परिधान | आभूषण

खरीदने से पहले डायमंड ज्‍वेलरी की कर लें जांच

एक ब्रांडेड डायमंड ज्‍वेलरी की कंपनी विज्ञापन में आपसे कहती है कि 'हीरा है सदा के लिए'...लेकिन अच्‍छा हो यदि आप किसी विज्ञापन पर विश्‍वास करने की जगह खरीददारी के वक्‍त ज्‍वेलरी की जांच खुद कर लें तो इसके असली-नकली होने का पता आपको खुद चल जाएगा। वैसे ब्रांडेड ज्‍वेलरी के नकली होने की संभावना न के बराबर रहती है, लेकिन फिर भी यदि ज्‍वेलर्स इसमें मिलावट कर दे तो आप अपनी परख से खुद को लुटने से बचा तो सकती हैं।

Read more...

लड़कियों पर खूब फबता है स्‍टॉल

लड़कियों को कब क्या पसन्द आ जाए और किस चीज को फैशन में ले आए पता ही नहीं चलता है । इनके इरादों का पता लगाना बेहद मुश्किल होता है,क्योंकि इनको जब जो मन होता है उसे ही ये फैशन में ले आती हैं । आजकल लड़कियों को पुराने दिनों के स्टॉल बहुत ज्यादा पसन्द आ रहे हैं। स्‍टॉल सर्दी के दिनों में कान को भी ढंक रहा है और लड़कियों के फैशन में चार चांद भी लगा रहा है।

Read more...

स्‍तनों के सौंदर्य के लिए हमेशा चुनें सही माप का ब्रा

नई दिल्‍ली। सुडौल, पुष्ट और उन्नत स्तन स्‍त्री सौंदर्य का आकर्षण है। उन्‍नत स्‍तनों के बिना स्‍त्री खुद को अधूरा महसूस करती है। स्‍तनों के सौंदर्य को निखारने के लिए आज की स्त्रियां ब्रेस्‍ट इंप्‍लांटेशन तक का सहारा ले रही हैं, लेकिन विशेषज्ञों की मानें तो किशोरावस्‍था से ही गलत माप का ब्रा पहनने की वजह से उम्र बढ़ने के साथ स्‍तनों का सौंदर्य भी जाता रहता है। शुरू से ही यदि सही माप का ब्रा पहना जाए तो बड़ी उम्र तक स्त्रियों का स्तन कभी ढीले और बेडौल नहीं होंगे।

Read more...

अब युवतियों को नहीं चाहिए कुंवारा पति!...
अब युवतियों को नहीं चाहिए कुंवारा पति!

बदलाव की बयार से भारतीय समाज अब अछूता नहीं रह गया है. खासकर सेक्स को लेकर देश के युवक-युवतियों के खयाल एकदम बदले-बदले नजर आ रहे हैं. हाल ही में एक सर्वे के दौरान यह बात [...]

याकूब मेनन के जनाजे में शामिल हर व्‍यक्त...
याकूब मेनन के जनाजे में शामिल हर व्‍यक्ति अलगाववादी या फिर आतंक समर्थक था!

संदीपदेव‬।ल तथागत राय ने सही ट्वीट किया है कि याकूब की मैय्यत में शामिल हर व्यक्ति आतंकवादी हो सकता है। उन पर आईबी को नजर रखनी चाहिए। इतिहास गवाह है कि सन् 1937 [...]

कृष्‍ण ने अर्जुन से कहा, हे अर्जुन वृक्ष...
कृष्‍ण ने अर्जुन से कहा, हे अर्जुन वृक्षों में मैं पीपल हूं। लेकिन आखिर पीपल ही क्‍यों?

संदीप देव।: सर्ववृक्षाणां देवर्षीणां च नारद: हे अर्जुन वृक्षों में मैं पीपल हूं और देवर्षियों में नारद। कदम्‍ब के पेड़ के नीचे रास [...]

