सेहत

आपका परफ्यूम और डियोडेरेंट आपके शुक्राणुओं की गति को कर सकता है कम!

लंदन। आजकल टीवी एड में डियोडेरेंट के प्रचार में पुरुषों पर लड़कियों को मरते, कूदते दिखाया जाता है, लेकिन सच्‍चाई बिल्‍कुल इसके उलट है। आपका तेज परफ्यूम और डियाटेरेंट आपके शुक्राणुओं की गतिशीलता को कम कर सकता है, जिससे नपुंसता जैसी स्थिति का सामना भी आपको करना पड़ सकता है। इसके अलावा, वालपेपर, सैंडल, नेल पॉलिश, एवं कालीनों में पाए जाने वाले रसायन भी पुरुषों के शुक्राणुओं की गतिशीलता कम कर सकते हैं जिससे संतानोत्पत्ति में मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है।

Read more...

महिलाओं में दिल की बीमारियां रह जाती हैं अनदेखी : WHO

कोलकाता। विश्व हृदय दिवस से एक दिन पहले विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने सोमवार को कहा कि भारतीय महिलाओं में दिल की बीमारियां अनदेखी रह जाती हैं और उनका इलाज नहीं होता।

Read more...

आयुर्वेद के हिसाब से आपके स्‍वास्‍थ्‍य के लिए क्या करे क्या न करें का विधान!

* दूध और कटहल का कभी भी एक साथ सेवन नहीं करना चाहिये ।
*. दूध और कुलत्थी भी कभी एक साथ नहीं लेना चाहिए।
*. नमक और दूध (सेंधा नमक छोड़कर) दूध और सभी प्रकार की खटाइयां, दूध और मूँगफली, दूध और मछली, एक साथ प्रयोग ना करें।

Read more...

भारत में कम हुआ HIV का प्रकोप, एड्स से होने वाली मौतों में 41 फीसदी की कमी

भाषा, नई दिल्ली। संयुक्त राष्ट्र ने कहा है कि भारत वर्ष 2000 और 2014 के बीच एचआईवी संक्रमण के नए मामलों में 20 प्रतिशत से ज्यादा की कमी लाकर इस वायरस के प्रकोप को नियंत्रित करने में सफल रहा है। संयुक्त राष्ट्र द्वारा इस संबंध में जारी की गई एक रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि 2030 तक एड्स की महामारी को खत्म करने की दिशा में अग्रसर है।
इस रिपोर्ट का शीषर्क ‘किस तरह एड्स ने सबकुछ बदल दिया- सहस्त्राब्दी, विकास, लक्ष्य 6-15 वर्ष, एड्स पर प्रतिक्रिया से उम्मीद के 15 सबक’ है।

Read more...

अनाप-शनाप दवा खाने से पहले एक बार महिलाएं इस शोध को पढ़ लें

लंदन। दवाओं के प्रतिकूल प्रभाव के प्रति महिलाएं पुरुषों से अधिक संवेदनशील क्यों होती हैं, इसका जवाब वैज्ञानिकों को मिल गया है। इसका कारण कोशिकाओं की संवेदनशीलता होती है। एक नए अध्ययन में यह बात सामने आई है। महिलाएं खासकर जो रजोनिवृत्त हो चुकी हैं, की यकृत की कोशिकाएं दवाओं के दुष्प्रभावों के प्रति पुरुषों से ज्यादा संवेदनशील होती हैं।

Read more...

मित्र, मंत्र और मौन!...
मित्र, मंत्र और मौन!

संदीप देव। 'मित्र' वह है जिसके मन के साथ हमारा तंत्र जुड़ा हो। 'मित्रता' शुद्ध मानसिक संबंध है। हमारे जीवन में 5 तरह के संबंध विकसित होते हैं- 1) रक्‍त का संबंध [...]

चर्च के साम्राज्यवाद का खुलासा करती पुस्...
चर्च के साम्राज्यवाद का खुलासा करती पुस्तक  'ऊँटेश्वरी माता का महंत'

आधीआबादी ब्‍यूरो। भी नही है कि एक ईसाई संगठन से जुड़े कैथोलिक विश्वासी पी.बी.लोमियों की हाल ही में आई पुस्तक 'ऊँटेश्वरी माता का महंत' ने ईसाई समाज के अंदर [...]

प्रधानमंत्री के नाम पत्र: चर्च की तरह सं...
प्रधानमंत्री के नाम पत्र: चर्च की तरह संत गोपाल दास को भी सुन लीजिए!

