AN OPEN LETTER TO THE PRIME MINISTER NarendraModi about ‪‎BiharElections ‬

Francois Gautier. Dear Mr Prime Minister! Journalists, Leftists, intellectuals, will say Bjp4india lost Bihar because of intolerance. But my feeling is that the consolidated Hindu vote in Bihar got very confused by your image of extreme tolerance in the face of so much slander, demonization, falsehood, personal attacks on yourself, which have damaged India’s reputation abroad. – and your silence about it.

 

The truth is that while in Gujarat, you were in the center of India and you had still had access to people who dared tell you the truth, not only Delhi is an arrogant, self centred, decentred capital, far way from central and south India, but there are also a hundred layers between you and the people of India, from security, to bureaucrats to your ministers.

There also always has been in your country a bhakti-like tendency to tell the kings, maharajas, gurus, prime ministers, WHAT THEY WANT TO HEAR, not what is the reality and you are a also victim of that streak.
Your top people, advisers, are not telling you that the grassroot votebank of Hindus, from the Dalits to the Brahmins, who voted massively for you in the general elections two years ago, are getting very confused. For they voted for the fiery, no nonsense, non politically correct @NarendraModi, who dared to call a spade a spade, who was not afraid of pointing at his enemies and falsehood, who in short, was a defender of the Hindu values, this universal Dharma, that is in fact the most tolerant and wise surviving Knowledge, in a world racked by monotheistic credos.

True you are the Prime Minister of every Indian, and everybody understands that. You yourself, have given ample proof of that since you came to power, by reaching out to even those who wanted you dead. But nobody understands why you have not raised your voice against the terribly untruthful media and intellectual campaign that has been going on against Hindus and yourself for two years.

Nobody understands why you seem more tolerant of these enemies than your own people. For instance, MANY OF YOUR HINDU VOTERS DID NOT UNDERSTAND WHY YOU LET Subramanian Swamy OR @ARUNSHOURIE BE ATTACKED BY YOUR OWN PEOPLE. THEY HAVE STOOD BY YOU AND SHOULD BE DEFENDED BY YOU. PLEASE DO NOT MAKE THE MISTAKE OF MR VAJPAYEE: HINDU LEADERS WHEN THEY COME TO POWER WANT TO BE LOVED - EVEN BY THEIR ENEMIES – WHICH IS IMPOSSIBLE. YOU NEED TO BE THE PUTIN OF INDIA – MAYBE HATED BY YOUR ENEMIES, BUT LOVED AND RESPECTED BY YOUR OWN PEOPLE WHO VOTED YOU TO POWER.

Also, why is it, that as every Congress Prime Minister before you, you go to the Valley of Kashmir and announce huge economic packages, which not only subsidize the separatist movement but also CHANGE ABSOLUTELY NOTHING TO THE PRO-PAKISTANI FEELING OF THE MUSLIMS OF THE VALLEY OF KASHMIR?
SIR I BESEECH YOU, YOU NEED TO HAVE A BOARD OF FRIENDLY but NON- BJP INTELLECTUALS AND JOURNALISTS, WHO FROM TIME TO TIME, SAY TWICE A MONTH, GIVE YOU A FRANK AND TRUTHFUL ASSESSMENT OF WHAT THE PEOPLE OF INDIA THINK – PARTICULALRY YOUR VOTE BANK OF 500 MILLION HINDUS, WHOM YOU ARE GOING TO NEED AGAIN IN 3 YEARS TIME.

HAVE SOME HUMILITY SIR, WE ALL LOVE YOU AND YOU ARE INDIA’S BEST CHANCE FOR THE RENAISSANCE SHE SO BADLY NEEDS: AS SRI AUROBINDO SAID, THIS TYPE OF DIVINE GRACE COMES ONCE IN A CENTURY.

Courtesy: Francois Gautier Facebook page

Web title: AN OPEN LETTER TO THE PRIME MINISTER NarendraModi about ‪‎BiharElections ‬

बोलने की आजादी का मतलब चुप रहने का हक भी...
बोलने की आजादी का मतलब चुप रहने का हक भी होता है: शाहरुख खान

शाहरुख खान इन दिनों अपनी फिल्म ‘फैन’ के प्रमोशन में बिजी हैं। सोमवार को यहां फिल्म के ट्रेलर लॉन्च के दौरान उन्होंने कहा कि बोलने की आजादी का मतलब चुप रहने का हक भी होता है। मीडिया ने इन्टॉलरेंस के [...]

Aurangzeb‬ द्वारा काशी विश्‍वनाथ मंदिर त...
Aurangzeb‬ द्वारा काशी विश्‍वनाथ मंदिर तोड़े जाने को सबसे पहले सही एक कांग्रेसी नेता ने ही ठहराया था, जिसके बाद झूठ प्रचलित हुआ!

दीपदेव‬।औरंगजेब द्वारा काशी विश्‍वनाथ मंदिर तोड़े जाने को सही ठहराने की शुरुआत महात्‍मा गांधी के बेहद खास कांग्रेसी पटटाभिसीतारमैया ने एक पुस्‍तक 'द फ़ेदर्स एण्ड द स्टोन्स’ लिखकर की थी। यह वही पटटाभि थे, [...]

