अर्थ जगत

योग गुरु से बिजनस टाइकून बने बाबा रामदेव, 2000 करोड़ का FMCG कारोबार

नई दिल्ली। भले ही योग और एफएमसीजी का संयोजन एक-दूसरे से एकदम उलट हो (योग आंतरिक शांति के लिए और एफएमसीजी बाहरी सौंदर्य के लिए) लेकिन बाबा रामदेव ने इन दोनों ही क्षेत्रों में एकदम सटीक 'आसन' लगाया है। 'आसान, योग' से दुनिया भर में लोकप्रिय हुए रामदेव को उनके डेली यूज एफएमसीजी प्रॉडक्ट्स जिनमें साबुन से लेकर मस्टर्ड तेल और कॉर्नफ्लैक्स तक के दम पर इस इंडस्ट्री में भी अपनी धाक जमा दी है।

Read more...

अर्थव्यवस्था की सेहत का अंदाजा पुरुषों के जांघियों की बिक्री से लगता है!

अमरीका के सबसे ताकतवर अर्थशास्त्रियों में से एक एलन ग्रीनस्पैन ने कभी कहा था कि किसी अर्थव्यवस्था की सेहत का अंदाजा वहां पुरुषों के जांघिये की बिक्री से लगाई जा सकती है. फेडेरल रिज़र्व के भूतपूर्व चेयरमेन एलन ग्रीनस्पैन मानते थे कि ये खर्च के लिए उपलब्ध आय को मापने का पैमाना थे.

Read more...

देश के 7,730 धनकुबेरों के पास 50 लाख करोड़

नई दिल्ली। देश की अर्थव्यवस्था भले ही सुस्त रफ्तार से बढ़ रही हो मगर यहां के धनकुबेरों की संपत्ति में जोरदार इजाफा हो रहा है। दुनियाभर में भारत की छवि अभी तक गरीब मुल्क के रूप में ही दर्ज है मगर यहां के 7,730 धनकुबेरों के पास लगभग 50 लाख करोड़ रुपये (925 अरब डॉलर) की संपत्ति है।

Read more...

तथ्‍य न मेरे होते हैं और न तुम्‍हारे...।...

संदीप देव।ॉसोपी को न समझने वाले मुझ पर लगातार हमलावर हैं। वो समझ नहीं पा रहे हैं कि मैं किस विचारधारा का हूं, इसलिए पूछते रहते हैं कि आपने पहले तो फलां व्‍यक्ति की ओलाचना की [...]

मां आशीर्वाद दे कि इस नवरात्रि मैं अपने ...
मां आशीर्वाद दे कि इस नवरात्रि मैं अपने 'मैं' को विसर्जित कर सकूं!

संदीप देव। आज से नवरात्रि शुरु हो रही है। इस नवरात्रि के समाप्‍त होते-होते मां दुर्गा हममें से कम से कम कुछ लोगों का ही सही, लेकिन 'मन' हर ले! 'मन' अर्थात ' [...]

ज्योतिष पर ओशो के विचार...
ज्योतिष पर ओशो के विचार

ओशो। ज्योतिष के नाम पर सौ में से निन्यानबे धोखाधड़ी है। और वह जो सौवां आदमी है, निन्यानबे को छोड़ कर उसे समझना बहुत मुश्किल है। क्योंकि वह कभी इतना डागमेटिक नहीं हो सकता कि कह दे कि ऐसा [...]

आम जनता तक सही इतिहास पहुंचाना है तो समय...
आम जनता तक सही इतिहास पहुंचाना है तो समय बहुत कम है!

‪‎संदीपदेव‬।यूट ऑफ हेरिटेज रिसर्च एंड मैनेजमेंट के प्रोफेसर मक्‍कखन लाल जी। आधुनकि समय में मक्‍कखन जी देश के प्रतिष्ठित इतिहासकार हैं। इनकी पांच खंडों में प्रकाशित पुस्‍तक-'इंडियन हिस्‍ट्री' भारतीय इतिहास पर आधुनिक समय [...]

छोटे कपड़े पहनकर आइटम सांग करना मुझे पसं...
छोटे कपड़े पहनकर आइटम सांग करना मुझे पसंद नहीं: राधिक आप्‍टे

बॉलीवुड फिल्म हंटर में मुख्‍य भूमिका अदा करने वाली खूबसूरत अदाकार  राधिका आप्‍टे का कहना है कि वो कभी ऐसे आइटम सांग नहीं करेंगी जो महिलाओं की छवि खराब करे.

गो-वध बंदी का राष्ट्रीय कानून बने...
गो-वध बंदी का राष्ट्रीय कानून बने

रामबहादुर राय।ाल पुराना है। इसका संबंध भारत की सभ्यता से है। हमारी सभ्यता में गाय और गोवंश का स्थान बहुत ऊंचा है। जब कभी इस भावना को चोट पहुंची तो विरोध हुआ। आंदोलन हुए। गोरक्षा [...]

दुनिया की सबसे वैज्ञानिक लिपि है देवनागर...
दुनिया की सबसे वैज्ञानिक लिपि है देवनागरी लिपि

‪संदीपदेव‬।निक लिपि है देवनागरी लिपि। देखिए, देवनागरी का पहला अक्षर है 'अ' अर्थात 'अज्ञान' और देवनागरी का आखिरी अक्षर है 'ज्ञ' अर्थात 'ज्ञान'। देवनागरी मतलब- ' [...]

डाबर लाएगा देसी हाजमोला ड्रिंक्स...
डाबर लाएगा देसी हाजमोला ड्रिंक्स

जॉन सरकार, नई दिल्ली/टाइम्स न्यूज नेटवर्क/प्रॉडक्शन करने वाली भारतीय एफएमसीजी डाबर ने कन्यूजमर के रुझान को पहचान कर यह कदम उठाने की योजना [...]

दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!...
दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!

आधी आबादी ब्‍यूरो, नई दिल्ली। जंगल बनता जा रहा है। बच्चों के लिए खेलने के लिए जगह नहीं बची है। पार्क भी धीरे-धीरे खत्म होते जा रहे हैं। अभिभावकों की [...]

नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदे...
नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदेश

दिल्‍ली।  कमल इंसटिट्यूट ऑफ हायर एडूकेशन के छात्र और छात्राओ ने 'बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ ' अभियान पर नुक्कड नाटक का आयोजन किया। 22 जनवरी 2015 को प्रधानमंत्री नरेंद्र [...]

असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के ब...
असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के बीच रहती हूं, लेकिन मैंने कभी भारत में भेदभाव महसूस नहीं किया!

सोफिया रंगवाला। पेशे से डॉक्टर हूं। बंगलोर में मेरी एक हाइ एण्ड लेजर स्किन क्लिनिक है। मेरा परिवार कुवैत में रहता है। मैं भी कुवैत में पली बढ़ी हूं लेकिन 18 साल [...]

प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम कर...
प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम करे, सूचना प्रसारण मंत्री को तो क्रिकेट डिप्‍लोमेसी से ही फुर्सत नहीं है!

संदीप देव।उटलुक पत्रिका के एक गलत खबर के कारण जो हंगामा हुआ और सदन को स्‍थगित करना पड़ा, इसका जिम्‍मेवार कौन है? क्‍या मोदी सरकार मीडिया के इस तरह के गैरजिम्‍मेवार और सबूत [...]

Other Articles