मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य

नींद न आने की बीमारी के शिकार हैं भारतीय!

नई दिल्ली। एक ताजा सर्वे में पाया गया है कि भारतीयों में नींद की समस्याएं भरपूर हैं लेकिन वह इसे गंभीरता से नहीं लेते हैं। फिलिप्स एंड नेलसन कंपनी ने अपने ताजा सर्वे में भारतीयों के सोने की आदतों का पता लगाया है। इसमें पाया गया कि 93 फीसद भारतीयों को आवश्यकतानुसार नींद नहीं मिलती। इनमें से ज्यादातर ऐसे हैं जिन्हें एक रात में आठ घंटे से कम की ही नींद मिलती है।

Read more...

कहीं आप भी नींद में तो नहीं कर रहे हैं सेक्‍स!

आजकल लोग नींद के दौरान कई अजीबोगरीब हरकतें कर रहे हैं, जिसमें सेक्‍स करने से लेकर खाना खाने और एसएमएस करने तक की क्रिया शामिल है। ब्रिटेन में इन परेशानियों के उपचार के लिए लोग मनोचिकित्‍सकों के पास जा रहे हैं। ब्रिटेन के मेंटल हेल्थ फ़ांउडेशन के अनुसार ब्रिटेन के तीस प्रतिशत लोग नींद से संबंधित किसी न किसी बीमारी के शिकार हैं। तो कहीं आप भी नींद के झोके में ही यौन क्रिया को तो नहीं अंजाम दे रहे हैं। अच्‍छी नींद से आप इस तरह की परेशानियों से बच सकते हैं।

Read more...

एचआईवी का पता लगते ही, सेक्स से मुंह फेर लेते हैं स्त्री पुरुष

नई दिल्ली। एचआईवी एड्स का पता लगते ही स्त्री पुरुष का सेक्स के प्रति रुझान में गिरावट आ जाता है। वह इस कदर depression से घिर जाते हैं कि सेक्‍स से उन्‍हें अरुचि हो जाती है और वह इससे मुंह फेर लेते हैं। एचआईवी एडस की जानकारी मिलते ही महिला और पुरुष दोनों के यौन व्‍यवहार में गिरावट आती है, लेकिन पुरुषों की मन:स्थिति अधिक चिंताजनक स्‍तर पर पहुंच जाती है।

Read more...

वीर्य महिलाओं को उबारता है डिप्रेशन से

न्‍यूयॉर्क। सेक्‍स महिलाओं को न केवल रिचार्ज करता है, बल्कि तनाव और अवसाद अर्थात डिप्रेशन (depression) से उबरने में भी उनकी मदद करता है। एक नए शोध में पता चला है कि पुरुषों के वीर्य में मौजूद रसायन महिलाओं के शरीर में रसायनिक बदलाव ले आता है, जिससे उनका मूड खुशगवार हो जाता है।

Read more...

दुनिया में सबसे अधिक तनाव में जी रही हैं भारतीय महिलाएं

दुनिया भर में महिलाएं इस वक्त खुद को बेहद तनाव और दबाव में महसूस करती हैं। यह समस्या आर्थिक तौर पर उभरते हुए देशों में ज्यादा दिख रही है। एक सर्वे में भारतीय महिलाओं ने खुद को सबसे ज्यादा तनाव में बताया। 21 विकसित और उभरते हुए देशों में कराए गए नीलसन सर्वे में सामने आया कि तेजी से उभरते हुए देशों में महिलाएं बेहद दबाव में हैं, लेकिन उन्हें आर्थिक स्थिरता और अपनी बेटियों के लिए शिक्षा के बेहतर अवसर मिलने की उम्मीद भी दूसरों के मुकाबले कहीं ज्यादा है। सर्वे में 87 प्रतिशत भारतीय महिलाओं ने कहा कि ज्यादातर समय वे तनाव में रहती हैं और 82 फीसदी का कहना है कि उनके पास आराम करने के लिए वक्त नहीं होता।

Read more...

नरसंहारी अमेरिका अब हमें सिखाएगा मानवता!...
नरसंहारी अमेरिका अब हमें सिखाएगा मानवता!

संदीप देव। विदेशी अखबार द इकोनोमिस्ट' की चिंता है कि क्या कोई नरेंद्र मोदी को रोक सकता है? वहीं अपने देश में मुसलमानों को दोयम दर्जे का नागरिक बनाकर उन पर निगरानी रखने वाले अमेरिका के सांसद भारत [...]

आज विज्ञान ओम की शक्ति को पहचान रहा है ज...
आज विज्ञान ओम की शक्ति को पहचान रहा है जबकि हमारे ऋषि-मुनी, योगी तो पहले ही इस तथ्य को जान चुके थे!

