स्‍त्री यौन स्‍ट्रोक: स्‍त्री का स्‍ट्रोक, पुरुष का नियंत्रण

आधी आबादी ब्‍यूरो। संभोग के इस पोजीशन में कुछ ऐसे आसनों का वर्णन किया जाएगा, जिसमें स्‍ट्रोक तो पुरुष को लगाना पड़ता है, लेकिन सेक्‍स को पूरी तरह से स्‍त्री नियंत्रित करती है। इसमें आनंद दोनों को बराबर मिलता हैा संभोग की इस कला में पुरुष को खुद के स्‍ट्रोक से अधिक अपनी महिला साथी के नियंत्रण में रहने में मजा आता है।

महिला पुरुष साथी से अपने आनंद व मस्‍ती के हिसाब से स्‍ट्रोक लगवा सकती है और पुरुष उसकी आंखों में झांकते हुए, उसके शरीर से छेड़छाड़ करते हुए एक आज्ञा पालक बालक की तरह नियंत्रित होता है। इन आसनों में संभोग के चरम तक पहुंचा जा सकता है, पुरुष लिंग के तेज घर्षण से स्‍त्री अपने G-spot को आनंद की चरम अवस्‍था तक उत्‍तेजित कर सकती है। इन आसनों में स्‍त्री को ऑर्गेज्‍म की प्राप्ति सहज होती है और पुरुष अपने संगिनी के चरम पर पहुंचने की तृप्ति से तृत्‍त हो उठता है।

नटी आसन
इस आसन में पुरुष अपनी पीठ के बल लेट जाए। उसके बाद स्‍त्री घुटनों तक अपने पैर बिस्‍तर पर सीधा कर ले और पुरुष के उत्‍तेजक लिंग के उपर अपनी योनि को ले जाए। वह धीरे धीरे योनि को लिंग में प्रवेश कराएं। लिंग में योनि के पूर्ण प्रवेश के उपरांत महिला अपने कमर से खुद को पीछे की ओर झुकाते हुए पुरुष के पैर पर पीठ के बल लेट जाए। इसमें थोड़ी कठिनाई आएगी, लेकिन बार-बार के अभ्‍यास के बाद इस आसन में सहजता आ जाएगी। अब स्‍ट्रोक लगाने की बारी पुरुष की है। वह महिला के शरीर को सहारा देते हुए अपनी कमर को ऊपर उठाकर स्‍ट्रोक लगाए।

इसमें दोनों को एक अलग तरह की मस्‍ती का अहसास होगा। इस आसन में स्‍त्री के पीछे झुकने से योनि लिंग से फंस जाता है, जिससे योनि का लिंग पर नियंत्रण या कसाव बढ़ जाता है। जब पुरुष स्‍ट्रोक लगाता है तो दोनों को कहीं गहरे तृप्ति का अहसास होता हैा संभोग को अधिक आनंददायक बनाने के लिए पुरुष अपने हाथों से महिला के स्‍तनों, उसके पेट, नाभी क्षेत्र आदि को सहला सकता है। इसमें स्‍त्री को एक कलाबाज नटी की तरह अपने शरीर को लचीला बनाना पड़ता है, इसलिए इसे नटी आसन कहना अधिक उचित है।

आसान बनाने के उपाए
आसन को आसान बनाने के लिए पुरुष अपने कमर के नीचे तकिया रख सकता है। छोटे लिंग वाले पुरुषों के लिए यह बेहतर होगा, क्‍योंकि इससे लिंग योनि में अधिक अंदर तक जा सकेगा और आसन थोड़ा आसान हो जाएगा।

उकड़ू आसन
यह नटी आसान का ही थोड़ा आसान तरीका है। इसमें महिला पुरुष के ऊपर उकड़ू होकर बैठ जाती है और धीरे-धीरे अपनी योनि उसके लिंग में प्रवेश कराती है। उकड़ू बैठे होने की वजह से स्‍त्री को अपने घुटने से पैर के निचले हिस्‍से तक का पूरा सपोर्ट मिलता है, जिससे स्‍ट्रोक को तेज करने में मदद मिलती है। ज्‍यों-ज्‍यों स्‍ट्रोक के लिए उसका शरीर ऊपर-नीचे होता है उसकी गति बढ़ती जाती है। इस आसन में महिला को अपने ऑर्गेज्‍म प्राप्ति का अनुभव होता रहता है, जिसके अनुरूप वह स्‍ट्रोक में गति बढ़ाती चली जाती है। पुरुष महिला के स्‍तन को थाम सकता है, उसे मसलते हुए अपने साथी का आनंद बढ़ा सकता है।