धर्मांतरण रोकने के लिए जिन्‍होंने शस्‍त्...
धर्मांतरण रोकने के लिए जिन्‍होंने शस्‍त्र उठाया, सूअर पाला, हिंदुओं ने उन्‍हें ही अछूत बना डाला!

संदीप देव।ठता हूं तो काफी तकलीफों से घिर जाता हूं। आखिर किस तरह से अंग्रेज व वामपंथी-कांग्रेसी इतिहासकारों ने हमारे गर्व को कुचला है और हमें अपने ही भाईयों से जुदा कर दिया है, [...]

दुनिया के ऐसे क्रूर शासक, जिन्‍होने आम ज...
दुनिया के ऐसे क्रूर शासक, जिन्‍होने आम जनता को गाजर-मूली की तरह काटा!

नई दिल्‍ली। शासक और नेता रहे हैं, जिनके इशारों पर खूनों की नदियां बहा दी गईं। कुछ पुराने जमाने के शासक स्वयं ही बेहद सधे योद्धा थे, जिनकी तलवारों के सामने कोई टिक नहीं [...]

दुनिया की सबसे वैज्ञानिक लिपि है देवनागर...
दुनिया की सबसे वैज्ञानिक लिपि है देवनागरी लिपि

‪संदीपदेव‬।निक लिपि है देवनागरी लिपि। देखिए, देवनागरी का पहला अक्षर है 'अ' अर्थात 'अज्ञान' और देवनागरी का आखिरी अक्षर है 'ज्ञ' अर्थात 'ज्ञान'। देवनागरी मतलब- ' [...]

इस्‍लामी कटरता व आतंकवाद का आखिरी निशाना...
इस्‍लामी कटरता व आतंकवाद का आखिरी निशाना हिंदुस्‍तान ही है!

संदीप देव।ार इस्‍लामी आतंकवादी संगठन बोको हराम ने खतरनाक इस्‍लामी आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (IS) से हाथ मिला लिया है। बोको हराम ने इस्लामिक स्टेट समूह के प्रति अपनी औपचारिक निष्ठा जाहिर की [...]

वेद में आदर्श स्त्री शिक्षा का वर्णन...
वेद में आदर्श स्त्री शिक्षा का वर्णन

डा. अशोक आर्य। जिन शिक्षाओं को आवश्यक माना है , उनमें पाक शिक्षा प्रमुख है | वास्तव में स्त्री शिक्षा के वैदिक आधार में पाक शिक्षा को अत्यावश्यक माना गया है | [...]

दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!...
दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!

आधी आबादी ब्‍यूरो, नई दिल्ली। जंगल बनता जा रहा है। बच्चों के लिए खेलने के लिए जगह नहीं बची है। पार्क भी धीरे-धीरे खत्म होते जा रहे हैं। अभिभावकों की [...]

नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदे...
नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदेश

दिल्‍ली।  कमल इंसटिट्यूट ऑफ हायर एडूकेशन के छात्र और छात्राओ ने 'बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ ' अभियान पर नुक्कड नाटक का आयोजन किया। 22 जनवरी 2015 को प्रधानमंत्री नरेंद्र [...]

असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के ब...
असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के बीच रहती हूं, लेकिन मैंने कभी भारत में भेदभाव महसूस नहीं किया!

सोफिया रंगवाला। पेशे से डॉक्टर हूं। बंगलोर में मेरी एक हाइ एण्ड लेजर स्किन क्लिनिक है। मेरा परिवार कुवैत में रहता है। मैं भी कुवैत में पली बढ़ी हूं लेकिन 18 साल [...]

प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम कर...
प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम करे, सूचना प्रसारण मंत्री को तो क्रिकेट डिप्‍लोमेसी से ही फुर्सत नहीं है!

संदीप देव।उटलुक पत्रिका के एक गलत खबर के कारण जो हंगामा हुआ और सदन को स्‍थगित करना पड़ा, इसका जिम्‍मेवार कौन है? क्‍या मोदी सरकार मीडिया के इस तरह के गैरजिम्‍मेवार और सबूत [...]

Other Articles