संपूर्ण स्वास्थ्य

महिलाओं में दिल की बीमारियां रह जाती हैं अनदेखी : WHO

कोलकाता। विश्व हृदय दिवस से एक दिन पहले विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने सोमवार को कहा कि भारतीय महिलाओं में दिल की बीमारियां अनदेखी रह जाती हैं और उनका इलाज नहीं होता।

Read more...

भारत में कम हुआ HIV का प्रकोप, एड्स से होने वाली मौतों में 41 फीसदी की कमी

भाषा, नई दिल्ली। संयुक्त राष्ट्र ने कहा है कि भारत वर्ष 2000 और 2014 के बीच एचआईवी संक्रमण के नए मामलों में 20 प्रतिशत से ज्यादा की कमी लाकर इस वायरस के प्रकोप को नियंत्रित करने में सफल रहा है। संयुक्त राष्ट्र द्वारा इस संबंध में जारी की गई एक रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि 2030 तक एड्स की महामारी को खत्म करने की दिशा में अग्रसर है।
इस रिपोर्ट का शीषर्क ‘किस तरह एड्स ने सबकुछ बदल दिया- सहस्त्राब्दी, विकास, लक्ष्य 6-15 वर्ष, एड्स पर प्रतिक्रिया से उम्मीद के 15 सबक’ है।

Read more...

अनाप-शनाप दवा खाने से पहले एक बार महिलाएं इस शोध को पढ़ लें

लंदन। दवाओं के प्रतिकूल प्रभाव के प्रति महिलाएं पुरुषों से अधिक संवेदनशील क्यों होती हैं, इसका जवाब वैज्ञानिकों को मिल गया है। इसका कारण कोशिकाओं की संवेदनशीलता होती है। एक नए अध्ययन में यह बात सामने आई है। महिलाएं खासकर जो रजोनिवृत्त हो चुकी हैं, की यकृत की कोशिकाएं दवाओं के दुष्प्रभावों के प्रति पुरुषों से ज्यादा संवेदनशील होती हैं।

Read more...

मोटापा, हृदय रोग, मधुमेह, उच्‍च रक्‍तचाप और अस्‍थमा के 90 फीसदी मामले ठीक कर रहे हैं स्‍वामी रामदेव

आधीआबादी ब्‍यूरो। स्‍वामी रामदेव के निर्देश और आचार्य बालकृष्‍ण की देखरेख में योग-आयुर्वेद का विभिन्‍न रोगों पर पड़ने वाले प्रभाव को लेकर देश में सबसे बड़ा अध्‍ययन चल रहा है। 'पतंजलि योगपीठ' स्थित 'योग अनुसंधान एवं विकास विभाग' ने योग के मनोदैहिक (मन एवं शरीर) प्रभावों का विस्तृत अध्ययन और विश्लेषण के लिए अभी तक 15 लाख लोगों को इस अध्‍ययन में शामिल किया गया है। इस प्रयोग में पतंजलि के डॉक्‍टरों व वैद्यों की टीम के अलावा विदेश की कई टीम भी शामिल है।

Read more...

भारतीय महिलाओं को तेजी से जकड़ रहा है स्‍तन और गर्भाशय का कैंसर!

भारत में महिलाओं में सबसे ज़्यादा होने वाला कैंसर - गर्भाशय (cervix cancer) कैंसर है। लेकिन भारत सरकार के नेशनल हेल्थ प्रोफाइल 2010 ने अनुमान लगाया है कि वर्ष 2020 तक स्तन कैंसर (breast cancer) इसकी जगह ले लेगा। वर्ष 2007 में जारी सरकारी आंकड़ों के मुताबिक भारत में सभी तरह के कैंसर के पंजीकृत मामलों में 36 फ़ीसदी स्तन और गर्भाशय कैंसर से जुड़े हैं।

Read more...

हनीमून के दौरान सेक्स से इनकार अत्याचार ...
हनीमून के दौरान सेक्स से इनकार अत्याचार नहीं: हाई कोर्ट

बॉम्बे हाई कोर्ट ने अपने एक फैसले में कहा है कि हनीमून के दौरान लाइफ पार्टनर का सेक्स से इनकार करना किसी प्रकार का अत्याचार नहीं है। कोर्ट ने इसके साथ ही इस आधार पर एक दंपती की शादी को [...]

आपका परफ्यूम और डियोडेरेंट आपके शुक्राणु...
आपका परफ्यूम और डियोडेरेंट आपके शुक्राणुओं की गति को कर सकता है कम!

लंदन। एड में डियोडेरेंट के प्रचार में पुरुषों पर लड़कियों को मरते, कूदते दिखाया जाता है, लेकिन सच्‍चाई बिल्‍कुल इसके उलट है। आपका तेज परफ्यूम और डियाटेरेंट आपके शुक्राणुओं की गतिशीलता को कम कर सकता है, [...]

