रीति रिवाज

स्त्रियों को हमेशा के लिए अपंग बनाने की वह दर्दनाक प्रथा!

औरतों के प्रति दुनिया के हर समाज में आदि काल से भेदभाव रहा है, जो वहां की अलग-अलग प्रथाओं में दृष्टिगोचर भी होता रहा है। ऐसे ही चीनी समाज में जिंदगी भर के लिए महिलाओं को अपंग बनाने की प्रथा रही है। बेटी के दो साल का होते ही उसके पैर बांध दिए जाते थे ताकि वह बड़े न हो सकें और पुरुषों को आकर्षित कर सकें। इसकी वजह से औरतें ताउम्र एक अपाहिज की तरह जीवन जीती थी। 

 

Read more...

एक ऐसा देश जहां लड़कियों को छुपाने के लिए बना देते है लड़का!

काबुल। अफगानिस्तान में जिन परिवारों में सिर्फ लड़कियां जन्म लेती हैं वहां पर आर्थिक और सामाजिक कारणों के चलते लड़कियों को लड़कों की तरह पालने की परंपरा चली आ रही है। इस चलन को बाचा-पोश कहते हैं। इसमें लड़कियों को न केवल लड़कों का पहनावा दिया जाता है बल्कि उनके सिर के बाल भी लड़कों की तरह छोटे रखे जाते हैं।

 

Read more...

महाकुंभ में नग्न नहीं रह सकतीं नागा महिलाएँ

अमिताभ सान्याल, बीबीसी हिंदी। इस बार का कुंभ आयोजन एक मायने में बेहद ख़ास है. पहली बार नागा साधुओं के अखाड़े में महिलाओं को स्वतंत्र और अलग पहचान दी गई है. इसी वजह से आपको संगम के तट पर जूना संन्यासिन अखाड़ा नजर आता है. कुंभ को दुनिया का सबसे बड़ा धार्मिक आयोजन माना जाता है. इस आयोजन का नियंत्रण काफी हद नागा साधुओं के जिम्मे होता है.

Read more...

एक देश जहां शादी से पहले होता है लड़की का बलात्‍कार!

किर्गिस्तान की संसद में इन दिनों दशकों पुरानी परंपरा और कानून व्यवस्था से जुड़े एक मुद्दे पर बहस चल रही है. दरअसल यहां शादी के लिए दुल्हन के अपहरण और उसके बलात्‍कार की परंपरा रही है, लेकिन अब सरकार इसे गंभीर अपराध की श्रेणी में लाने पर विचार कर रही है.

Read more...

फिर कौन करेगा हमारे लिए पूजा!

नई दिल्ली। अपने घर की सुख समृद्धि, बच्चे के जन्म, नए दुकान या आफिस खोलने, किसी मानता के पूरा होने पर या खास मौकों पर पूजा-अनुष्ठान का आयोजन सदियों से होता आ रहा है। पर इन्हें संपन्न कराने वाले पंडितों की संख्या में लगातार गिरावट आ रही है। यह समस्या हिंदू धर्म ही नहीं मुस्लिम, ईसाई और सिख में भी आ रही है।

Read more...

जानिए, आखिर क्या है अनुच्छेद 370...
जानिए, आखिर क्या है अनुच्छेद 370

नई दिल्ली। भारतीय संविधान का अनुच्छेद 370 एक 'अस्‍थायी प्रबंध' के जरिए जम्मू और कश्मीर को एक विशेष स्वायत्ता वाला राज्य का दर्जा देता है। अनुच्छेद 370 का खाका 194 [...]

यह शुद्ध रूप से वैचारिक लड़ाई है, ‪‎Beef...

संदीप देव। े वाले मीडियाकर्मी और निकृष्‍ट अरविंद केजरीवाल एंड गिरोह को दादारी गांव के ग्रामीणों ने गांव में प्रवेश नहीं करने दिया। यही सभ्‍य और लोकतांत्रिक तरीका है। हमें भी बहिष्‍कार का तरीका ही अपनाना चाहिए। मीडिया [...]

रक्षा क्षेत्र में विदेशी कंपनी का विरोध ...
रक्षा क्षेत्र में विदेशी कंपनी का विरोध करने वाले, पहले जान तो लें कि हथियार निर्माण में  विदेशी मदद शिवाजी ने भी ली थी!

