जोगेंद्रनाथ मंडल के इतिहास से सबक लो सेक्‍यूलरवादियों...!

संदीप देव। आजकल के तथाकथित सेक्‍यूलरों के समान ही भारत विभाजन के समय एक सेक्‍यूलर नेता था, जोगेंद्रनाथ मंडल। नीतीश कुमार, लालू यादव और मुलायम सिंह यादव की तरह वह भी अनुसूचित जाति का नेता था। नीतीश-लालू-मुलायम की ही तरह वह मुस्लिम तुष्टिकरण के बल पर मुस्लिम-अनुसूचित जाति गठजोड़ का बड़ा नेता बनना चाहता था। जिन्‍ना के भारत विभाजन की मांग को उसने जायज ठहराया, ठीक वैसे ही जैसे नीतीश-लालू-मुलायम जैसे नेता कटटर मुस्लिमों की हर नाजायज मांग को जायज ठहराते हैं।

जोगेंद्रनाथ मंडल ने जिन्‍ना और लियाकत अली खान की हां में हां मिलाते हुए अलग पाकिस्‍तान की मांग को मुसलमानों का हक बताया था। उसे इसका ईनाम भी मिला और पाकिस्‍तान का निर्माण होते ही पाक के प्रथम प्रधानमंत्री लियाकत अली खान ने जोगेंद्रनाथ मंडल को अपनी सरकार में पहला विधि व श्रम मंत्री बनाया था।

1950 में लियाकत अली खान ने तब के पूर्वी पाकिस्‍तान और आज के बंग्‍लादेश में रह रहे हिंदुओं को पाकिस्‍तान खाली करने का हुक्‍म जारी किया। जब हिंदुओं ने अपना घर-बार नहीं छोड़ा तो उनके नरसंहार के लिए जेहादी मुसलमानों को इशारा कर दिया गया। 1950 में पूर्वी पाकिस्‍तान में बडे पैमाने पर हुए हिंदुओं के नहसंहार का मास्‍टर माइंड पाकिस्‍तान का प्रथम प्रधानमंत्री लियाकत अली खान को ही माना जाता है। और आपको यह भी जानना चाहिए कि वह भी मुलायम सिंह यादव की तरह मूल रूप से उत्‍तर प्रदेश का ही बाशिंदा था। लियाकत अलीखान उप्र के मुस्लिम जमींदार खानदान से ताल्‍लुक रखता था।

यह इसलिए कह रहा हूं कि पाकिस्‍तान निर्माण की सबसे अधिक मांग जिन मुस्लिमों ने उठाई थी, उसमें उप्र, बिहार व बंगाल के मुस्लिम सर्वाधिक थे और आज भी यही वो प्रदेश हैं, जहां सबसे अधिक मुस्लिम कटटरता की समस्‍या बनी हुई है। धन-संपत्ति को छोड़ कर मजबूरी में पाकिस्‍तान नहीं जाने वाले कटटर मुस्लिम आज भी इन प्रदेशों बने हुए हैं और कहीं न कहीं भारत को तोड़ कर फिर एक पाकिस्‍तान के निर्माण की मंशा में जुटे हुए हैं। वैसे मुंबई, मद्रास, हैदराबाद, अहमदाबाद, गोधरा के मुस्लिमों ने भी बड़े पैमाने पर पाकिस्‍तान के समर्थन में वोट दिया था और मजबूरीवश ये अलगाववादी मानसिकता के मुसलमान आज भी इसी देश में बने हुए हैं। भारत विभाजन से लेकर आज तक देश में जहां-जहां सर्वाधिक सांप्रदायिक दंगे हुए हैं, वो वही क्षेत्र है, जहां के मुस्लिमों ने इस्‍लामी राज्‍य की स्‍थापना के लिए पाकिस्‍तान के पक्ष में मांग उठाई थी। इसमें पंजाब और दिल्‍ली का सिख नरसंहार एक अपवाद है।

हां तो असली ऐतिहासिक सच्‍चाई पर आते हैं। जब पूर्वी पाकिस्‍तान में हिंदुओं का नरसंहार चल रहा था तो पाकिस्‍तान के विधि व श्रम मंत्री होने के नाते जोगेंद्रनाथ मंडल ने इसका विरोध किया। फिर क्‍या था, प्रधानमंत्री लियाकत अलीखान ने उन्‍हें बंदी बनाने का हुक्‍म जारी कर दिया। बेचारे सेक्‍यूलर जोगेंद्रनाथ मंडल जान बचाने के लिए गददी छोड़कर भाग खड़े हुए और इसी भारत में उन्‍हें शरण मिली।

ओवेसी जैसों कटटर मुस्लिमों की हर नाजायज मांग पर ता-थईया कर नाच करने वाले सेक्‍यूलरों को यह याद रखना चाहिए कि उनकी सेक्‍यूलर दुदुंभि तभी तक बज रही है जब तक मुस्लिम इस देश में अल्‍पसंख्‍यक हैं। मुस्लिमों के बहुसंख्‍यक होते ही लालू, मुलायम, नीतीश, मायावती, ममता बनर्जी, दिग्विजय सिंह, सुशील कुमार शिंदे व इन सभी की सेक्‍यूलर सरगना सोनिया गांधी और समूची तथाक‍थित पत्रकार, बुद्धिजीवी व मार्क्‍सवादी बिरादरी की हालत भी जोगेंद्रनाथ मंडल जैसी होनी तय है और तब कोई भारत नहीं बचेगा, जहां वो भाग कर अपनी जान बचा सकें।

Web Title: indian secularism.1

Keywords: सेक्‍यूलरिज्‍म| धर्मनिरपेक्षता| इतिहास| भारत का इतिहास| धर्म| हिंदू मुसलमान| नरसंहार| भारत पाकिस्‍तान| बंटवारे का इतिहास| sandeep deo on indian history| sandeep deo on indian secularism

साहित्‍य अकादमी पुरस्‍कार लौटाए जाने के ...
साहित्‍य अकादमी पुरस्‍कार लौटाए जाने के पीछे की राष्‍ट्रीय-अंतरराष्‍ट्रीय साजिश!