धर्म के नाम पर इतना पाखंड ठीक नहीं है वै...
धर्म के नाम पर इतना पाखंड ठीक नहीं है वैदिक जी ! ‪

संदीप देव।रे होते हैं और सचमुच उसके अंदर कितना पाखंड भरा होता है, यह आप उसके पूरे आचरण और व्‍यवहार के आधार पर जान सकते हैं। वरिष्‍ठ पत्रकार वेदप्रताप वैदिक, फ्रांस के अखबार शार्ली [...]

शादी से पहले सेक्‍स आम बात है और शादी का...
शादी से पहले सेक्‍स आम बात है और शादी का वादा कर सेक्‍स करना बलात्‍कार नहीं है: अदालत

मुंबई। भारत बदल रहा है और ऐसा ही कुछ बॉम्बे हाई कोर्ट भी मानती है. हाई कोर्ट ने कहा है कि शादी का वादा कर संबंध बनाने का हर मामला बलात्कार नहीं होता, कोर्ट ने तो यह भी [...]

महिलाओं की माहवारी पर बीबीसी हिंदी की पे...
महिलाओं की माहवारी पर बीबीसी हिंदी की पेशकश: औरतों की माहवारीः कब तक जारी रहेगी शर्म?

रूपा झा, बीबीसी संवाददाता। ं से नही गुज़रने दूंगी जिससे मैं गुज़रती रही हूं." 32 साल की मंजू बलूनी की आवाज़ में एलान करने जैसी दृढ़ता [...]

स्‍त्री यौन स्‍ट्रोक: स्‍त्री का स्‍ट्रो...
स्‍त्री यौन स्‍ट्रोक: स्‍त्री का स्‍ट्रोक, पुरुष का नियंत्रण

आधी आबादी ब्‍यूरो।आसनों का वर्णन किया जाएगा, जिसमें स्‍ट्रोक तो पुरुष को लगाना पड़ता है, लेकिन सेक्‍स को पूरी तरह से स्‍त्री नियंत्रित करती है। इसमें आनंद दोनों को बराबर [...]

प्‍यार कब बन जाता है बलात्‍कार!...
प्‍यार कब बन जाता है बलात्‍कार!

राजेश चौधरी, नभाटा।ताई गई है लेकिन अगर उसमें धोखे की खाइयां आ जाएं तो इस सफर का अंजाम बुरा भी हो सकता है। उम्मीदों का बोझ और झूठे वादों की चुभन, [...]

बोलने की आजादी का मतलब चुप रहने का हक भी...
बोलने की आजादी का मतलब चुप रहने का हक भी होता है: शाहरुख खान

शाहरुख खान इन दिनों अपनी फिल्म ‘फैन’ के प्रमोशन में बिजी हैं। सोमवार को यहां फिल्म के ट्रेलर लॉन्च के दौरान उन्होंने कहा कि बोलने की आजादी का मतलब चुप रहने का हक भी होता है। मीडिया ने इन्टॉलरेंस के [...]

दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!...
दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!

आधी आबादी ब्‍यूरो, नई दिल्ली। जंगल बनता जा रहा है। बच्चों के लिए खेलने के लिए जगह नहीं बची है। पार्क भी धीरे-धीरे खत्म होते जा रहे हैं। अभिभावकों की [...]

नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदे...
नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदेश

दिल्‍ली।  कमल इंसटिट्यूट ऑफ हायर एडूकेशन के छात्र और छात्राओ ने 'बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ ' अभियान पर नुक्कड नाटक का आयोजन किया। 22 जनवरी 2015 को प्रधानमंत्री नरेंद्र [...]

असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के ब...
असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के बीच रहती हूं, लेकिन मैंने कभी भारत में भेदभाव महसूस नहीं किया!

सोफिया रंगवाला। पेशे से डॉक्टर हूं। बंगलोर में मेरी एक हाइ एण्ड लेजर स्किन क्लिनिक है। मेरा परिवार कुवैत में रहता है। मैं भी कुवैत में पली बढ़ी हूं लेकिन 18 साल [...]

प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम कर...
प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम करे, सूचना प्रसारण मंत्री को तो क्रिकेट डिप्‍लोमेसी से ही फुर्सत नहीं है!

संदीप देव।उटलुक पत्रिका के एक गलत खबर के कारण जो हंगामा हुआ और सदन को स्‍थगित करना पड़ा, इसका जिम्‍मेवार कौन है? क्‍या मोदी सरकार मीडिया के इस तरह के गैरजिम्‍मेवार और सबूत [...]

Other Articles