फैशन ट्रेंड

लड़कियों को रिझाने के लिए सज संवर कर ऑफिस आते हैं लड़के!

नई दिल्ली। देश में लड़कियों की नौकरियों में भागीदारी बढ़ने से आर्थिक स्थिति मजबूत होने से जहां एक ओर उनके पर्स में पैसे भरने लगे हैं वहीं दूसरी ओर लड़कों की जेब ढीली होने लगी है। देश के प्रमुख औद्योगिक संगठन भारतीय उद्योग और वाणिज्य मंडल एसोचैम द्वारा अंतर्राष्ट्रीय युवा दिवस के अवसर पर कराये गये एक सर्वेक्षण में यह खुलासा हुआ है कि युवा सौंदर्य प्रसाधान, डिजाइनर कपड़ों और महंगे मोबाइल काफी ज्यादा खर्च करने लगे हैं। कार्यस्थल पर युवतियों की संख्या बढ़ने से युवाओं का सौंदर्य प्रसाधन, ब्रांडेड कपड़ों और महंगे मोबाइल पर खर्च काफी अधिक बढ़ गया है।

Read more...

यह नेल आर्ट का जमाना है

साधारण रूप में नाखूनों को रंगना गुजरे जमाने का फैशन है। आजकल युवा लडकियां डिजाइनर नेल आर्ट पसंद कर रही हैं। इस आर्ट से सजे नाखूनों से लडकियों की पर्सनल्टी और मूड में चार चांद लग जाते हैं। उनकी पसंद को देखते हुए डिजाइनर्स ने एक से बढ़कर एक नेल आर्ट पैटर्न तैयार किए हैं।

Read more...

लड़कियों पर खूब फबता है हॉट पैंट

फैशनपरस्‍त लड़कियों में आज हॉट पैंट का जादू सिर चढ़कर बोल रहा है। कॉलेज जाने वाली लड़कियां हो या नई नवेली विवाहिता, इनके बीच हॉट पैंट का फैशन बेहद चलन में हैं। कुछ तो आंटी उम्र की महिलाएं भी आपको हॉट पैंट पहने नई दिल्‍ली के कनॉट प्‍लेस में दिख जाएंगी। हॉट पैंट लड़कियों को न केवल हॉट लुक देता है, बल्कि लेटेस्‍ट फैशन की उनकी समझ के पैमाने पर भी उन्‍हें फिट साबित करता रहता है। हाल यह है कि मां-बाप से इजाजत नहीं मिलने पर लड़कियां अपनी सहेलियों के घर पर जिंस उतार रही हैं और वहां से हॉट पैंट पहनकर बाहर फंकी होकर घूम रही हैं।

Read more...

सुंदरता के बाजार से जन्‍मी नई विषमता!...
सुंदरता के बाजार  से जन्‍मी नई विषमता!

संजय कुमार बलौदिया। पिछले दिनों द इंटरनेशनल सोसायटी ऑफ एस्थेटिक प्लास्टिक सर्जरी का सर्वे प्रकाशित हुआ जिसके मुताबिक कॉस्मेटिक सर्जरी के मामले में अमेरिका, चीन और ब्राजील के बाद भारत चौथे स्थान पर आता है। यह आंकड़ा भारत की [...]

आज भी पुरुष नारी शरीर के स्‍तन पर ही होत...
आज भी पुरुष नारी शरीर के स्‍तन पर ही होता है सबसे पहले मोहित!

सेक्‍स और इससे जुड़ी हर बात हमेशा से ही लोगों का ध्‍यान अपनी ओर खींचती रही है. इस विषय पर लगातार रिसर्च भी होते रहते हैं. अब इंडिया टुडे सेक्‍स सर्वे 2013 की रिपोर्ट [...]

एक जीवन में दो जन्‍मों की सजा पाने वाले ...
एक जीवन में दो जन्‍मों की सजा पाने वाले एक मात्र क्रांतिकारी वीर सावरकर!

