मोटापा, हृदय रोग, मधुमेह, उच्‍च रक्‍तचाप और अस्‍थमा के 90 फीसदी मामले ठीक कर रहे हैं स्‍वामी रामदेव

आधीआबादी ब्‍यूरो। स्‍वामी रामदेव के निर्देश और आचार्य बालकृष्‍ण की देखरेख में योग-आयुर्वेद का विभिन्‍न रोगों पर पड़ने वाले प्रभाव को लेकर देश में सबसे बड़ा अध्‍ययन चल रहा है। 'पतंजलि योगपीठ' स्थित 'योग अनुसंधान एवं विकास विभाग' ने योग के मनोदैहिक (मन एवं शरीर) प्रभावों का विस्तृत अध्ययन और विश्लेषण के लिए अभी तक 15 लाख लोगों को इस अध्‍ययन में शामिल किया गया है। इस प्रयोग में पतंजलि के डॉक्‍टरों व वैद्यों की टीम के अलावा विदेश की कई टीम भी शामिल है।

इस प्रयोग के अंतर्गत देखा जा रहा है कि योग व आयुर्वेद का किस बीमारी पर कितना प्रभाव पड़ा है। इस सैंपल में कैंसर व हृदय रोग से लेकर आम संक्रामक बीमारियों से पीडि़त मरीजों तक को शामिल किया गया है।  बड़े पैमाने पर इस सर्वेक्षण के परिणाम एवं उनकी रिपोर्टों के दस्तावेजीकरण का हो चुका है और अभी भी दस्‍तावेजीकरण का बड़ा कार्य जारी है।

अभी तक देश-विदेश के करीब 15 लाख लोगों पर यह सर्वेक्षण किया जा चुका है। इस अध्‍ययन में 25 से 50 आयु वर्ग के 59.12 फीसदी पुरुष एवं 40.88 फीसदी महिलाएं शामिल हुईं। योग विज्ञान के इस सर्वेक्षण में शामिल होने वाले 85.56 प्रतिशत व्यक्ति शिक्षित हैं, जिनमें से 43.69 फीसदी नौकरीपेशा वर्ग से आते हैं। सर्वे में शामिल लोगों में 57.29 फीसदी लोग शहरी एवं 42.71 फीसदी लोग ग्रामीण हैं।

अध्‍ययन में शामिल इन लोगों में 65.53 प्रतिशत लोगों ने कहा कि उन्होंने आस्था एवं अन्य टेलीविजन चैनल के माध्यम से स्वामी रामदेव का योग देखा, सीखा और उसे अपनाया है। वहीं 12.93 फीसदी लोगों ने बाबा रामदेव के गैर आवासीय योग शिविरों एवं 8.33 फीसदी लोगों ने आवासीय शिविर में शामिल होकर योग सीखा और उसे अपने नियमित जीवन का हिस्सा बनाया है।

योग करने वालों में से 80.88 फीसदी ने यह स्वीकार किया कि वह नियमित रूप से योग करते हैं। नियमित योग करने वालों में से 76.18 प्रतिशत लोगों ने कहा कि वह प्रतिदिन सुबह के समय योग करते हैं, जबकि 19.64 फीसदी लोग सुबह-शाम दोनों समय योग करने वालों में से हैं।

आचार्य बालकृष्ण के नेतृत्व में 'योग अनुसंधान एवं विकास विभाग' ने मोटापा से लेकर हृदय रोग तक और पारिवारिक जीवन से लेकर सामाजिक जीवन तक पर योग-प्राणायाम के असर का अध्ययन किया है।

अध्‍ययन में शामिल लोगों में से जिनको मोटापा की बीमारी थी, उनमें से 95.43 प्रतिशत लोगों को मोटापे में पूर्ण/आंशिक रूप से राहत मिली।

सर्वे में शामिल 18.46 फीसदी लोग उच्च रक्तचाप से पीडि़त थे। इनमें से 96.23 फीसदी लोगों ने स्वीकार किया कि योग-प्रणायाम से उनका रक्तचाप नियंत्रित हुआ है। 22.46 फीसदी लोग अर्थराइटिस से पीडि़त थे, जिनमें से 90.80 फीसदी लोगों ने यह कहा कि उनके जोड़ों के दर्द में कमी आई है।

