बिहार चुनाव में भाजपा के खलनायक: भाजपा के खिलाफ प्रोपोगंडा वार को समाप्‍त करने की जगह हवा दे रहे हैं अरुण जेटली!

‪‎संदीप देव‬। मैंने पहले ही लिखा था, बिहार चुनाव खत्म असहिष्णुता की नौटंकी खत्म! अब कहाँ कोई पुरस्कार लौटा रहा है? किस टीवी चैनल पर बहस चल रहा है? कौन-से अखबार के पन्ने रंगे जा रहे हैं? कलबुर्गी और अखलाक की लाश पर राजनीतिक रोटियां सेंकने वाले अब कहाँ हैं?

 

वाजपेयी सरकार को उनके सूचना प्रसारण मंत्री प्रमोद महाजन ने डुबोया था, PMO India मोदी सरकार को इनके सूचना मंत्री अरुण जेटली डुबा रहे हैं! जिन के कंधों पर मीडियाई प्रोपोगंडा को समाप्त करने की जिम्मेदारी होती है, भाजपा सरकार में वही लोग उस प्रोपोगंडा करने वालों से हाथ मिलाते रहे हैं! यकीन न हो तो PIB एक्रेडेशन कमेटी से लेकर, PTI, दूरदर्शन, लोकसभा व राज्यसभा टीवी- सब जगह देखिए, वर्षों से मोदी को गाली देने वाले पत्रकारों को ठूंस-ठूंस कर या तो भरा गया है या फिर सेवा विस्तार दिया गया है!

कांग्रेसी-वामी प्रोपोगंडा को काटने वालों की जगह, यदि आप उन्हीं के प्रोपोगंडा को आगे बढाने वालों को अपनी आँखों का तारा बनाएंगे तो आप जीत कहाँ से पाएंगे?

जिन दो चुनाव-दिल्ली-बिहार में भाजपा हारी है, उनमें एक समान पैटर्न अपनाया गया! दिल्ली चुनाव से पहले गिरिजाघरों पर हमले व नन बलात्कार को 24 घंटे चलाया गया और बिहार चुनाव के पहले कलबुर्गी व अखलाक की मौत को भुनाया गया! ताज्जुब देखिए इनमें से हर घटना कांग्रेस या उसके सेक्यूलर पार्टनरों के राज्यों में हुई और कटघरे में मोदी सरकार को रात-दिन खड़ा किया गया!

एक और पैटर्न देखिए, दिल्ली के गिरिजाघरों पर हमले में कांग्रेसी विधायक का नाम सामने आया और बंगाल में नन से रेप में बंगलादेशी मुसलमान पकड़े गए! लेकिन इस सच्चाई को सूचना मंत्री का विभाग आम जनता तक नहीं पहुंचा पाया! आज भी देश की जनता इन तथ्यों से अनजान है। न ही भाजपा अध्यक्ष ने ही इस सच्चाई को जन-जन तक पहुँचाने का ड्राइव ही चलाया! बस, मिस काल से बनी बड़ी पार्टी के अहंकार से ही भरे रहे! यदि इतना बड़ा कार्यकर्ता नेटवर्क है तो जनता तक इस सच्चाई को ले क्यों नहीं गए?

देखना, अखलाक की मौत का भी सेम पैटर्न ही सामने आएगा! और उप्र, पंजाब व बंगाल चुनाव से पहले फिर से सेम पैटर्न उभरेगा। वाजपेयी सरकार को गिराने के लिए भी गोधरा में ट्रेन में लोगों को जलाकर मारने का सेम पैटर्न अपनाया गया था और उसे भी कांग्रेस-मीडिया गठजोड़ ने लीड किया था। अदालत ने कांग्रेस पदाधिकारियों को फांसी की सजा सुनाई और सुप्रीम कोर्ट ने गुजरात दंगों में सरकार को बदनाम करने वाले पत्रकारों का खुलकर नाम लिया और ताज्जुब इन सच्चाइयों को भी देश तक ले जाने के लिए कोई ड्राइव नहीं चलाया गया!

इसके बावजूद भाजपाई-संघी कह रहे हैं कि आप भाजपा-संघ पर बिहार में हार के बाद हमलावर क्यों हो? अरे! 2002 से आजतक आपको हराने व सत्ता से बेदखल करने के लिए सेम पैटर्न पर कांग्रेस-पत्रकार-वामपंथी गठजोड़ काम कर रहा है और आप इनका तोड़ ढूंढने की जगह उन्हीं प्रोपोगंडावादियों को विभिन्न संस्थानों में शामिल भी कर रहे हो और खुद चुनाव के समय आरक्षण समीक्षा का प्रोपोगंडा भी खड़ा कर रहे हो!