तीव्रता बढ़ाने के लिए
उकड़ू आसन की तीव्रता और योनि में पुरुष लिंग की गहराई बढ़ाने के लिए महिला स्‍ट्रोक को रोक कर पुरुष लिंग पर बैठे-बैठे ही बिस्‍तर पर अपनी जांघ हल्‍का खोल दे और अपने शरीर के ऊपरी हिस्‍से को चाहे तो पुरुष के ऊपर हल्‍का झुका दे। पुरुष अपने हाथ से उसके कमर को सहारा दे। इससे स्‍ट्रोक के द्वारा योनि व लिंग के घर्षण की तीव्रता बढ़ जाती है और लिंग पर योनि का दबाव बढ़ाने में स्‍त्री को मदद मिलती है।

उल्‍टा प्रवेश
इसमें स्‍त्री का नितंब पुरुष के चेहरे की ओर और स्‍त्री का मुंह पुरुष के पैर की ओर होता है। वास्‍तव में नटी पोजीशन में थोड़ा बदलाव लाते हुए स्‍त्री को अपना चेहरा पुरुष चेहरे की ओर से मोड़ कर उसे पैर की ओर करना है। इसमें भी महिला बिस्‍तर पर घुटनों को टिकाते हुए लिंग के ऊपर उल्‍टी दिशा से अपनी योनि रखती है और फिर स्‍ट्रोक देती है।

इसमें पुरुष पीठ के बल होता है और महिला उसके चेहरे की ओर पीठ करके उसके लिंग के उपर घुटनों के बल आकर प्रवेश कराती है। स्‍त्री पुरुष के पांवों पर अपना हाथ टिकाकर अपने शरीर को सहारा देती है। इस आसन में स्‍त्री के जी स्‍पॉट पर लिंग का तेज घर्षण होता है, जिससे स्‍त्री को चरम सुख का अनुभव होता है। इसमें स्‍ट्रोक लगाने में भी आसानी होती है।

थोड़ा बदलाव
स्‍त्री का शरीर यदि अधिक लचीला है तो वह अपने शरीर के ऊपरी हिस्‍से को कमर से मोड़ते हुए अपने पीठ वाले हिस्‍से को पुरुष के चेहरे की ओर झुला सकती है, इससे पुरुष की पहुंच में स्‍त्री का स्‍तन, पेट, नाभी क्षेत्र आ जाता है, जिसे सहलाकर स्‍त्री के आनंद को बढ़ाया जा सकता है। लेकिन ऐसी स्थिति में स्‍ट्रोक का भार पुरुष पर आ जाता है, क्‍योंकि संतुलन बनाने में स्‍त्री अपना नियंत्रण खो देती है।

* स्‍त्री यौन स्‍ट्रोक: जब संभोग के समय ऊपर हो स्‍त्री

 

* स्‍त्री यौन स्‍ट्रोक: विपरीत रति, नए आनंद की पहल   

 

* स्‍त्री यौन स्‍ट्रोक: स्‍त्री का स्‍ट्रोक, पुरुष का नियंत्रण

 

* स्‍त्री यौन स्‍ट्रोक: स्‍त्री का पावर स्‍ट्रोक

 

* स्‍त्री यौन स्‍ट्रोक: स्‍त्री का मास्‍टर स्‍ट्रोक

 

* स्‍त्री यौन स्‍ट्रोक: स्‍त्री का पसंदीदा स्‍ट्रोक

 

* स्‍त्री यौन स्‍ट्रोक: स्‍त्री का फुर्तीला स्‍ट्रोक

 

* स्‍त्री यौन स्‍ट्रोक: स्‍त्री का विस्‍फोटक स्‍ट्रोक

 

* स्‍त्री यौन स्‍ट्रोक: स्‍त्री का चेयर स्‍ट्रोक

 

* स्‍त्री यौन स्‍ट्रोक: स्‍त्री का टेबल टॉप स्‍ट्रोक

 

* स्‍त्री यौन स्‍ट्रोक: उल्‍टी घुड़सवारी का मजा

 

* स्‍त्री यौन स्‍ट्रोक: स्‍त्री का पश्‍चगमन और पश्‍च मर्दन

'नारी कामसूत्र' दृष्टिकोण से उपलब्‍ध कुछ महत्‍वपूर्ण लेख...

