रीति रिवाज

स्त्रियों को हमेशा के लिए अपंग बनाने की वह दर्दनाक प्रथा!

औरतों के प्रति दुनिया के हर समाज में आदि काल से भेदभाव रहा है, जो वहां की अलग-अलग प्रथाओं में दृष्टिगोचर भी होता रहा है। ऐसे ही चीनी समाज में जिंदगी भर के लिए महिलाओं को अपंग बनाने की प्रथा रही है। बेटी के दो साल का होते ही उसके पैर बांध दिए जाते थे ताकि वह बड़े न हो सकें और पुरुषों को आकर्षित कर सकें। इसकी वजह से औरतें ताउम्र एक अपाहिज की तरह जीवन जीती थी। 

 

Read more...

एक ऐसा देश जहां लड़कियों को छुपाने के लिए बना देते है लड़का!

काबुल। अफगानिस्तान में जिन परिवारों में सिर्फ लड़कियां जन्म लेती हैं वहां पर आर्थिक और सामाजिक कारणों के चलते लड़कियों को लड़कों की तरह पालने की परंपरा चली आ रही है। इस चलन को बाचा-पोश कहते हैं। इसमें लड़कियों को न केवल लड़कों का पहनावा दिया जाता है बल्कि उनके सिर के बाल भी लड़कों की तरह छोटे रखे जाते हैं।

 

Read more...

महाकुंभ में नग्न नहीं रह सकतीं नागा महिलाएँ

अमिताभ सान्याल, बीबीसी हिंदी। इस बार का कुंभ आयोजन एक मायने में बेहद ख़ास है. पहली बार नागा साधुओं के अखाड़े में महिलाओं को स्वतंत्र और अलग पहचान दी गई है. इसी वजह से आपको संगम के तट पर जूना संन्यासिन अखाड़ा नजर आता है. कुंभ को दुनिया का सबसे बड़ा धार्मिक आयोजन माना जाता है. इस आयोजन का नियंत्रण काफी हद नागा साधुओं के जिम्मे होता है.

Read more...

एक देश जहां शादी से पहले होता है लड़की का बलात्‍कार!

किर्गिस्तान की संसद में इन दिनों दशकों पुरानी परंपरा और कानून व्यवस्था से जुड़े एक मुद्दे पर बहस चल रही है. दरअसल यहां शादी के लिए दुल्हन के अपहरण और उसके बलात्‍कार की परंपरा रही है, लेकिन अब सरकार इसे गंभीर अपराध की श्रेणी में लाने पर विचार कर रही है.

Read more...

फिर कौन करेगा हमारे लिए पूजा!

नई दिल्ली। अपने घर की सुख समृद्धि, बच्चे के जन्म, नए दुकान या आफिस खोलने, किसी मानता के पूरा होने पर या खास मौकों पर पूजा-अनुष्ठान का आयोजन सदियों से होता आ रहा है। पर इन्हें संपन्न कराने वाले पंडितों की संख्या में लगातार गिरावट आ रही है। यह समस्या हिंदू धर्म ही नहीं मुस्लिम, ईसाई और सिख में भी आ रही है।

Read more...