सुप्रीम कोर्ट के बड़े बेंच के निर्णय से ज...
सुप्रीम कोर्ट के बड़े बेंच के निर्णय से जस्टिस कुरियन की निष्‍पक्षता संदेह के घेरे में! ‎

संदीपदेव‬।ं सुप्रीम कोर्ट के बड़े बेंच ने साफ कर दिया कि क्‍यूरेटिव पेटिशन पर दोबारा सुनवाई नहीं होगी। सुप्रीम कोर्ट ने याकूब मेनन की फांसी की सजा को बरकरार रखा है। सर्वोच्च अदालत ने याकूब मेनन [...]

पिछले 10 साल में कांग्रेस ने किस तरह किय...
पिछले 10 साल में कांग्रेस ने किस तरह किया न्‍यायपालिका को भ्रष्‍ट, जानिए एक-एक जज की हकीकत!

संदीप देव, नई दिल्‍ली। सुप्रीम कोर्ट के जज और मद्रास हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस रहे मार्कंडेय काटजू के एक बयान के कारण सोमवार, 21 जुलाई 2014 को राज्‍यसभा को कुछ समय [...]

गो-वध बंदी का राष्ट्रीय कानून बने...
गो-वध बंदी का राष्ट्रीय कानून बने

रामबहादुर राय।ाल पुराना है। इसका संबंध भारत की सभ्यता से है। हमारी सभ्यता में गाय और गोवंश का स्थान बहुत ऊंचा है। जब कभी इस भावना को चोट पहुंची तो विरोध हुआ। आंदोलन हुए। गोरक्षा [...]

शारीरिक संबंध नहीं बनाने पर बहन ने उजाड़...
शारीरिक संबंध नहीं बनाने पर बहन ने उजाड़ दिया भाई का घर!

समलैंगिक रिश्तों की जिद का स्याह पहलू सामने आया है, जिसने एक बसी बसाई गृहस्थी में तूफान खड़ा कर दिया। नजदीकी रिश्ते तक बेतुकी चाहत की आग में झुलस गए। समलैंगिक रिश्ते न बनाने पर तलाकशुदा महिला ने अपनी [...]

औरंगजेब के दरबारी ने औरंगजेब को इतना लज्...
औरंगजेब के दरबारी ने औरंगजेब को इतना लज्जित किया कि वह मंदिर तोड़ कर मस्जिद बनाना भूल गया! ‪

संदीप देव। औरंगजेब सबसे बड़ा मूर्ति भंजक था। हिंदुओं के मंदिर को तोड़कर उस पर मस्जिद का निर्माण कराने की उसे सनक सवार हो गई थी। पहले पहल तो वह मंदिर तोड़ कर उसे छोड़ देता था, [...]

असहिष्णुता: क्‍या आप जानते हैं शाहरुख खा...
असहिष्णुता: क्‍या आप जानते हैं शाहरुख खान की मां आपातकाल में संजय गांधी की उस टीम में शामिल थीं, जिसने मुसलमानों के जबरन नसबंदी का फैसला किया था!

संदीप देव। पर जिन तथ्‍यों सामने रख रहा हूं, उससे पहले बहुत कम लोग परिचित थे और यह दर्शाता है कि कांग्रेस-वामपं‍थियों ने किस तरह झूठ की बुनियाद पर देश का पूरा इतिहास लिखा [...]

दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!...
दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!

आधी आबादी ब्‍यूरो, नई दिल्ली। जंगल बनता जा रहा है। बच्चों के लिए खेलने के लिए जगह नहीं बची है। पार्क भी धीरे-धीरे खत्म होते जा रहे हैं। अभिभावकों की [...]

नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदे...
नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदेश

दिल्‍ली।  कमल इंसटिट्यूट ऑफ हायर एडूकेशन के छात्र और छात्राओ ने 'बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ ' अभियान पर नुक्कड नाटक का आयोजन किया। 22 जनवरी 2015 को प्रधानमंत्री नरेंद्र [...]

असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के ब...
असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के बीच रहती हूं, लेकिन मैंने कभी भारत में भेदभाव महसूस नहीं किया!

सोफिया रंगवाला। पेशे से डॉक्टर हूं। बंगलोर में मेरी एक हाइ एण्ड लेजर स्किन क्लिनिक है। मेरा परिवार कुवैत में रहता है। मैं भी कुवैत में पली बढ़ी हूं लेकिन 18 साल [...]

प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम कर...
प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम करे, सूचना प्रसारण मंत्री को तो क्रिकेट डिप्‍लोमेसी से ही फुर्सत नहीं है!

संदीप देव।उटलुक पत्रिका के एक गलत खबर के कारण जो हंगामा हुआ और सदन को स्‍थगित करना पड़ा, इसका जिम्‍मेवार कौन है? क्‍या मोदी सरकार मीडिया के इस तरह के गैरजिम्‍मेवार और सबूत [...]

Other Articles