 

* सेक्‍स के दौरान स्‍त्री को कब और कैसे होता है चरम तृप्ति का अहसास?

 

* स्‍त्री और पुरुष के संभोग की अनुभूति है बिल्‍कुल अलग

 

* खड़े होकर संभोग से मिलेगी नई अनुभूति

 

* कामसूत्र के मुताबिक स्त्रियों के लिए 64 कलाएं

 

* कामसूत्र के अनुसार खेलें प्‍यार में चुंबन का जुआ

 

* यौन‍ क्रिया को तीव्र बनाता है ऊपरी होठों का चुंबन

 

* संभोग में सीधे प्रवेश की जगह करें चुंबन से शुरुआत

 

* संभोग में उतरने से पहले फोर प्‍ले में करें दंतक्षत का प्रयोग

 

* स्त्रियां कैसे करें संभोग में पहल

 

* विभिन्‍न प्रदेशों की नारियां और उनका यौन जीवन

 

* संभोगरत स्‍त्री अपनी यौन उत्‍तेजना नाखुनों के खरोंच और गहरे दबाव से दर्शाती है

 

* सेक्‍स को आनंददायक बनाता है आसन

 

* स्‍त्री, संभोग और सच्‍चाई

 

* गर्भावस्‍था के दौरान संभोग में बरतें सावधानी

 

* परिचय से लेकर संभोग तक आलिंगन सुख

 

* स्‍त्री कामोत्‍तेजना का केंद्र क्‍लाइटोरिस

 

* जी स्‍पॉट: योनि की आंतरिक दीवार पर ऑर्गेज्‍म!

 

* स्त्री-पुरुष श्रेणी और संभोग

 

* कामसूत्र और प्रेम

 

* स्‍त्री-पुरुष में कामोत्‍तेजना के लक्षण

 

Web Title : woman-on-top-sex-positions-3

Keyword : Sex Position - Woman On Top | woman on top sex positions| Woman on top|Best sex positions for women| cowgirl or riding position| sex positions| woman straddles man| best woman on top sex positions|TOP G SPOT SEX POSITIONS for FEMALE| G SPOT ORGASM|Woman Orgasm|Easy Sex Positions|Sex Positions| hot sex positions| love moves| love making| Love Making Positions|Best Sex Positions to Make Her Orgasm| Women  Sex Tips| Great Sex Positions|Great Sexual Positions for Women| कामसूत्र| कामसूत्र आसन| सेक्‍स आसन| सेक्‍स पोजीशन|सेक्स आसन - जब महिला ऊपर हो| बेस्ट कामसूत्र सेक्स पोजिशन| कामसूत्र के आसन| कामसूत्र काम आसन वात्स्यायन का कामसूत्र| बेहतर सेक्स के लिए कामसूत्र के आसन| क्‍या है संभोग करने का सही तरीका| सेक्स के हॉट पोजीशंस| काम कला| रति क्रिया| मैथुन| संभोग| सेक्‍स| बेहतरीन सेक्‍स पोजीशन| सहवास| यौन आसन |यौन क्रिया|

किस ऑफ लव वालों पहले लव का अर्थ समझ लो, ...
किस ऑफ लव वालों पहले लव का अर्थ समझ लो, फिर सड़क पर रतिक्रिया करना!

संदीप देव।ी संस्‍कृति की समझ नहीं रखते, वह दूसरे देश की संस्‍कृति को समझेंगे, यह मानना भी निरी मूर्खता है। हां, वो दूसरे देश की संस्‍कृति की अंध नकल जरूर कर सकते [...]

Sreenivasan Jain edits embarrassing port...
Sreenivasan Jain edits embarrassing portions from Ramdev’s interview, gets exposed

Atul Asthana,  bwoyblunder We had writte [...]

नालंदा विश्‍विद्यालय में सात विषयों की ह...
नालंदा विश्‍विद्यालय में सात विषयों की होगी पढ़ाई

नालंदा अंतरराष्ट्रीय विश्वविद्यालय की मूल भावना प्राचीन महाविहार की तर्ज पर होगी। तत्कालीन महाविहार में बौद्ध धर्म के महायान और हीनयान सम्प्रदायों के धार्मिक ग्रंथों के अलावा हेतुविद्या (न्याय), शब्द विद्या (व्याकरण), चिकित्सा विद्या [...]

