अनाप-शनाप दवा खाने से पहले एक बार महिलाएं इस शोध को पढ़ लें

लंदन। दवाओं के प्रतिकूल प्रभाव के प्रति महिलाएं पुरुषों से अधिक संवेदनशील क्यों होती हैं, इसका जवाब वैज्ञानिकों को मिल गया है। इसका कारण कोशिकाओं की संवेदनशीलता होती है। एक नए अध्ययन में यह बात सामने आई है। महिलाएं खासकर जो रजोनिवृत्त हो चुकी हैं, की यकृत की कोशिकाएं दवाओं के दुष्प्रभावों के प्रति पुरुषों से ज्यादा संवेदनशील होती हैं।

 

अध्ययन के मुताबिक, यह पहले से ही ज्ञात है कि यकृत को नुकसान पहुंचाने वाली दवाएं पुरुषों से अधिक महिलाओं को प्रभावित करती हैं, लेकिन पहली बार यह बात सामने आई है कि यह प्रभाव कोशिकीय स्तर पर होता है।

अध्ययन में कहा गया है, "हमारे निष्कर्ष में यह बात सामने आई है कि महिलाओं की कोशिकाएं कुछ दवाओं के दुष्प्रभावों के प्रति अधिक संवेदनशील होती हैं।"

अध्ययन के लिए यूरोपियन कमीशन ज्वाइंट रिसर्च सेंटर ने महिला व पुरुषों के शरीर से लिए गए यकृत कोशिकाओं पर पांच दवाओं (डाइक्लोफेनेक, क्लोरप्रोमाजीन, एसीटामिनोफेन, वेरापामिल तथा ओमेप्राजोल) का अध्ययन किया। इन दवाओं का यकृत पर दुष्प्रभाव पहले से ही ज्ञात है।

अध्ययन के दौरान महिलाओं (रजोनिवृत्त) के यकृत की कोशिकाएं ज्यादा संवेदनशील पाई गईं। यह अध्ययन पत्रिका 'पीएलओएस ओएनई' में प्रकाशित हुआ है।

Web Title: women health issues-1

Sreenivasan Jain edits embarrassing port...
Sreenivasan Jain edits embarrassing portions from Ramdev’s interview, gets exposed

Atul Asthana,  bwoyblunder We had writte [...]

प्लेब्वॉय मैगजीन के लिए शर्लिन चोपड़ा की...
प्लेब्वॉय मैगजीन के लिए शर्लिन चोपड़ा की न्‍यूड फोटोशूट की तस्वीरें आईं सामने

दो साल पहले शर्लिन चोपड़ा के प्लेब्वॉय मैगजीन के लिए किए गए न्यूड फोटोशूट की बहुत चर्चा हुई थी. कुछ लोगों को भले ही इस फोटोशूट की खबरें याद न हो लेकिन कुछ लोग ऐसे भी हैं जो बेसब्री [...]

'पतंजलि फूड एवं हर्बल पार्क: 'स्‍वदेशी' ...
'पतंजलि फूड एवं हर्बल पार्क: 'स्‍वदेशी' को विचार से धरातल पर उतार दिया बाबा रामदेव ने!

संदीप देव, पतंजलि योगपीठ, हरिद्वार से लौटकर। बाबा रामदेव ने स्‍वदेशी के विचार को धरातल पर उतार कर आरएसएस से लेकर राजीव दीक्षित तक के स्‍वदेशी आंदोलन को मरने से बचा लिया है। स्‍वामी रामदेव के अनुसार, [...]

बाबा रामदेव के विरोधियों को नरेंद्र मोदी...
बाबा रामदेव के विरोधियों को नरेंद्र मोदी का तमाचा!

संदीप देव, नई दिल्‍ली। ्वारा विश्‍व मानव समाज को दी गई 'योग' विद्या को आधुनिक समय में बाबा रामदेव ने अंतरराष्‍ट्रीय पहचान दिलाई है, इसमें शायद ही किसी को शक [...]

हिंदू महिलाओं को यौन गुलाम बनाने में सबस...
हिंदू महिलाओं को यौन गुलाम बनाने में सबसे आगे रहा मुगल बादशाह शाहजहां!

ठाकुर शिवकुमार राघव ।जब हम पढ़ते हैं कि वह अल्‍पसंख्‍यक यजीदी महिलाओं को यौन गुलाम बना रहा है तो हमें आश्‍चर्य होता है। लेकिन आपको जानकर आश्‍चर्य होगा कि दिल्‍ली सल्‍तनत के सुल्‍तानों [...]

विकास रोकना और सरकारों को अस्थिर करना ही...
विकास रोकना और सरकारों को अस्थिर करना ही मुख्‍य मकसद है विदेशी फंडेड एनजीओ का

संदीप देव, नई दिल्‍ली। एनजीओ (स्वयंसेवी संगठन) पर आई खुफिया ब्यूरो की रिपोर्ट के बाद विदेशी फंड पर चलने वाली एनजीओ ने लॉबिंग शुरू कर दी है। उनकी तरफ से एक सुर में कहा जाने लगा है [...]

भारत एक धर्मभीरू देश है जो कट्टरता को भी...
भारत एक धर्मभीरू देश है जो कट्टरता को भी जायज ठहराता है!

संदीप देव। पत्रकारों व कार्टूनिस्‍टों की हत्‍या के बाद दुनिया भर के पत्रकारों और बुद्धिजीवियों ने जहां इस्‍लामी कटटरता को अपनी कलम से जबरदस्‍त जवाब दिया है, वहीं भारत दुनिया का अकेला मुल्‍क है जहां एक [...]

धर्म नहीं, राष्‍ट्र है व्‍यक्ति की सही प...
धर्म नहीं, राष्‍ट्र है व्‍यक्ति की सही पहचान!

संदीप देव।ं (सिर्फ कटटर लिख रहा हूं, इसलिए उदार मुस्लिम इससे खुद को न जोडें) से कहना चाहता हूं कि जहां से इस्‍लाम निकला था, वह देश ही जब धर्म से अधिक राष्‍ट्र [...]

दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!...
दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!

आधी आबादी ब्‍यूरो, नई दिल्ली। जंगल बनता जा रहा है। बच्चों के लिए खेलने के लिए जगह नहीं बची है। पार्क भी धीरे-धीरे खत्म होते जा रहे हैं। अभिभावकों की [...]

नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदे...
नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदेश

दिल्‍ली।  कमल इंसटिट्यूट ऑफ हायर एडूकेशन के छात्र और छात्राओ ने 'बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ ' अभियान पर नुक्कड नाटक का आयोजन किया। 22 जनवरी 2015 को प्रधानमंत्री नरेंद्र [...]

असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के ब...
असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के बीच रहती हूं, लेकिन मैंने कभी भारत में भेदभाव महसूस नहीं किया!

सोफिया रंगवाला। पेशे से डॉक्टर हूं। बंगलोर में मेरी एक हाइ एण्ड लेजर स्किन क्लिनिक है। मेरा परिवार कुवैत में रहता है। मैं भी कुवैत में पली बढ़ी हूं लेकिन 18 साल [...]

प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम कर...
प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम करे, सूचना प्रसारण मंत्री को तो क्रिकेट डिप्‍लोमेसी से ही फुर्सत नहीं है!

संदीप देव।उटलुक पत्रिका के एक गलत खबर के कारण जो हंगामा हुआ और सदन को स्‍थगित करना पड़ा, इसका जिम्‍मेवार कौन है? क्‍या मोदी सरकार मीडिया के इस तरह के गैरजिम्‍मेवार और सबूत [...]

Other Articles