संदीप देव।ुरस्‍कार लौटाने का यह जो खेल चल रहा है, आप लोग इसे हल्‍के में न लें। PMO India मोदी सरकार पर किए गए इस वार में पर्दे [...]

एक प्रोफेसर की तरह जापानियों से संवाद कर...
एक प्रोफेसर की तरह जापानियों से संवाद करते नजर आए मोदी

टोक्यो, एजेंसी। परमाणु अप्रसार संधि पर भारत के हस्ताक्षर न करने की वजह से अंतरराष्ट्रीय समुदाय में व्याप्त चिंता को दूर करने की कोशिश करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज कहा कि शांति और अहिंसा के लिए देश [...]

असहिष्णुता: काश! सोनिया मैडम और आमिर खान...
असहिष्णुता: काश! सोनिया मैडम और आमिर खान तक कोई इस सच्चाई को पहुँचा दे!

संदीप देव।ंग्रेस समर्थक व आमिर-शाहरुख जैसे मुसलमान किस मुंह से सहिष्णुता की बात करते हैं? आपातकाल के दौरान इंदिरा-संजय गांधी ने दिल्ली की जनता, खासकर मुसलमानों पर इतना अधिक जुल्म ढाया था [...]

आज विज्ञान ओम की शक्ति को पहचान रहा है ज...
आज विज्ञान ओम की शक्ति को पहचान रहा है जबकि हमारे ऋषि-मुनी, योगी तो पहले ही इस तथ्य को जान चुके थे!

आधी आबादी ब्‍यूरो। कहा गया है। यह तथ्य भी उल्लेखित है कि तेजस तत्व के अधिष्ठाता भगवान भास्कर की तेज ऊर्जा के संग निकलने वाली ध्वनि में ओम स्वर उच्चरित होता है। [...]

असहिष्णुता: क्‍या आप जानते हैं शाहरुख खा...
असहिष्णुता: क्‍या आप जानते हैं शाहरुख खान की मां आपातकाल में संजय गांधी की उस टीम में शामिल थीं, जिसने मुसलमानों के जबरन नसबंदी का फैसला किया था!

संदीप देव। पर जिन तथ्‍यों सामने रख रहा हूं, उससे पहले बहुत कम लोग परिचित थे और यह दर्शाता है कि कांग्रेस-वामपं‍थियों ने किस तरह झूठ की बुनियाद पर देश का पूरा इतिहास लिखा [...]

असावधानी में बनाया गया शारीरिक संबंध कई ...
असावधानी में बनाया गया शारीरिक संबंध कई तरह से आपको कर सकता है परेशान!

नई दिल्ली।ेट पर जाना आम बात है लेकिन इस दौरान उन्हें अपने पार्टनर के साथ थोड़ी सावधानी बरतने की जरूरत होती है। डेटिंग के दौरान ज्यादातर युवा शारीरिक रूप से एक-दूसरे के नजदीक आ [...]

मां आशीर्वाद दे कि इस नवरात्रि मैं अपने ...
मां आशीर्वाद दे कि इस नवरात्रि मैं अपने 'मैं' को विसर्जित कर सकूं!

संदीप देव। आज से नवरात्रि शुरु हो रही है। इस नवरात्रि के समाप्‍त होते-होते मां दुर्गा हममें से कम से कम कुछ लोगों का ही सही, लेकिन 'मन' हर ले! 'मन' अर्थात ' [...]

बाबा रामदेव के विरोधियों को नरेंद्र मोदी...
बाबा रामदेव के विरोधियों को नरेंद्र मोदी का तमाचा!

संदीप देव, नई दिल्‍ली। ्वारा विश्‍व मानव समाज को दी गई 'योग' विद्या को आधुनिक समय में बाबा रामदेव ने अंतरराष्‍ट्रीय पहचान दिलाई है, इसमें शायद ही किसी को शक [...]

दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!...
दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!

आधी आबादी ब्‍यूरो, नई दिल्ली। जंगल बनता जा रहा है। बच्चों के लिए खेलने के लिए जगह नहीं बची है। पार्क भी धीरे-धीरे खत्म होते जा रहे हैं। अभिभावकों की [...]

नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदे...
नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदेश

दिल्‍ली।  कमल इंसटिट्यूट ऑफ हायर एडूकेशन के छात्र और छात्राओ ने 'बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ ' अभियान पर नुक्कड नाटक का आयोजन किया। 22 जनवरी 2015 को प्रधानमंत्री नरेंद्र [...]

असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के ब...
असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के बीच रहती हूं, लेकिन मैंने कभी भारत में भेदभाव महसूस नहीं किया!

सोफिया रंगवाला। पेशे से डॉक्टर हूं। बंगलोर में मेरी एक हाइ एण्ड लेजर स्किन क्लिनिक है। मेरा परिवार कुवैत में रहता है। मैं भी कुवैत में पली बढ़ी हूं लेकिन 18 साल [...]

प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम कर...
प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम करे, सूचना प्रसारण मंत्री को तो क्रिकेट डिप्‍लोमेसी से ही फुर्सत नहीं है!

संदीप देव।उटलुक पत्रिका के एक गलत खबर के कारण जो हंगामा हुआ और सदन को स्‍थगित करना पड़ा, इसका जिम्‍मेवार कौन है? क्‍या मोदी सरकार मीडिया के इस तरह के गैरजिम्‍मेवार और सबूत [...]

Other Articles