औरंगजेब इस देश का पहला बादशाह था, जिसने ...
औरंगजेब इस देश का पहला बादशाह था, जिसने दस्‍तावेजी रूप से भारत का विभाजन किया!

‪‎संदीपदेव‬।खने और उसके क्रूर करतूतों को एक विशेषांक पत्रिका निकाल कर जन-जन तक पहुंचाने की मुहिम क्‍या मैंने छेड़ी, मेरे कई मुसलमान मित्र मुझसे नाराज [...]

जिंस, हिल और स्‍कर्ट...
जिंस, हिल और स्‍कर्ट

संदीप देव।दास ने महिलाओं के जिंस पहनने का विरोध किया, लेकिन गलती उन्‍होंने वह की, जो भारत के लोग शुरु से करते रहे हैं! उन्‍होंने कहा कि महिलाओं का जिंस पहनना भारतीय संस्‍कृति के [...]

पुरुष ही नहीं, महिलाएं भी होती हैं स्‍वप...
पुरुष ही नहीं, महिलाएं भी होती हैं स्‍वप्‍नदोष की शिकार!

स्वप्नदोष का नाम सुनते ही शर्मिंदा हो जाने वाले पुरुष अब राहत की सांस ले सकते हैं. इस बीमारी के बारे में माना जाता रहा है कि यह सिर्फ पुरुषों को ही होता है. लेकिन अध्‍ययनों से पता [...]

क्‍वांटिको में प्रियंका चोपड़ा का बोल्‍ड...
क्‍वांटिको में प्रियंका चोपड़ा का बोल्‍ड हॉलिवुड अवतार

अमेरिकी टीवी शो ‘क्वांटिको’ के एक नए प्रोमो में अदाकारा प्रियंका चोपड़ा एक बार फिर बोल्ड अंदाज में दिखी है। इस बार उनका लुक इस टीवी सीरियल में बिल्कुल अलग दिख रहा है और फिल्म में अभिनेता की भूमिका निभा [...]

गांधी जी और शास्‍त्री जी में कुछ समानता,...
गांधी जी और शास्‍त्री जी में कुछ समानता, लेकिन ढेर सारी असमानता!

‪संदीपदेव‬।ालबहादुर शास्‍त्री- दोनों की जयंती है। दोनों में कुछ बातें समान थीं, जैसे- दोनों बेहद सादगी से जीते थे और दोनों स्‍वयं के प्रति ईमानदार थे। दोनों में एक और बात कॉमन [...]

दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!...
दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!

आधी आबादी ब्‍यूरो, नई दिल्ली। जंगल बनता जा रहा है। बच्चों के लिए खेलने के लिए जगह नहीं बची है। पार्क भी धीरे-धीरे खत्म होते जा रहे हैं। अभिभावकों की [...]

नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदे...
नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदेश

दिल्‍ली।  कमल इंसटिट्यूट ऑफ हायर एडूकेशन के छात्र और छात्राओ ने 'बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ ' अभियान पर नुक्कड नाटक का आयोजन किया। 22 जनवरी 2015 को प्रधानमंत्री नरेंद्र [...]

असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के ब...
असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के बीच रहती हूं, लेकिन मैंने कभी भारत में भेदभाव महसूस नहीं किया!

सोफिया रंगवाला। पेशे से डॉक्टर हूं। बंगलोर में मेरी एक हाइ एण्ड लेजर स्किन क्लिनिक है। मेरा परिवार कुवैत में रहता है। मैं भी कुवैत में पली बढ़ी हूं लेकिन 18 साल [...]

प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम कर...
प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम करे, सूचना प्रसारण मंत्री को तो क्रिकेट डिप्‍लोमेसी से ही फुर्सत नहीं है!

संदीप देव।उटलुक पत्रिका के एक गलत खबर के कारण जो हंगामा हुआ और सदन को स्‍थगित करना पड़ा, इसका जिम्‍मेवार कौन है? क्‍या मोदी सरकार मीडिया के इस तरह के गैरजिम्‍मेवार और सबूत [...]

Other Articles