सर्वे में शामिल 28.42 प्रतिशत लोग मधुमेह के शिकार थे। मधुमेह के शिकार 94.99 फीसदी लोगों ने कहा कि योग-प्रणायाम के कारण उनके मधुमेह का स्तर कम हुआ है। स्वामी रामदेव कहते हैं, ‘‘ मधुमेह रोगियों को लाभ पहुंचाने में योग अत्यंत कारगर है। अध्ययन में यह भी सामने आया है कि मधुमेह के कारण शरीर पर जो दूसरे विपरीत प्रभाव पड़ते हैं, उनको रोकने में भी प्रणायाम सक्षम हुआ है।’’

इस अध्ययन में शामिल होने वाले 13.48 फीसदी लोग हृदय रोग का शिकार थे। इन हृदय रोगियों में से 94.36 प्रतिशत ने कहा कि योग-प्रणायाम ने उनके जीवन में अविश्वसनीय परिणाम दिया है और उन्हें इसके कारण लाभ हुआ है।

प्रदूषण के कारण अस्थमा के रोगी लगातार बढ़ रहे हैं। सर्वे में भाग लेने वाले 11.53 फीसदी लोगों को अस्थमा की बीमारी थी। इनमें से 95.77 फीसदी ने यह स्वीकार किया कि जबसे उन्होंने योग-प्रणायाम को अपनाया है, तब से उन्हें अस्थमा का अटैक पड़ना बंद या फिर कम हो गया है। इसी प्रकार 93.67 फीसदी लोगों ने गुर्दा रोग में, 94.91 ने स्पाॅण्डीलाइटिस में, 93.67 फीसदी ने यकृत/ उदर रोग में एवं 91.71 फीसदी ने चर्म रोग में योग-प्रणायाम से पूर्ण या आंशिक लाभ की बात को स्वीकार किया।

 

बाबा रामदेव से संबंधित अन्‍य खबरें:

योग आयुर्वेद पर देश में सबसे बड़ा अध्‍ययन चल रहा है पतंजलि में

स्‍वामी रामदेव का अगला लक्ष्य, देश में पुन: वैदिक शिक्षा की स्थापना करना है

स्‍वामी रामदेव के खिलाफ कांग्रेस की हर साजिश का अब हो रहा है पर्दाफाश!

बाबा रामदेव के विरोधियों को नरेंद्र मोदी का तमाचा!

बाबा रामदेव ने प्रधानमंत्री मोदी के स्‍वच्‍छता अभियान को दी गति!

आप उन्‍हें क्‍या कहेंगे, प्रबंधक, इंजीनियर, लेखक, अनुसंधानकर्ता या फिर आयुर्वेदाचार्य...!

'पतंजलि फूड एवं हर्बल पार्क: 'स्‍वदेशी' को विचार से धरातल पर उतार दिया बाबा रामदेव ने!

हजारों 'अभिमन्‍यु' के जन्‍म को सफल बनाएंगे स्‍वामी रामदेव!

बेहद मिलनसार और देश पर सबकुछ न्‍यौछावर करने वाले संत हैं बाबा रामदेव

वैदिक के बाद अब आसान निशाना हैं बाबा रामदेव!


Web Title: swami ramdev mission-yoga and ayurveda-1

Keywords: बाबा रामदेव| बाबा रामदेव के योग| बाबा रामदेव जी| बाबा रामदेव का बयान| स्‍वामी रामदेव| स्‍वामी रामदेव जी| योग गुरू स्‍वामी रामदेव| योग गुरू| योग ऋषि रामदेव| पतंजलि योगपीठ| योग प्रणायाम|आचार्यकुलम| baba ramdev| baba ramdev yoga| baba ramdev news| baba ramdev medicines| baba ramdev news in hindi| Patanjali Yogpeeth - Divya Yog Madir (Trust)| Yoga Pranayama| acharyakulam| acharya kulam patanjali yogpeeth haridwar

तथ्‍य न मेरे होते हैं और न तुम्‍हारे...।...

संदीप देव।ॉसोपी को न समझने वाले मुझ पर लगातार हमलावर हैं। वो समझ नहीं पा रहे हैं कि मैं किस विचारधारा का हूं, इसलिए पूछते रहते हैं कि आपने पहले तो फलां व्‍यक्ति की ओलाचना की [...]

महिला दिवस की औपचारिकताएं छोडि़ए, पहले उ...
महिला दिवस की औपचारिकताएं छोडि़ए, पहले उन्‍हें न्‍याय दिलाने के लिए कदम उठाइए!

संदीप देव। करने वाला इंसान हूं और हर हाल में कानून का पालन करता हूं। लेकिन जिस तरह से नागालैंड के दीमापुर में घटनाएं हुई वह कानून नहीं, समाज के अंदर का सवाल है। फास्‍ट [...]

