ज्ञान-विज्ञान

स्त्रियों को हमेशा के लिए अपंग बनाने की वह दर्दनाक प्रथा!

औरतों के प्रति दुनिया के हर समाज में आदि काल से भेदभाव रहा है, जो वहां की अलग-अलग प्रथाओं में दृष्टिगोचर भी होता रहा है। ऐसे ही चीनी समाज में जिंदगी भर के लिए महिलाओं को अपंग बनाने की प्रथा रही है। बेटी के दो साल का होते ही उसके पैर बांध दिए जाते थे ताकि वह बड़े न हो सकें और पुरुषों को आकर्षित कर सकें। इसकी वजह से औरतें ताउम्र एक अपाहिज की तरह जीवन जीती थी। 

 

Read more...

दिमाग तेज करना है तो सीखें दो भाषा!

आईएएनएस। वाशिंगटन। अगर आप अपना दिमाग तेज करना चाहते हैं, तो दो भाषाएं सीखें क्योंकि एक नए शोध में यह बात सामने आई है कि दो भाषा सीखने वालों का दिमाग अन्य की तुलना में तेज होता है। ऐसा मस्तिष्क के कार्यकारी नियंत्रण क्षेत्र में ग्रे मैटर के अधिक जमाव के कारण होता है। इससे पहले माना जाता था कि दो भाषा सीखने से बच्चों में भाषा के विकास में विलंब होता है, क्योंकि इसके लिए उन्हें दो शब्दावलियों को विकसित करना पड़ता है। शोध के लिए शोधकर्ताओं ने अमेरिकन साइन लैंग्वेज (एएसएल) व स्पोकन इंग्लिश के द्विभाषियों तथा एक भाषा के जानकारों के ग्रे मैटर के बीच तुलना की।

Read more...

जॉब्स के कहने पर नीब किरौरी आश्रम आए थे जुकरबर्ग, यहीं मिला FB को नया मिशन!

पंतनगर (उत्तराखंड)। पिछले दिनों पीएम नरेंद्र मोदी से अमेरिका में मुलाकात के दौरान फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग ने भारत में एक मंदिर का जिक्र किया था। उन्होंने कहा था कि वे एप्पल के फाउंडर स्टीव जॉब्स की सलाह पर भारत के इस मंदिर में गए थे। जुकरबर्ग ने इस मंदिर का नाम नहीं बताया था। लेकिन मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, यह मंदिर नैनीताल के पास पंतनगर में बाबा नीब करौरी के आश्रम में ही था। इसी आश्रम में 1974 में जॉब्स आए थे। हॉलीवुड एक्ट्रेस जुलिया रॉबर्ट्स भी यहां एक बार आ चुकी हैं। आश्रम चलाने वाले ट्रस्ट ने पुष्टि की है कि जुकरबर्ग ने यहां दो दिन बिताए थे। यह साफ नहीं है कि जुकरबर्ग किस साल इस आश्रम में आए थे।

Read more...

1966 का वह गो-हत्‍या बंदी आंदोलन, जिसमें हजारों साधुओं को इंदिरा सरकार ने गोलियों से भुनवा दिया था! आंखों देखा वर्णन!

संदीप देव। देश के त्याग, बलिदान और राष्ट्रीय ध्वज में मौजूद 'भगवा' रंग से पता नहीं कांग्रेस को क्‍या एलर्जी है कि वह आजाद भारत में संतों के हर आंदोलन को कुचलती रही है। आजाद भारत में कांग्रेस पार्टी की सरकार भगवा वस्त्रधारी संतों पर गोलियां तक चलवा चुकी है! गो-रक्षा के लिए कानून बनाने की मांग लेकर जुटे हजारों साधु-संत इस गांलीकांड में मारे गए थे। पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के कार्यकाल में हुए उस खूनी इतिहास को कांग्रेस ने ठीक उसी तरह दबा दिया, जिस कारण आज की युवा पीढ़ी उस दिन के खूनी कृत्‍य से आज भी अनजान है! 

Read more...

एक ऐसा देश जहां लड़कियों को छुपाने के लिए बना देते है लड़का!

काबुल। अफगानिस्तान में जिन परिवारों में सिर्फ लड़कियां जन्म लेती हैं वहां पर आर्थिक और सामाजिक कारणों के चलते लड़कियों को लड़कों की तरह पालने की परंपरा चली आ रही है। इस चलन को बाचा-पोश कहते हैं। इसमें लड़कियों को न केवल लड़कों का पहनावा दिया जाता है बल्कि उनके सिर के बाल भी लड़कों की तरह छोटे रखे जाते हैं।

 

Read more...

Subcategories

यह शुद्ध रूप से वैचारिक लड़ाई है, ‪‎Beef...

संदीप देव। े वाले मीडियाकर्मी और निकृष्‍ट अरविंद केजरीवाल एंड गिरोह को दादारी गांव के ग्रामीणों ने गांव में प्रवेश नहीं करने दिया। यही सभ्‍य और लोकतांत्रिक तरीका है। हमें भी बहिष्‍कार का तरीका ही अपनाना चाहिए। मीडिया [...]

