निवेश | बचत

शेयर बाजार को समझें, फिर करें कारोबार

पूंजी बाजार में निवेश के कई तरीके हैं। शेयर, बाण्ड्स, डिबेंचर, म्यूचुअल फण्ड, सिक्यूरिटीज अर्थात प्रतिभूतियां आदि कैपिटल मार्केट में निवेश के विभिन्न माध्यम हैं। इनमें शेयर बाजार में किया गया निवेश सर्वाधिक लोकप्रिय है, क्योंकि इसमें धन को बढ़ते देर नहीं लगती।

शेयर बाजार के अपने जोखिम भी हैं, लेकिन इसमें त्वरित ग्रोथ की वजह से लोगों की दिलचस्पी कहीं ज्यादा होती है। शेयर किसी कंपनी में आंशिक भागीदारी हासिल करने का जरिया है। आप किसी कंपनी का जितना शेयर खरीदते हैं  उस कंपनी के उतने हिस्से का हिस्सेदार बन जाते हैं।

Read more...

रिटायरमेंट की प्लानिंग कैसे करें?

महानगरी जीवन शैली के बीच इन दिनों सबसे ज्यादा परेशानी हमारे बुजूर्गों को हो रही है। पूरी जिंदगी की गाढ़ी कमाई बच्चों में लगा दिया। अपने लिए कुछ बचाया नहीं। अब बच्चे बड़े हुए तो साथ छोड़ दिया। ये घर-घर की कहानी है। ऐसे में बुढ़ाने में अगर तय रकम हर महीने मिलती रहे तो जिंदगी थोड़ी आसान हो जाती है। लेकिन जब तक इसका एहसास होता है, काफी देर हो चुकी होती है। इसलिए ये बेहद जरूरी है कि समय रहते रिटायरमेंट की प्लानिंग शुरू कर दी जाए। इसके लिए कई बातों का ख्याल रखें।

Read more...

स्‍वामी रामदेव के खिलाफ कांग्रेस की हर स...
स्‍वामी रामदेव के खिलाफ कांग्रेस की हर साजिश का अब हो रहा है पर्दाफाश!

संदीप देव।ष्‍टाचार और कालाधन के खिलाफ स्‍वामी रामदेव के नेतृत्‍व में चल रहे आंदोलन को रामलीला मैदान में आधी रात को कुचलने के बाद, तत्‍कालीन यूपीए सरकार और कांग्रेस [...]

असावधानी में बनाया गया शारीरिक संबंध कई ...
असावधानी में बनाया गया शारीरिक संबंध कई तरह से आपको कर सकता है परेशान!

नई दिल्ली।ेट पर जाना आम बात है लेकिन इस दौरान उन्हें अपने पार्टनर के साथ थोड़ी सावधानी बरतने की जरूरत होती है। डेटिंग के दौरान ज्यादातर युवा शारीरिक रूप से एक-दूसरे के नजदीक आ [...]

भेदभाव से बचने के लिए अपना धर्म छोड़ने व...
भेदभाव से बचने के लिए अपना धर्म छोड़ने वाले हिंदू आज भी मुस्लिम और ईसाई समाज में हैं दोयम दर्ज के नागरिक!

संदीप देव।रक्षण की वकालत करने वाले हिंदू समाज के दलितों को भरमाने के लिए 'दलित-मुस्लिम' भाई-भाई का नारा लगाते हैं। Narendra Mo [...]

दक्षिण भारत की पहली 'टेस्ट ट्यूब बेबी' न...
दक्षिण भारत की पहली 'टेस्ट ट्यूब बेबी' ने मां बन कर रचा इतिहास!

चेन्‍नई। 24 साल पहले जिस कमला रत्नम को दक्ष‍िण भारत की पहली 'टेस्ट ट्यूब बेबी' बनने का सौभाग्य मिला था, वह अब खुद मां बन गई हैं. ऐसा भारत में पहली बार हुआ है. [...]

मंगल मिशन से सुर्खियों में आई 'इसरो गर्ल...
मंगल मिशन से सुर्खियों में आई 'इसरो गर्ल' राजदीप ने कठिनाई में जीया है जीवन!

कोटा। कभी गांव की पगडंडियों से होते हुए स्कूल जाना पड़ता था। ढेरों दुश्वारियों का सामना करते हुए स्कूल की पढ़ाई पूरी की। मां-बाप के पास इतने पैसे नहीं थे कि टू-व्हीलर दिला सकें। लेकिन आज उनकी लाडली [...]

गो-वध बंदी का राष्ट्रीय कानून बने...
गो-वध बंदी का राष्ट्रीय कानून बने

रामबहादुर राय।ाल पुराना है। इसका संबंध भारत की सभ्यता से है। हमारी सभ्यता में गाय और गोवंश का स्थान बहुत ऊंचा है। जब कभी इस भावना को चोट पहुंची तो विरोध हुआ। आंदोलन हुए। गोरक्षा [...]

महिलाओं की माहवारी पर बीबीसी हिंदी की पे...
महिलाओं की माहवारी पर बीबीसी हिंदी की पेशकश: 'इसे छूने के बाद रोटी नहीं खाई जाती'

शालू यादव, बीबीसी संवाददाता, दिल्ली।स्तेमाल करती हैं. कूड़ेदान में फेंके गए सैनिट्री पैड्स प्राकृतिक रूप से गलते नहीं है. तो इनका क्या होता है? [...]

समान अपराध संहिता से इस्‍लाम नष्‍ट नहीं ...

संदीप देव।म तुष्टिकरण करने वाली एक पार्टी दम तोड़ती है तो दूसरी पार्टी तत्‍काल खड़ी हो जाती है। भारत का अधिकांश मुसलमान बिना तुष्टिकरण के जी ही नहीं सकता है। उसे देश व समाज में समानता [...]

दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!...
दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!

आधी आबादी ब्‍यूरो, नई दिल्ली। जंगल बनता जा रहा है। बच्चों के लिए खेलने के लिए जगह नहीं बची है। पार्क भी धीरे-धीरे खत्म होते जा रहे हैं। अभिभावकों की [...]

नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदे...
नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदेश

दिल्‍ली।  कमल इंसटिट्यूट ऑफ हायर एडूकेशन के छात्र और छात्राओ ने 'बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ ' अभियान पर नुक्कड नाटक का आयोजन किया। 22 जनवरी 2015 को प्रधानमंत्री नरेंद्र [...]

असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के ब...
असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के बीच रहती हूं, लेकिन मैंने कभी भारत में भेदभाव महसूस नहीं किया!

सोफिया रंगवाला। पेशे से डॉक्टर हूं। बंगलोर में मेरी एक हाइ एण्ड लेजर स्किन क्लिनिक है। मेरा परिवार कुवैत में रहता है। मैं भी कुवैत में पली बढ़ी हूं लेकिन 18 साल [...]

प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम कर...
प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम करे, सूचना प्रसारण मंत्री को तो क्रिकेट डिप्‍लोमेसी से ही फुर्सत नहीं है!

संदीप देव।उटलुक पत्रिका के एक गलत खबर के कारण जो हंगामा हुआ और सदन को स्‍थगित करना पड़ा, इसका जिम्‍मेवार कौन है? क्‍या मोदी सरकार मीडिया के इस तरह के गैरजिम्‍मेवार और सबूत [...]

Other Articles