बिहार की हार में भाजपा के खलनायक: विचारधारा के 'अर्जुनों' को भूल कर चलने का खामियाजा अभी कई और बिहार के रूप में सामने आ सकता है!

संदीप देव‬। कभी मोदी के मीडिया खासकर, सोशल मीडिया स्ट्रेटजिस्ट रहे प्रशांत किशोर ने Narendra Modi को छोड़कर नीतीश का दामन थाम लिया और नीतीश की जीत में उनके मीडिया मैनेजमेंट की एक बड़ी भूमिका है। PMO India मोदी-भाजपा ने जीत के बाद प्रशांत को भुला दिया, उन्हें कहीं सेट नहीं कर पाई और उन्होंने नीतीश का दामन थाम लिया। कांग्रेस से अपनों को सेट करने का गुण 16 माह बाद भी मोदी सरकार नहीं सीख पाई! परिणाम सामने है!

 

* किसी जमाने में मोदी की पहली जीवनी लिख कर उन्हें एलिट कल्चर के ड्राइंग में पहुँचाने वाले अंग्रेजी पत्रकार नीलांजन आज मोदी से खफा हैं और पंजाब चुनाव में ‪#‎AAP‬ को लाने की तैयारी उन्होंने 'सिक्ख' पुस्तक लिखकर कर दी है!

* Madhu Purnima Kishwar ने मोदी पर लगे कम्युनल दाग धोने के लिए कितना बड़ा तथ्यगत अभियान चलाया था। 16 माह बाद भी उन्हें सम्मानित पद नहीं मिला है। अमित शाह से आजतक के एक कार्यक्रम में उन्होंने विरोध भी जताया कि मोदी को सत्ता में लाने के लिए भाजपा के कार्यकर्ताओं के अलावा बहुत सारे लोगों ने काम किया था, जिन्हें आप लोगों ने भुला दिया है! Amit Shah के पास, 'देखेंगे' -कहने के अलावा कोई जवाब नहीं था। कल भी मधु ‪#‎MaechForIndia‬ रैली में शामिल थी। लेकिन कब तक? आखिर उन्हें सम्मान क्यों नहीं मिलना चाहिए?

* बरखा दत्त ने मोदी के खिलाफ सबसे ज्यादा अभियान चलाया, लेकिन आज मोदी सरकार के मंत्रालय में उनकी सीधी एंट्री है, वहीं विचारधारा वाले विद्वान पत्रकार अरुण शौरी साइड लगा दिए गए हैं!

* सुब्रहमनियन स्वामी ने मोदी के पक्ष में सबसे ज्यादा माहौल बनाया था, लेकिन 10 वीं फेल व चुनाव हारने वाले मंत्री बने हुए हैं और स्वामी आज भी जूझ रहे हैं!

* छोटी सी दिल्ली में जीत के तुरंत बाद अरविंद केजरीवाल ने अपने समर्थक बुद्धिजीवियों को मोटी सैलरी पर बैठाने से लेकर कई तरह के फायदे दिए। आशीष खेतान, राघव आदि 1 से डेढ लाख ₹ हर माह वेतन ले रहे हैं। आशुतोष विदेश घूम रहा है। दूसरी ओर 16 माह होने के बाद भी भाजपा समर्थक पत्रकार सड़क पर हैं और कांग्रेसी पत्रकार DD news, PTI, लोकसभा, राज्यसभा चैनलों में बरकरार हैं!


* सोचिए एक प्रशांत किशोर ने विपक्ष से हाथ मिला लिया, तो बिहार में इनकी दुर्गति हो गयी, यदि हजारों निस्वार्थ राष्ट्रवादी, वैचारिक बुद्धिजीवियों की अवहेलना देखकर अपने की-बोर्ड को विराम दे दें तो मोटी सैलरी पर बैठे BJP के IT सेल वाले कांग्रेसी-वामपंथियों का कितना मुकाबला कर पाएंगे?

* कांग्रेसी बुद्धिजीवियों ने पुरस्कार लौटाने का खेल कर और कांग्रेसी पत्रकारों ने दादरी को बिहार पर थोप कर इतना तो ‪#‎BJP‬-संघ-मोदी-अमित शाह को बता ही दिया कि यदि वे अपने विचारधारा के बुद्धिजीवियों को इसी तरह इग्नोर करते रहे तो फिर 2019 में और न जाने कितने प्रशांत किशोर आपको झटका देने के लिए निकल आएंगे! समय है चेत जाओ! यह विचारधारा की लड़ाई है और इसमें विचारधारा के 'अर्जुनों' को भूल कर चलने का खामियाजा अभी, कई और बिहार के रूप में सामने आ सकता है! ‪

#‎SandeepDeo‬ ‪#‎BiharElection

Web title: sandeep deo blog on ‬‎BiharElection 2015-4

करोड़ों की नौकरी छोड़ कर बन गया किसान! ...
करोड़ों की नौकरी छोड़ कर बन गया किसान!

