More .........


शादी से पहले सेक्‍स आम बात है और शादी का...
शादी से पहले सेक्‍स आम बात है और शादी का वादा कर सेक्‍स करना बलात्‍कार नहीं है: अदालत

मुंबई। भारत बदल रहा है और ऐसा ही कुछ बॉम्बे हाई कोर्ट भी मानती है. हाई कोर्ट ने कहा है कि शादी का वादा कर संबंध बनाने का हर मामला बलात्कार नहीं होता, कोर्ट ने तो यह भी [...]

लंबे समय तक शारीरिक संबंध बनाने से इनकार...
लंबे समय तक शारीरिक संबंध बनाने से इनकार बन सकता है तलाक का आधारः सुप्रीम कोर्ट

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने व्यवस्था दी है कि लंबे समय तक जीवनसाथी को सेक्स करने की अनुमति नहीं देना मानसिक क्रूरता है और यह तलाक का आधार हो सकता है।

बाल विवाह बलात्‍कार से भी बदतर है...
बाल विवाह बलात्‍कार से भी बदतर है

नयी दिल्ली: दिल्‍ली के अदालत ने बाल विवाह को बलात्कार से भी बदतर बुराई बताता है. अदालत ने कहा इसे समाज से पूरी तरह समाप्त होना चाहिए. कार्ट ने कम उम्र में बच्ची का विवाह करने वालों [...]

अपने कर्मचारियों को कार और घर बांटने वाल...
अपने कर्मचारियों को कार और घर बांटने वाले सावजी ने 169 रुपए से शुरू की थी नौकरी!

नई दिल्ली। अपने कर्मचारियों को दिवाली के मौके पर बोनस के तौर पर कार, गहने और घर जैसे उपहार देने वाली कंपनी हरिकृष्णा एक्सपोर्ट्स और उसके मालिक सव्जी ढोलकिया की कहानी बेहद दिलचस्प है।1978 में [...]

पुस्‍तक के जरिए भोजपुरी अस्मिता की तलाश...
पुस्‍तक के जरिए भोजपुरी अस्मिता की तलाश

नई दिल्‍ली। भोजपुरी को संविधान की आठवीं अनुसूची में शामिल करने की मांग एक बार फिर बहुत जोर-शोर से उठाई गई है। अवसर था भोजपुरी समाज दिल्‍ली द्वारा इंडिया इंटरनेशनल सेंटर में आयोजित समाज के अध्‍यक्ष अजीत दुबे द्वारा [...]

आप प्रतिक्रिया मत दीजिए, बल्कि मसीह-मोहम...

संदीप देव।ने इतिहास अभियान को लेकर मैं जो कुछ लिख रहा हूं, उसमें कुछ वामपंथी-सेक्‍यूलर-इस्‍लामी जमात घुसकर उसे संदर्भ से काटकर लोगों को भटकाने की लगातार कोशिश कर रहे हैं। ओशो ने [...]

बिहार की हार में भाजपा के खलनायक: विचारध...
बिहार की हार में भाजपा के खलनायक: विचारधारा के 'अर्जुनों' को भूल कर चलने का खामियाजा अभी कई और बिहार के रूप में सामने आ सकता है!

संदीप देव‬।खासकर, सोशल मीडिया स्ट्रेटजिस्ट रहे प्रशांत किशोर ने Narendra Modi को छोड़कर नीतीश का दामन थाम लिया और नीतीश की जीत [...]

पत्रकार-दलाल-नौकरशाह-कारपोरेट गठजोड़ पिछ...

संदीप देव।लय में पिछले कई वर्षों से जिस तरह जासूसी का खेल चल रहा था, उसका पर्दाफाश यह दर्शाता है कि मीडिया-दलाल-नौकरशाह-कंपनियों का नेक्‍सस किस तरह गहराई तक देश को घुन की तरह खा [...]

दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!...
दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!

आधी आबादी ब्‍यूरो, नई दिल्ली। जंगल बनता जा रहा है। बच्चों के लिए खेलने के लिए जगह नहीं बची है। पार्क भी धीरे-धीरे खत्म होते जा रहे हैं। अभिभावकों की [...]

नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदे...
नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदेश

दिल्‍ली।  कमल इंसटिट्यूट ऑफ हायर एडूकेशन के छात्र और छात्राओ ने 'बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ ' अभियान पर नुक्कड नाटक का आयोजन किया। 22 जनवरी 2015 को प्रधानमंत्री नरेंद्र [...]

असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के ब...
असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के बीच रहती हूं, लेकिन मैंने कभी भारत में भेदभाव महसूस नहीं किया!

सोफिया रंगवाला। पेशे से डॉक्टर हूं। बंगलोर में मेरी एक हाइ एण्ड लेजर स्किन क्लिनिक है। मेरा परिवार कुवैत में रहता है। मैं भी कुवैत में पली बढ़ी हूं लेकिन 18 साल [...]

प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम कर...
प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम करे, सूचना प्रसारण मंत्री को तो क्रिकेट डिप्‍लोमेसी से ही फुर्सत नहीं है!

संदीप देव।उटलुक पत्रिका के एक गलत खबर के कारण जो हंगामा हुआ और सदन को स्‍थगित करना पड़ा, इसका जिम्‍मेवार कौन है? क्‍या मोदी सरकार मीडिया के इस तरह के गैरजिम्‍मेवार और सबूत [...]

Other Articles