संदीप देव। हाप्रयाण दिवस है। 26 फरवरी 1966 को वह इस दुनिया से प्रस्‍थान कर गए। लेकिन इससे केवल 56 वर्ष व दो दिन पहले 24 [...]

Anti-development activities by the NGOs ...
Anti-development activities by the NGOs in India

As a first step to fast-tracking develop [...]

पुस्‍तक के जरिए भोजपुरी अस्मिता की तलाश...
पुस्‍तक के जरिए भोजपुरी अस्मिता की तलाश

नई दिल्‍ली। भोजपुरी को संविधान की आठवीं अनुसूची में शामिल करने की मांग एक बार फिर बहुत जोर-शोर से उठाई गई है। अवसर था भोजपुरी समाज दिल्‍ली द्वारा इंडिया इंटरनेशनल सेंटर में आयोजित समाज के अध्‍यक्ष अजीत दुबे द्वारा [...]

मोदी के प्रधानमंत्री बनने से वामपंथी बुद...
मोदी के प्रधानमंत्री बनने से वामपंथी बुद्धिजीवियों में घबराहट

संदीप देव। वामपंथी इतिहासकार और विदेशी फंड पर पलने वाली रोमिला थापर को चिंता सता रही है कि नरेंद्र मोदी सरकार इतिहास की पुस्‍तकों में फेरबदल करवाएगी। जब वामपंथियों ने पूरे इतिहास में झूठ और अर्धसत्‍य भरा है तो सही [...]

गौ हत्‍या पर मृत्‍युदंड, केवल महाराजा रण...
गौ हत्‍या पर मृत्‍युदंड, केवल महाराजा रणजीत सिंह और बहादुरशाह जफर ने किया था प्रावधान

संदीप देव।ञान से यह बता सकते हैं कि इस देश में कौन-कौन से वो शासक रहे हैं, जिन्‍होंने गौ-हत्‍या के लिए मृत्‍युदंड का विधान अपने राज्‍य में किया था। मीर कासिम से पहले [...]

नरसंहारी अमेरिका अब हमें सिखाएगा मानवता!...
नरसंहारी अमेरिका अब हमें सिखाएगा मानवता!

संदीप देव। विदेशी अखबार द इकोनोमिस्ट' की चिंता है कि क्या कोई नरेंद्र मोदी को रोक सकता है? वहीं अपने देश में मुसलमानों को दोयम दर्जे का नागरिक बनाकर उन पर निगरानी रखने वाले अमेरिका के सांसद भारत [...]

दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!...
दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!

आधी आबादी ब्‍यूरो, नई दिल्ली। जंगल बनता जा रहा है। बच्चों के लिए खेलने के लिए जगह नहीं बची है। पार्क भी धीरे-धीरे खत्म होते जा रहे हैं। अभिभावकों की [...]

नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदे...
नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदेश

दिल्‍ली।  कमल इंसटिट्यूट ऑफ हायर एडूकेशन के छात्र और छात्राओ ने 'बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ ' अभियान पर नुक्कड नाटक का आयोजन किया। 22 जनवरी 2015 को प्रधानमंत्री नरेंद्र [...]

असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के ब...
असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के बीच रहती हूं, लेकिन मैंने कभी भारत में भेदभाव महसूस नहीं किया!

सोफिया रंगवाला। पेशे से डॉक्टर हूं। बंगलोर में मेरी एक हाइ एण्ड लेजर स्किन क्लिनिक है। मेरा परिवार कुवैत में रहता है। मैं भी कुवैत में पली बढ़ी हूं लेकिन 18 साल [...]

प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम कर...
प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम करे, सूचना प्रसारण मंत्री को तो क्रिकेट डिप्‍लोमेसी से ही फुर्सत नहीं है!

संदीप देव।उटलुक पत्रिका के एक गलत खबर के कारण जो हंगामा हुआ और सदन को स्‍थगित करना पड़ा, इसका जिम्‍मेवार कौन है? क्‍या मोदी सरकार मीडिया के इस तरह के गैरजिम्‍मेवार और सबूत [...]

Other Articles