नई दिल्‍ली।िस आयुक्‍त बस्‍सी को केवल इसलिए तलब कर लिया कि वसंत विहार के होली चाइल्ड ऑक्सीलम स्कूल में प्रिंसिपल के दफ्तर में तोड़फोड़ की घटना हुई है, लेकिन गो-वध बंदी के लिए आंदोलन [...]

दक्षिण भारत की पहली 'टेस्ट ट्यूब बेबी' न...
दक्षिण भारत की पहली 'टेस्ट ट्यूब बेबी' ने मां बन कर रचा इतिहास!

चेन्‍नई। 24 साल पहले जिस कमला रत्नम को दक्ष‍िण भारत की पहली 'टेस्ट ट्यूब बेबी' बनने का सौभाग्य मिला था, वह अब खुद मां बन गई हैं. ऐसा भारत में पहली बार हुआ है. [...]

कृष्‍ण ने अर्जुन से कहा, हे अर्जुन वृक्ष...
कृष्‍ण ने अर्जुन से कहा, हे अर्जुन वृक्षों में मैं पीपल हूं। लेकिन आखिर पीपल ही क्‍यों?

संदीप देव।: सर्ववृक्षाणां देवर्षीणां च नारद: हे अर्जुन वृक्षों में मैं पीपल हूं और देवर्षियों में नारद। कदम्‍ब के पेड़ के नीचे रास [...]

श्‍यामा प्रसाद मुकर्जी को कश्‍मीर जाने स...
श्‍यामा प्रसाद मुकर्जी को कश्‍मीर जाने से रोकते हुए सुचेता कृपलानी ने कहा था, वहां न जाएं, पंडित नेहरू आपकी हत्‍या करवा देंगे। क्‍या सचमुच सुचेता सहीं थी? ‪ ‎

संदीपदेव‬।यामाप्रसाद मुकर्जी का जन्‍म हुआ और 23 जून 1953 को संदिग्‍ध परिस्‍थति में उनकी कश्‍मीर में मौत! श्‍यामा प्रसाद मुकर्जी जब कश्‍मीर में [...]

असहिष्णुता: काश! सोनिया मैडम और आमिर खान...
असहिष्णुता: काश! सोनिया मैडम और आमिर खान तक कोई इस सच्चाई को पहुँचा दे!

संदीप देव।ंग्रेस समर्थक व आमिर-शाहरुख जैसे मुसलमान किस मुंह से सहिष्णुता की बात करते हैं? आपातकाल के दौरान इंदिरा-संजय गांधी ने दिल्ली की जनता, खासकर मुसलमानों पर इतना अधिक जुल्म ढाया था [...]

गुरु तेगबहादुर की हत्‍या से भी ‪#‎Aurang...
गुरु तेगबहादुर की हत्‍या से भी ‪#‎Aurangzeb‬ को बरी करते हैं वामपंथी इतिहास लेखक!

संदीपदेव‬।ित और झूठे होते हैं, इसे देखना हो तो एनसीईआरटी की कक्षा- 11 के मध्‍यकालीन भारत का इतिहास पढ़ लीजिए। छत्रपति शिवाजी से लेकर गुरु तेगबहादुर तक के लिए एक वचन 'तुम' [...]

दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!...
दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!

आधी आबादी ब्‍यूरो, नई दिल्ली। जंगल बनता जा रहा है। बच्चों के लिए खेलने के लिए जगह नहीं बची है। पार्क भी धीरे-धीरे खत्म होते जा रहे हैं। अभिभावकों की [...]

नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदे...
नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदेश

दिल्‍ली।  कमल इंसटिट्यूट ऑफ हायर एडूकेशन के छात्र और छात्राओ ने 'बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ ' अभियान पर नुक्कड नाटक का आयोजन किया। 22 जनवरी 2015 को प्रधानमंत्री नरेंद्र [...]

असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के ब...
असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के बीच रहती हूं, लेकिन मैंने कभी भारत में भेदभाव महसूस नहीं किया!

सोफिया रंगवाला। पेशे से डॉक्टर हूं। बंगलोर में मेरी एक हाइ एण्ड लेजर स्किन क्लिनिक है। मेरा परिवार कुवैत में रहता है। मैं भी कुवैत में पली बढ़ी हूं लेकिन 18 साल [...]

प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम कर...
प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम करे, सूचना प्रसारण मंत्री को तो क्रिकेट डिप्‍लोमेसी से ही फुर्सत नहीं है!

संदीप देव।उटलुक पत्रिका के एक गलत खबर के कारण जो हंगामा हुआ और सदन को स्‍थगित करना पड़ा, इसका जिम्‍मेवार कौन है? क्‍या मोदी सरकार मीडिया के इस तरह के गैरजिम्‍मेवार और सबूत [...]

Other Articles