बिहार की हार में भाजपा के खलनायक: विकास ...

संदीप देव।ें जीत के बाद जब वार्ड क्लाइव ने कलकत्ता में प्रवेश किया तो जनता तमाशाई बनी अपने घरों से न केवल झांक रही थी, बल्कि उसका स्वागत भी कर रही थी! क्लाइव लिखता [...]

बचपन से ही बोल्‍ड ख्‍यालात की थी कंगना र...
बचपन से ही बोल्‍ड ख्‍यालात की थी कंगना रनौत

कंगना रनौत भले ही फिल्मफेयर और नैशनल अवॉर्ड जीतने के बाद बॉलिवुड की क्वीन बन गई हों, लेकिन उनके लिए मायानगरी का सफर जरा-भी आसान नहीं रहा है। अपने ख्वाब को पूरा करने के लिए कंगना को बहुत [...]

मदर टेरेसा का धर्मांतरण से कितना है नाता...

By एबीपी न्यूज, नई दिल्ली।मदर टेरेसा की पहचान गरीबों के लिए काम करने वाले मसीहा की जैसी है लेकिन इस बार चर्चा है उनकी सेवा के पीछे [...]

असहिष्णुता: आमिर खान के पूर्वज मौलाना आज...
असहिष्णुता: आमिर खान के पूर्वज मौलाना आजाद ने भी देश को शर्मसार करने में कसर नहीं छोड़ी थी!

संदीप देव।आप देश छोड़ने की बात कर रहे हैं वैसा ही कुछ हाल आपके पुरखे मौलाना आज़ाद का भी था . वो तो नेहरू ने उन्हें कांग्रेस का मुस्लिम पोस्टर बॉय बना रखा था [...]

'हाँ मैं एक औरत हूं, मेरे पास स्तन है, आ...
'हाँ मैं एक औरत हूं, मेरे पास स्तन है, आपको कोई समस्या है'

एक अंग्रेज़ी अख़बार के अपने ट्विटर अकाउंट पर पोस्ट किए गए वीडियो और उसके साथ के ट्वीट पर दीपिका पादुकोण का जवाब ट्विटर पर ज़बरदस्त ट्रेंड कर रहा है और कई हस्तियों ने खुलकर इस मामले में दीपिका का साथ [...]

ब्‍लैक मनी पर अपनी सरकार की और कितनी फजी...
ब्‍लैक मनी पर अपनी सरकार की और कितनी फजीहत कराएंगे माननीय वित्‍त मंत्री जी!

संदीप देव।भाजपा को अच्‍छी तरह से नुकसान पहुंचा दिया तो आज काले धन की सूची मीडिया में लीक करवा रहे हैं। पहले कह रहे थे सूची जारी नहीं कर सकते, क्‍योंकि देशों के आपसी [...]

दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!...
दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!

आधी आबादी ब्‍यूरो, नई दिल्ली। जंगल बनता जा रहा है। बच्चों के लिए खेलने के लिए जगह नहीं बची है। पार्क भी धीरे-धीरे खत्म होते जा रहे हैं। अभिभावकों की [...]

नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदे...
नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदेश

दिल्‍ली।  कमल इंसटिट्यूट ऑफ हायर एडूकेशन के छात्र और छात्राओ ने 'बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ ' अभियान पर नुक्कड नाटक का आयोजन किया। 22 जनवरी 2015 को प्रधानमंत्री नरेंद्र [...]

असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के ब...
असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के बीच रहती हूं, लेकिन मैंने कभी भारत में भेदभाव महसूस नहीं किया!

सोफिया रंगवाला। पेशे से डॉक्टर हूं। बंगलोर में मेरी एक हाइ एण्ड लेजर स्किन क्लिनिक है। मेरा परिवार कुवैत में रहता है। मैं भी कुवैत में पली बढ़ी हूं लेकिन 18 साल [...]

प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम कर...
प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम करे, सूचना प्रसारण मंत्री को तो क्रिकेट डिप्‍लोमेसी से ही फुर्सत नहीं है!

संदीप देव।उटलुक पत्रिका के एक गलत खबर के कारण जो हंगामा हुआ और सदन को स्‍थगित करना पड़ा, इसका जिम्‍मेवार कौन है? क्‍या मोदी सरकार मीडिया के इस तरह के गैरजिम्‍मेवार और सबूत [...]

Other Articles