संदीप देव।ी महाराज की जन्‍मजयंती थी। मैं आप सभी को एक सुंदर लेख का उपहार देना चाहता था, लेकिन कई कार्यों में उलझे रहने के कारण नहीं दे सका। लेकिन उस लेख का मर्म आपको समझा [...]

Anti-development activities by the NGOs ...
Anti-development activities by the NGOs in India

As a first step to fast-tracking develop [...]

दिल्‍ली में भाजपा की हार भीतराघात का नती...
दिल्‍ली में भाजपा की हार भीतराघात का नतीजा

संदीप देव।लिखा है कि संघ के तर्ज पर ही जनसंघ (आज की भाजपा) से लोगों को जोड़ने के लिए तीन तरह से कार्य आरंभ हुआ। पहली श्रेणी में कार्यकर्ता बनने वाले लोग, दूसरी [...]

नरेंद्र मोदी को झूठा साबित करने के लिए भ...
नरेंद्र मोदी को झूठा साबित करने के लिए भारत व बिहार के इतिहास को झुठलाना कहां तक उचित है ?

संदीप देव। गुजरात के मुख्‍यमंत्री नरेंद्र मोदी ने 27 अक्‍टूबर 2013 की अपनी पटना रैली में बिहार के गौरवपूर्ण अतीत की चर्चा की तो एक साथ बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार से लेकर देश [...]

योग गुरु से बिजनस टाइकून बने बाबा रामदेव...
योग गुरु से बिजनस टाइकून बने बाबा रामदेव, 2000 करोड़ का FMCG कारोबार

नई दिल्ली। भले ही योग और एफएमसीजी का संयोजन एक-दूसरे से एकदम उलट हो (योग आंतरिक शांति के लिए और एफएमसीजी बाहरी सौंदर्य के लिए) लेकिन बाबा रामदेव ने इन दोनों ही क्षेत्रों में एकदम सटीक ' [...]

लावा की नई पेशकश लॉन्च किया फ्लेयर Z1, क...
लावा की नई पेशकश लॉन्च किया फ्लेयर Z1, कीमत 5,699 रुपए, जानें इसके अन्य खूबियों के बारे में

भारतीय स्मार्टफोन कंपनी लावा में अपने फ्लेयर P1 और फ्लेयर F1 के लॉन्च के बाद लावा ने अपनी इसी सीरीज में एक नया स्मार्टफोन लावा फ्लेयर Z1 लॉन्च किया है। यह स्मार्टफोन एक्सक्लूजिवली ईकॉमर्स [...]

दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!...
दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!

आधी आबादी ब्‍यूरो, नई दिल्ली। जंगल बनता जा रहा है। बच्चों के लिए खेलने के लिए जगह नहीं बची है। पार्क भी धीरे-धीरे खत्म होते जा रहे हैं। अभिभावकों की [...]

नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदे...
नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदेश

दिल्‍ली।  कमल इंसटिट्यूट ऑफ हायर एडूकेशन के छात्र और छात्राओ ने 'बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ ' अभियान पर नुक्कड नाटक का आयोजन किया। 22 जनवरी 2015 को प्रधानमंत्री नरेंद्र [...]

असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के ब...
असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के बीच रहती हूं, लेकिन मैंने कभी भारत में भेदभाव महसूस नहीं किया!

सोफिया रंगवाला। पेशे से डॉक्टर हूं। बंगलोर में मेरी एक हाइ एण्ड लेजर स्किन क्लिनिक है। मेरा परिवार कुवैत में रहता है। मैं भी कुवैत में पली बढ़ी हूं लेकिन 18 साल [...]

प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम कर...
प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम करे, सूचना प्रसारण मंत्री को तो क्रिकेट डिप्‍लोमेसी से ही फुर्सत नहीं है!

संदीप देव।उटलुक पत्रिका के एक गलत खबर के कारण जो हंगामा हुआ और सदन को स्‍थगित करना पड़ा, इसका जिम्‍मेवार कौन है? क्‍या मोदी सरकार मीडिया के इस तरह के गैरजिम्‍मेवार और सबूत [...]

Other Articles