आधी आबादी ब्‍यूरो। कहा गया है। यह तथ्य भी उल्लेखित है कि तेजस तत्व के अधिष्ठाता भगवान भास्कर की तेज ऊर्जा के संग निकलने वाली ध्वनि में ओम स्वर उच्चरित होता है। [...]

समलैंगिकों में एचआईवी फैलने की आशंका सबस...
समलैंगिकों में एचआईवी फैलने की आशंका सबसे अधिक!

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने सभी स्वस्थ समलैंगिक पुरुषों से अपील की है कि वो एड्स से जुड़ी एंटीरेट्रोवायरल दवाएं लें ताकि एड्स को बढ़ने से रोका जा सके. संगठन का कहना है कि ऐसा करने से अगले दस वर्षों [...]

राजदीप सरदेसाई पत्रकार नहीं, विशुद्ध कां...
राजदीप सरदेसाई पत्रकार नहीं, विशुद्ध कांग्रेसी दलाल है!

संदीप देव।राजदीप सरदेसाई ने भारत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जिस तरह से अपमानित करने का प्रयास किया है, वह साफ तौर पर देशद्रोह की श्रेणी में आता है! यही नहीं, अमेरिका में बसे [...]

संभोग के लिए जा रही महिलाओं के मन में आख...
संभोग के लिए जा रही महिलाओं के मन में आखिर उस वक्‍त क्‍या चलता है!

एक आम महिला का सेक्स संबंधित बिहेवियर हमेशा से रहस्य के समान रहा है. यही कारण है कि उसकी सेक्स संबंधित गतिविधि को समझने के लिए कई रिसर्च किये जाते रहते हैं. खासकर साथी चुनने और सेक्स बिहेवियर [...]

मोदी के प्रधानमंत्री बनने से वामपंथी बुद...
मोदी के प्रधानमंत्री बनने से वामपंथी बुद्धिजीवियों में घबराहट

संदीप देव। वामपंथी इतिहासकार और विदेशी फंड पर पलने वाली रोमिला थापर को चिंता सता रही है कि नरेंद्र मोदी सरकार इतिहास की पुस्‍तकों में फेरबदल करवाएगी। जब वामपंथियों ने पूरे इतिहास में झूठ और अर्धसत्‍य भरा है तो सही [...]

भगवा अग्नि और सूरज की तरह खुद को जलाकर द...
भगवा अग्नि और सूरज की तरह खुद को जलाकर दूसरों के जीवन में रौशनी बिखेरने का प्रतीक है!

संदीप देव।हर भारतीय जीवन का आधार मान लें तो तिरंगे में तो भगवा रंग भी है। भगवा रंग अग्नि का रंग है, भगवा रंग सूरज की किरणों का रंग है-यही कारण है कि [...]

पढ़ना मत! अपनी मूर्खता को पकड़े रखना- कश...
पढ़ना मत! अपनी मूर्खता को पकड़े रखना- कश्‍मीरी पंडित के पूर्वजों ने मूर्खता की थी, उनकी अगली पीढ़ी गाजर-मूली की तरह काट दी गयी, भगा दी गयी! ‎

संदीपदेव‬।िचित्र बात है, वह अपने इतिहास से सबक लेने को तैयार ही नहीं है! और ऐसा नहीं कि यह आज की बात हो, यह हमारे पूर्वजों से चली आ रही मूढ़ता है, जिसका [...]

दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!...
दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!

आधी आबादी ब्‍यूरो, नई दिल्ली। जंगल बनता जा रहा है। बच्चों के लिए खेलने के लिए जगह नहीं बची है। पार्क भी धीरे-धीरे खत्म होते जा रहे हैं। अभिभावकों की [...]

नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदे...
नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदेश

दिल्‍ली।  कमल इंसटिट्यूट ऑफ हायर एडूकेशन के छात्र और छात्राओ ने 'बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ ' अभियान पर नुक्कड नाटक का आयोजन किया। 22 जनवरी 2015 को प्रधानमंत्री नरेंद्र [...]

असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के ब...
असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के बीच रहती हूं, लेकिन मैंने कभी भारत में भेदभाव महसूस नहीं किया!

सोफिया रंगवाला। पेशे से डॉक्टर हूं। बंगलोर में मेरी एक हाइ एण्ड लेजर स्किन क्लिनिक है। मेरा परिवार कुवैत में रहता है। मैं भी कुवैत में पली बढ़ी हूं लेकिन 18 साल [...]

प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम कर...
प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम करे, सूचना प्रसारण मंत्री को तो क्रिकेट डिप्‍लोमेसी से ही फुर्सत नहीं है!

संदीप देव।उटलुक पत्रिका के एक गलत खबर के कारण जो हंगामा हुआ और सदन को स्‍थगित करना पड़ा, इसका जिम्‍मेवार कौन है? क्‍या मोदी सरकार मीडिया के इस तरह के गैरजिम्‍मेवार और सबूत [...]

Other Articles