कविता: ओह मां !

संजू मिश्रा। ओह मां !

आज माँ नहीं है,
कोई माँ जैसा भी नही है।

माँ के जाते वह बचपन भी नही है।
बची है तो
बचपन की यादें
दिल की मुरादे
प्यार से गुस्सा, गुस्से में भी प्यार,
स्नेह का स्पर्श , वह मीठा सा दुलार।

अब ये सब
कहाँ से लाऊँ, कहाँ से पाऊ
माँ नहीं है और
कोई माँ जैसा भी नही है।


समय का हाल
लम्बा अंतराल
मैं भी बड़ी हो गई
बच्ची से युवा और फिर माँ हो गई।
मैं भी अपनी प्यारी बेटी की माँ हूँ।
उसकी खुशियों की चाह हूँ।

पर माँ
जब मैं उसे बुलाती हूँ
तो अनायास मुझे लगता है तुम बुला रही हो,
कुछ बता रही हो, कुछ सिखा रही हो।

पर सच्चाई है,
आज माँ नहीं है
कोई माँ जैसी भी नही है।

Web title: poem on mother-1
Keywords: poem on mother| मां| माता| मां पर कविता| मेरी मां| ओ मां| मां जैसी कोई नहीं|

सेक्‍यूलर हिंदू अपने डीएनए की जांच अवश्‍...

संदीप देव। हिंदू संगठनों को सुनियोजित तरीके से बदनाम किया जाता है। सुन्नी उलेमा काउंसिल के महासचिव की अगुवाई में मुस्लिम उलेमा के एक प्रतिनिधिमंडल ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के पदाधिकारी इंद्रेशजी से मुलाकात कर [...]

भारत में कम हुआ HIV का प्रकोप, एड्स से ह...
भारत में कम हुआ HIV का प्रकोप, एड्स से होने वाली मौतों में 41 फीसदी की कमी

भाषा, नई दिल्ली। कि भारत वर्ष 2000 और 2014 के बीच एचआईवी संक्रमण के नए मामलों में 20 प्रतिशत से ज्यादा की कमी लाकर [...]

हिंदुत्‍व व राष्‍ट्रवाद की पैरोकार पार्ट...
हिंदुत्‍व व राष्‍ट्रवाद की पैरोकार पार्टी 'जनसंघ' के सहयोग से हुआ था अल्‍पसंख्‍यक आयोग का गठन!

संदीप देव।्य होगा कि इस देश में अल्‍पसंख्‍यकों, खासकर मुस्लिमों के तुष्टिकरण की बुनियाद पर खड़ी कांग्रेस ने अल्‍पसंख्‍यक आयोग का  गठन नहीं किया था। बल्कि पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी व कांग्रेस पार्टी की हार के [...]

एक महिला की सफल माउंटेन बाइकर बनने की कह...
एक महिला की सफल माउंटेन बाइकर बनने की कहानी

प्रियंका दुबे मेहता। एक सामान्य धारणा है कि महिलाएं अच्छे से कार नहीं चला सकतीं। बाइक चलाना उनके बस की बात नहीं है। ऐसे में महिलाओं की ड्राइविंग स्किल पर कई चुटकुले भी बने हैं। लोग महिलाओं की ड्राइविंग कौशल [...]

शशि कपूर एक फिल्‍म में तौलिया में बाथरूम...
शशि कपूर एक फिल्‍म में तौलिया में बाथरूम में जाते और दूसरी फिल्‍म में पैंट का बटन लगाते हुए बाहर निकलते!

भारत सरकार ने मशहूर फिल्म अभिनेता और निर्माता शशि कपूर को फिल्मों में उनके योगदान के लिए दादा साहब फाल्के पुरस्कार देने की घोषणा की है। शशि कपूर हिंदी सिनेमा के युगपुरुष कहे जाने वाले महान कलाकार पृथ्वीराज कपूर के [...]

कश्‍मीर से 370 को हटाने का एक बार प्रयास...
कश्‍मीर से 370 को हटाने का एक बार प्रयास वहां के मुस्लिम मुख्‍यमंत्री ही कर चुके हैं

संदीप देव। पूर्व प्रधानमंत्री (1964 to 1965) एवं मुख्‍यमंत्री (1965-71) गुलाम मोहम्‍मद सादिक अकेले शख्‍स हैं, [...]

पापा मेरी बलि न दो, मैं बीज हूं!...
पापा मेरी बलि न दो, मैं बीज हूं!

संजू मिश्रा।ैं बीज हूं,
हरियाली तीज हूं ।

हिंदुओं की जातिप्रथा ने उन्‍हें हर बार ह...
हिंदुओं की जातिप्रथा ने उन्‍हें हर बार हराया

संदीप देव।्‍हारी जातिवादी मानसिकता ने इतिहास मे तुम्‍हें किस तरह से हराया है... कुछ उदाहरण दे रहा हूं, ठीक से पढो मैं कह चुका हूं मैं जेहादी और जातिवादी को पशु से [...]

दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!...
दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!

आधी आबादी ब्‍यूरो, नई दिल्ली। जंगल बनता जा रहा है। बच्चों के लिए खेलने के लिए जगह नहीं बची है। पार्क भी धीरे-धीरे खत्म होते जा रहे हैं। अभिभावकों की [...]

नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदे...
नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदेश

दिल्‍ली।  कमल इंसटिट्यूट ऑफ हायर एडूकेशन के छात्र और छात्राओ ने 'बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ ' अभियान पर नुक्कड नाटक का आयोजन किया। 22 जनवरी 2015 को प्रधानमंत्री नरेंद्र [...]

असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के ब...
असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के बीच रहती हूं, लेकिन मैंने कभी भारत में भेदभाव महसूस नहीं किया!

सोफिया रंगवाला। पेशे से डॉक्टर हूं। बंगलोर में मेरी एक हाइ एण्ड लेजर स्किन क्लिनिक है। मेरा परिवार कुवैत में रहता है। मैं भी कुवैत में पली बढ़ी हूं लेकिन 18 साल [...]

प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम कर...
प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम करे, सूचना प्रसारण मंत्री को तो क्रिकेट डिप्‍लोमेसी से ही फुर्सत नहीं है!

संदीप देव।उटलुक पत्रिका के एक गलत खबर के कारण जो हंगामा हुआ और सदन को स्‍थगित करना पड़ा, इसका जिम्‍मेवार कौन है? क्‍या मोदी सरकार मीडिया के इस तरह के गैरजिम्‍मेवार और सबूत [...]

Other Articles