और दोनों स्‍वयं के प्रति ईमानदार थे। दोनों में एक और बात कॉमन [...]

हिंदी की एक भी पुस्‍तक बेस्‍ट सेलर सूची ...

संदीपदेव‬।को इस पुस्‍तक गी-एक योद्धा'अगस्‍त को हरिद्वार में इसका लोकार्पण होना तय हुआ है। इसका प्रकाशन दुनिया में सबसे अधिक [...]

बॉलिवुड को उद्योग का दर्जा एनडीए ने दिया...
बॉलिवुड को उद्योग का दर्जा एनडीए ने दिया था, लेकिन फिल्‍मवालों के निशाने पर हमेशा भाजपा ही रहती है!

आधीआबादी ब्‍यूरो।्रीज वाले अधिकांश लोगों का रवैया भाजपा सरकार की आलोचना करना ही रहा है। लेकिन फिल्‍म इंडस्‍ट्रीज को पहली बार उद्योग का दर्जा एनडीए की वाजपेयी सरकार ने ही दिया था, जिसके बाद [...]

अब इस्‍लाममिक देश कतर की राजधानी दोहा मे...
अब इस्‍लाममिक देश कतर की राजधानी दोहा में मिली दुर्गा मंदिर निर्माण के लिए जमीन!

मनोज तिवारी (बीजेपी सांसद )। नमस्कार.. मनोज तिवारी का प्रणाम स्वीकार हो। मुझे पता है कि आप अपने कर्तव्यों का निर्वहन बहुत अच्छे से कर रहे हैं। मैं अपने लोकसभा के साथ साथ बिहार विजय के [...]

ISIS के सुन्‍नी आतंकियों का बहशीपन: 30 ब...
ISIS के सुन्‍नी आतंकियों का बहशीपन: 30 बार मेरा रेप किया जा चुका है, मैं टॉयलेट भी नहीं जा सकती, प्लीज, हमें बम से उड़ा दो!

बगदाद।ंकियों के अत्याचार की शिकार एक यजीदी महिला ने पश्चिमी देशों से अपील की है कि उनके ठिकानों पर बम गिरा दिए जाएं। महिला ने खुलासा किया है कि इस्लामिक स्टेट के आतंकी कुछ ही घंटों के भीतर [...]

संभोग के दौरान जल्‍दी हांफ जाता हूं...
संभोग के दौरान जल्‍दी हांफ जाता हूं

सवाल :अपनी पत्नी के साथ सहवास करता हूं, तो बहुत जल्दी क्लाइमैक्स पर पहुंच जाता हूं और हांफने भी लगता हूं। क्या किसी बीमारी की वजह से ऐसा होता है?

स्ट्रेस मॅनेजमेंट का फंडा...
स्ट्रेस मॅनेजमेंट का फंडा

एक मनोवैज्ञानिक स्ट्रेस मॅनेजमेंट के बारे में, अपने छात्रों से मुखातिब था। उसने पानी से भरा एक ग्लास उठाया। सभी ने समझा की अब "आधा खाली या आधा भरा है", यही पुछा और समझाया जाएगा! मगर [...]

गुरु पूर्णिमा: मैं और मेरे गुरु...
गुरु पूर्णिमा: मैं और मेरे गुरु

संदीप देव। आज गुरु पूर्णिमा है! आज मैं जो कुछ भी हूं अपनी प्रथम गुरू मेरी नानी और मेरे अध्‍यात्मिक गुरु ओशो के कारण हूं। नानी ने मेरे जीवन को गढ़ा और भटकने की उम्र युवावस्‍था में ओशो की [...]

दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!...
दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!

आधी आबादी ब्‍यूरो, नई दिल्ली। जंगल बनता जा रहा है। बच्चों के लिए खेलने के लिए जगह नहीं बची है। पार्क भी धीरे-धीरे खत्म होते जा रहे हैं। अभिभावकों की [...]

नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदे...
नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदेश

दिल्‍ली।  कमल इंसटिट्यूट ऑफ हायर एडूकेशन के छात्र और छात्राओ ने 'बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ ' अभियान पर नुक्कड नाटक का आयोजन किया। 22 जनवरी 2015 को प्रधानमंत्री नरेंद्र [...]

असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के ब...
असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के बीच रहती हूं, लेकिन मैंने कभी भारत में भेदभाव महसूस नहीं किया!

सोफिया रंगवाला। पेशे से डॉक्टर हूं। बंगलोर में मेरी एक हाइ एण्ड लेजर स्किन क्लिनिक है। मेरा परिवार कुवैत में रहता है। मैं भी कुवैत में पली बढ़ी हूं लेकिन 18 साल [...]

प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम कर...
प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम करे, सूचना प्रसारण मंत्री को तो क्रिकेट डिप्‍लोमेसी से ही फुर्सत नहीं है!

संदीप देव।उटलुक पत्रिका के एक गलत खबर के कारण जो हंगामा हुआ और सदन को स्‍थगित करना पड़ा, इसका जिम्‍मेवार कौन है? क्‍या मोदी सरकार मीडिया के इस तरह के गैरजिम्‍मेवार और सबूत [...]

Other Articles