संस्मरण | यात्रा वृत्‍तांत

jim corbett के अंदर जब हमने उसका पीछा किया!

सौरभ गुप्‍ता....Jim Corbett यात्रा का अगला पड़ाव। हाथी से उतर कर हम अपने कमरे मे नहीं गए, हम इतने ज्यादा उत्साहित थे कि वहां खड़े लोगो के पास ही रुक गए क्योकि वो लोग बहुत ज्यादा उत्सुक थे सब कुछ जानने के लिए। वैसे भी यह बहुत रोमांचक अनुभव था। कुछ देर वहां रहने के बाद हम अपने कमरे की ओर चल दिए। कुछ थकान भी महसूस हो रही थी इसलिए चाहते थे कि नहा कर थोड़ी देर कमर सीधी कर लें। थोड़ी देर कमर सीधी करने के दौरान भी दिमाग मे सिर्फ दिन का अनुभव था।

Read more...

jim corbett में हाथी के हमलावर होने पर पता चला, अरे हम तो हथिनी पर सवार हैं!

सौरभ गुप्‍ता, jim corbett से लौटकर। जब तक मै नौकरी कर रहा था तो हम 6 लोगो का एक ग्रुप था जो एक साथ ही घूमने जाते थे और हर दो महीने में कहीं न कही का कार्यक्रम बना ही लेते थे। अब तो ऐसे कार्यक्रम बनते ही नहीं है। हम छह लोगो में  मै, भगवानदास जी, मनमोहन, मनोज, योगेश, और भाटिया जी हैं।

साथियों संग हथिनी की सफारी!

Read more...

एक अनुभव … दक्षिण यात्रा का !!!

मोनिका गुप्ता। 13 तीयदी चेन्नई, कोवलम कन्याकुमारी बन्नो .येनके स्थानम इस्तापतू वराले वराले नलद स्थलम. काडाली आडीता नल्ल climate सुगम उनडे .कडल तीरमाला वेलर वेलर वलद. नी आवडे पोगमन नल्ले स्थलम. वराले वराले नलद स्थलम … ओह अईयो , दैईवा सैईद (सॉरी)!!!

Read more...