next page →
औरंगजेब इस देश का पहला बादशाह था, जिसने ...
औरंगजेब इस देश का पहला बादशाह था, जिसने दस्‍तावेजी रूप से भारत का विभाजन किया!

‪‎संदीपदेव‬।खने और उसके क्रूर करतूतों को एक विशेषांक पत्रिका निकाल कर जन-जन तक पहुंचाने की मुहिम क्‍या मैंने छेड़ी, मेरे कई मुसलमान मित्र मुझसे नाराज [...]

महिलाओं की माहवारी पर बीबीसी हिंदी की पे...
महिलाओं की माहवारी पर बीबीसी हिंदी की पेशकश: अगर मर्दों को मासिक धर्म होता!

सुमिरन प्रीत कौर बीबीसी संवाददाता।र बात कर पाती हैं और न ही परंपरागत भारतीय समाज में आमतौर पर ऐसे विषयों पर बात करने की इजाज़त है. [...]

नालंदा विश्‍विद्यालय में सात विषयों की ह...
नालंदा विश्‍विद्यालय में सात विषयों की होगी पढ़ाई

नालंदा अंतरराष्ट्रीय विश्वविद्यालय की मूल भावना प्राचीन महाविहार की तर्ज पर होगी। तत्कालीन महाविहार में बौद्ध धर्म के महायान और हीनयान सम्प्रदायों के धार्मिक ग्रंथों के अलावा हेतुविद्या (न्याय), शब्द विद्या (व्याकरण), चिकित्सा विद्या [...]

हिंदू हैं तो आदि गुरु शंकराचार्य के रास्...

संदीप देव।नवर है, जैसे कि घोड़ा एक जानवर है. तो फिर उसे गोमाता कैसे कहा जा सकता है.?" जस्टिस मार्केंडेय काटजू साहब पूछ रहे हैं। और वह यह भी पूछ [...]

असहिष्णुता: क्‍या आप जानते हैं शाहरुख खा...
असहिष्णुता: क्‍या आप जानते हैं शाहरुख खान की मां आपातकाल में संजय गांधी की उस टीम में शामिल थीं, जिसने मुसलमानों के जबरन नसबंदी का फैसला किया था!

संदीप देव। पर जिन तथ्‍यों सामने रख रहा हूं, उससे पहले बहुत कम लोग परिचित थे और यह दर्शाता है कि कांग्रेस-वामपं‍थियों ने किस तरह झूठ की बुनियाद पर देश का पूरा इतिहास लिखा [...]

दिमाग तेज करना है तो सीखें दो भाषा!...
दिमाग तेज करना है तो सीखें दो भाषा!

आईएएनएस। वाशिंगटन।हैं, तो दो भाषाएं सीखें क्योंकि एक नए शोध में यह बात सामने आई है कि दो भाषा सीखने वालों का दिमाग अन्य की तुलना में तेज होता है। ऐसा [...]

अब युवतियों को नहीं चाहिए कुंवारा पति!...
अब युवतियों को नहीं चाहिए कुंवारा पति!

बदलाव की बयार से भारतीय समाज अब अछूता नहीं रह गया है. खासकर सेक्स को लेकर देश के युवक-युवतियों के खयाल एकदम बदले-बदले नजर आ रहे हैं. हाल ही में एक सर्वे के दौरान यह बात [...]

Aurangzeb‬ के पक्ष में वही लोग खड़े हैं,...
Aurangzeb‬ के पक्ष में वही लोग खड़े हैं, जो आतंकी याकून मेनन के लिए खड़े थे!

संदीपदेव‬।ी बनाने और जहरीले तेल से उनकी मालिश कर उसकी हत्‍या कराने वाले, बड़े भाई दारा शिकोह को नृशंसतापूर्वक मारने वाले, सूफी संत सरमद को जामा मस्जिद की सीढ़ी पर कत्‍ल करवाने वाले, [...]

दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!...
दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!

आधी आबादी ब्‍यूरो, नई दिल्ली। जंगल बनता जा रहा है। बच्चों के लिए खेलने के लिए जगह नहीं बची है। पार्क भी धीरे-धीरे खत्म होते जा रहे हैं। अभिभावकों की [...]

नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदे...
नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदेश

दिल्‍ली।  कमल इंसटिट्यूट ऑफ हायर एडूकेशन के छात्र और छात्राओ ने 'बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ ' अभियान पर नुक्कड नाटक का आयोजन किया। 22 जनवरी 2015 को प्रधानमंत्री नरेंद्र [...]

असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के ब...
असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के बीच रहती हूं, लेकिन मैंने कभी भारत में भेदभाव महसूस नहीं किया!

सोफिया रंगवाला। पेशे से डॉक्टर हूं। बंगलोर में मेरी एक हाइ एण्ड लेजर स्किन क्लिनिक है। मेरा परिवार कुवैत में रहता है। मैं भी कुवैत में पली बढ़ी हूं लेकिन 18 साल [...]

प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम कर...
प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम करे, सूचना प्रसारण मंत्री को तो क्रिकेट डिप्‍लोमेसी से ही फुर्सत नहीं है!

संदीप देव।उटलुक पत्रिका के एक गलत खबर के कारण जो हंगामा हुआ और सदन को स्‍थगित करना पड़ा, इसका जिम्‍मेवार कौन है? क्‍या मोदी सरकार मीडिया के इस तरह के गैरजिम्‍मेवार और सबूत [...]

Other Articles