छोटे कपड़े पहनकर आइटम सांग करना मुझे पसं...
छोटे कपड़े पहनकर आइटम सांग करना मुझे पसंद नहीं: राधिक आप्‍टे

बॉलीवुड फिल्म हंटर में मुख्‍य भूमिका अदा करने वाली खूबसूरत अदाकार  राधिका आप्‍टे का कहना है कि वो कभी ऐसे आइटम सांग नहीं करेंगी जो महिलाओं की छवि खराब करे.

स्‍त्री यौन स्‍ट्रोक: स्‍त्री का पावर स्...
स्‍त्री यौन स्‍ट्रोक: स्‍त्री का पावर स्‍ट्रोक

आधी आबादी ब्‍यूरो।ीरांगना महिलाओं का आसन है, इसलिए साधारण महिलाओं को इस आसन को न करने की सलाह दी जाती है। इस पोजीशन को वही स्त्री हैंडल कर सकती है, जो [...]

इस्‍लामी कटरता व आतंकवाद का आखिरी निशाना...
इस्‍लामी कटरता व आतंकवाद का आखिरी निशाना हिंदुस्‍तान ही है!

संदीप देव।ार इस्‍लामी आतंकवादी संगठन बोको हराम ने खतरनाक इस्‍लामी आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (IS) से हाथ मिला लिया है। बोको हराम ने इस्लामिक स्टेट समूह के प्रति अपनी औपचारिक निष्ठा जाहिर की [...]

सेलेना गोमेज ने कमर के नीचे गुदवाया ॐ टै...
सेलेना गोमेज ने कमर के नीचे गुदवाया ॐ टैटू!

अमेरिकन सिंगर, ऐक्ट्रेस और फैशन डिजाइनर सेलेना गोमेज इस बार अपने टैटू से खबरों में हैं. सेलेना गोमेज ने अपनी वेस्ट के नीचे एक पवित्र ओम शब्द का टैटू बनवाया है. सेलेना गोमेज के इस टैटू ने [...]

अब इस्‍लाममिक देश कतर की राजधानी दोहा मे...
अब इस्‍लाममिक देश कतर की राजधानी दोहा में मिली दुर्गा मंदिर निर्माण के लिए जमीन!

मनोज तिवारी (बीजेपी सांसद )। नमस्कार.. मनोज तिवारी का प्रणाम स्वीकार हो। मुझे पता है कि आप अपने कर्तव्यों का निर्वहन बहुत अच्छे से कर रहे हैं। मैं अपने लोकसभा के साथ साथ बिहार विजय के [...]

बॉयफ्रेंड विराट कोहली के अलावा भी अनुष्‍...
बॉयफ्रेंड विराट कोहली के अलावा भी अनुष्‍का की खुशी के हैं कई राज

मुंबई। बॉलीवुड एक्ट्रेस अनुष्का शर्मा 2015 को लेकर बेहद उत्साहित हैं क्योंकि अगले साल जनवरी में उनकी पहली प्रोडक्शन फिल्म 'एनएच 10' का ट्रेलर लॉन्च किया जाएगा।

बॉलिवुड को उद्योग का दर्जा एनडीए ने दिया...
बॉलिवुड को उद्योग का दर्जा एनडीए ने दिया था, लेकिन फिल्‍मवालों के निशाने पर हमेशा भाजपा ही रहती है!

आधीआबादी ब्‍यूरो।्रीज वाले अधिकांश लोगों का रवैया भाजपा सरकार की आलोचना करना ही रहा है। लेकिन फिल्‍म इंडस्‍ट्रीज को पहली बार उद्योग का दर्जा एनडीए की वाजपेयी सरकार ने ही दिया था, जिसके बाद [...]

दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!...
दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!

आधी आबादी ब्‍यूरो, नई दिल्ली। जंगल बनता जा रहा है। बच्चों के लिए खेलने के लिए जगह नहीं बची है। पार्क भी धीरे-धीरे खत्म होते जा रहे हैं। अभिभावकों की [...]

नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदे...
नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदेश

दिल्‍ली।  कमल इंसटिट्यूट ऑफ हायर एडूकेशन के छात्र और छात्राओ ने 'बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ ' अभियान पर नुक्कड नाटक का आयोजन किया। 22 जनवरी 2015 को प्रधानमंत्री नरेंद्र [...]

असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के ब...
असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के बीच रहती हूं, लेकिन मैंने कभी भारत में भेदभाव महसूस नहीं किया!

सोफिया रंगवाला। पेशे से डॉक्टर हूं। बंगलोर में मेरी एक हाइ एण्ड लेजर स्किन क्लिनिक है। मेरा परिवार कुवैत में रहता है। मैं भी कुवैत में पली बढ़ी हूं लेकिन 18 साल [...]

प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम कर...
प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम करे, सूचना प्रसारण मंत्री को तो क्रिकेट डिप्‍लोमेसी से ही फुर्सत नहीं है!

संदीप देव।उटलुक पत्रिका के एक गलत खबर के कारण जो हंगामा हुआ और सदन को स्‍थगित करना पड़ा, इसका जिम्‍मेवार कौन है? क्‍या मोदी सरकार मीडिया के इस तरह के गैरजिम्‍मेवार और सबूत [...]

Other Articles