खंडवा। कोलकाता के दीपक गोयल के सिर पर खेती करने का जुनून ऐसा चढ़ा कि वे सालाना डेढ़ करोड़ रुपए पैकेज की नौकरी छोड़ किसान बन गए। श्री गोयल ने खंडवा के बंजारी गांव के पास 100 [...]

भारत-चीन युद्ध: नेहरू ने देश को छला, भार...
भारत-चीन युद्ध: नेहरू ने देश को छला, भारतीय महिलाओं के आभूषण हड़पे और कम्‍युनिस्‍टों ने कहा, चीन ने नहीं, बल्कि भारत ने चीन की जमीन छीनी है!

संदीप देव‬रेसियों के खून में जो गद्दारी दिखती है, देश में उसका सबसे बेहतरीन उदाहरण सन 1962 में हुआ भारत-चीन युद्ध था, जिसमें नेहरू ने देश को छला और भारत [...]

बिहार चुनाव में भाजपा के खलनायक: प्रशांत...

संदीप देव।त्री नीतीश कुमार की पहली जीवनी वरिष्‍ठ पत्रकार संकर्षण ठाकुर ने लिखी थी। संकर्षण को आप अकसर एबीपी न्‍यूज पर देखते होंगे। वो टेलीग्राफ में शायद रोविंग एडिटर हैं। संकर्षण ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का दामन [...]

विश्व में नंबर एक रैंकिंग हासिल करने वाल...
विश्व में नंबर एक रैंकिंग हासिल करने वाली पहली भारतीय महिला बैडमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल

साइना नेहवाल दुनिया की नंबर वन रैंकिंग हासिल करने वाली पहली भारतीय महिला बैडमिंटन खिलाड़ी बन गई। उन्‍होंने यह खितान स्पेन की कैरोलिना मारिन को इंडिया ओपन सुपर सीरिज के सेमीफाइनल में हरा कर हासिल किया। नेहवाल ने इंडिया ओपन [...]

Anti-development activities by the NGOs ...
Anti-development activities by the NGOs in India

As a first step to fast-tracking develop [...]

योग गुरु से बिजनस टाइकून बने बाबा रामदेव...
योग गुरु से बिजनस टाइकून बने बाबा रामदेव, 2000 करोड़ का FMCG कारोबार

नई दिल्ली। भले ही योग और एफएमसीजी का संयोजन एक-दूसरे से एकदम उलट हो (योग आंतरिक शांति के लिए और एफएमसीजी बाहरी सौंदर्य के लिए) लेकिन बाबा रामदेव ने इन दोनों ही क्षेत्रों में एकदम सटीक ' [...]

सेलेना गोमेज ने कमर के नीचे गुदवाया ॐ टै...
सेलेना गोमेज ने कमर के नीचे गुदवाया ॐ टैटू!

अमेरिकन सिंगर, ऐक्ट्रेस और फैशन डिजाइनर सेलेना गोमेज इस बार अपने टैटू से खबरों में हैं. सेलेना गोमेज ने अपनी वेस्ट के नीचे एक पवित्र ओम शब्द का टैटू बनवाया है. सेलेना गोमेज के इस टैटू ने [...]

वेतन बढ़ते ही अमेरिकी युवा हो जाते हैं अ...
वेतन बढ़ते ही अमेरिकी युवा हो जाते हैं अविश्‍वासी

वाशिंगटन। अमेरिका में युवाओं के बीच किए गए एक सर्वे में पता चला है कि आय बढ़ने के साथ युवाओं में दूसरों के प्रति भरोसा और सामाजिक संस्थानों में विश्वास कम होता जाता है। आज के युवा अपने पक्षों को [...]

दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!...
दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!

आधी आबादी ब्‍यूरो, नई दिल्ली। जंगल बनता जा रहा है। बच्चों के लिए खेलने के लिए जगह नहीं बची है। पार्क भी धीरे-धीरे खत्म होते जा रहे हैं। अभिभावकों की [...]

नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदे...
नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदेश

दिल्‍ली।  कमल इंसटिट्यूट ऑफ हायर एडूकेशन के छात्र और छात्राओ ने 'बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ ' अभियान पर नुक्कड नाटक का आयोजन किया। 22 जनवरी 2015 को प्रधानमंत्री नरेंद्र [...]

असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के ब...
असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के बीच रहती हूं, लेकिन मैंने कभी भारत में भेदभाव महसूस नहीं किया!

सोफिया रंगवाला। पेशे से डॉक्टर हूं। बंगलोर में मेरी एक हाइ एण्ड लेजर स्किन क्लिनिक है। मेरा परिवार कुवैत में रहता है। मैं भी कुवैत में पली बढ़ी हूं लेकिन 18 साल [...]

प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम कर...
प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम करे, सूचना प्रसारण मंत्री को तो क्रिकेट डिप्‍लोमेसी से ही फुर्सत नहीं है!

संदीप देव।उटलुक पत्रिका के एक गलत खबर के कारण जो हंगामा हुआ और सदन को स्‍थगित करना पड़ा, इसका जिम्‍मेवार कौन है? क्‍या मोदी सरकार मीडिया के इस तरह के गैरजिम्‍मेवार और सबूत [...]

Other Articles