दरअसल तुम हमारी मेहनत व वोट को बर्बाद कर रहे हो! हम राष्ट्रवादियों ने तुम्हें इन प्रोपोगंडावादियों को कुचलने के लिए सत्ता में बैठाया है और तुम हर बार सत्ता में पहुँचते ही इन्हें ही पालने-पोसने और सेक्यूलरिज्म के कांग्रेसी खेल में लग जाते हो! जब तुम्हें भी यही सब करना है तो तुम कांग्रेस से अलग कैसे हुए? कांग्रेस मुक्त भारत मतलब कांग्रेसी संस्कृति मुक्त भारत! यह ठीक से समझ लो!

#‎SandeepDeo‬ ‪#‎BiharElection

WebTitle: sandeep deo blog on ‬‎BiharElection 2015-6

आधुनिक भारत में धर्मांतरण और घर वापसी का...
आधुनिक भारत में धर्मांतरण और घर वापसी का सच!

संदीप देव।अशोक सिंघल ने जब मुस्लिम और ईसाई पर कुछ कहा तो मीडिया बवाल मचा रहा है, लेकिन बाबा साहब भीमराव अंबेडकर ने इन दोनों ही धर्म को विदेश से आयातित धर्म कहा था और [...]

महिलाओं की माहवारी पर बीबीसी हिंदी की पे...
महिलाओं की माहवारी पर बीबीसी हिंदी की पेशकश: ‘ढाई लोटे पानी से ढाई दिन माहवारी होगी’

अदिति गुप्ता संस्थापक, मेंस्ट्रूपीडिया डॉट कॉम।ाम भी साथ ही होता था. धीरे-धीरे हम गर्लफ्रेंड और ब्वॉयफ्रेंड बने. मेरा साथी [...]

जब कल रात मैं एक कांग्रेसी निर्देशक की अ...
जब कल रात मैं एक कांग्रेसी निर्देशक की असहिष्‍णुता का शिकार हुआ!

‎संदीपदेव‬।्‍णुता की चर्चा चल रही है। हां, यह सच है कि देश में असहिष्‍णुता बढ़ी है, लेकिन इस असहिष्‍णुता को देखना है तो आप कांग्रेसी और वामपंथी विचारकों, पत्रकारों, कलाकारों, [...]

लालबहादुर शास्‍त्री, छोटे कद का बड़ा आदम...
लालबहादुर शास्‍त्री, छोटे कद का बड़ा आदमी!

भारत में बहुत कम लोग ऐसे हुए हैं जिन्होंने समाज के बेहद साधारण वर्ग से अपने जीवन की शुरुआत कर देश के सबसे  पड़े पद को प्राप्त किया। चाहे रेल दुर्घटना के बाद उनका रेल मंत्री के पद से इस्तीफ़ा [...]

स्‍वामी रामदेव का अगला लक्ष्य, देश में प...
स्‍वामी रामदेव का अगला लक्ष्य, देश में पुन: वैदिक शिक्षा की स्थापना करना है

संदीप देवो भ्रष्टाचार से मुक्ति, काला धन की वापसी, स्वदेशी को सम्मान और संपूर्ण व्यवस्था परिवर्तन को लेकर स्वामी रामदेव ने ‘भारत स्वाभिमान’ आंदोलन की शुरुआत की थी। भारत [...]

सुंदरता के बाजार से जन्‍मी नई विषमता!...
सुंदरता के बाजार  से जन्‍मी नई विषमता!

संजय कुमार बलौदिया। पिछले दिनों द इंटरनेशनल सोसायटी ऑफ एस्थेटिक प्लास्टिक सर्जरी का सर्वे प्रकाशित हुआ जिसके मुताबिक कॉस्मेटिक सर्जरी के मामले में अमेरिका, चीन और ब्राजील के बाद भारत चौथे स्थान पर आता है। यह आंकड़ा भारत की [...]

विकास रोकना और सरकारों को अस्थिर करना ही...
विकास रोकना और सरकारों को अस्थिर करना ही मुख्‍य मकसद है विदेशी फंडेड एनजीओ का

संदीप देव, नई दिल्‍ली। एनजीओ (स्वयंसेवी संगठन) पर आई खुफिया ब्यूरो की रिपोर्ट के बाद विदेशी फंड पर चलने वाली एनजीओ ने लॉबिंग शुरू कर दी है। उनकी तरफ से एक सुर में कहा जाने लगा है [...]

आभार आपका...
आभार आपका...

संदीप देव।तिहास पढ रहा था, सोचा आपको बताऊं। मैं सभी मित्रों से अनुरोध करूंगा कि किसी के प्रति अपनी धन्‍यता प्रकट करने के लिए आप अंग्रेजी के 'थैंक्‍यू' की जगह हिंदी के बेहद [...]

दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!...
दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!

आधी आबादी ब्‍यूरो, नई दिल्ली। जंगल बनता जा रहा है। बच्चों के लिए खेलने के लिए जगह नहीं बची है। पार्क भी धीरे-धीरे खत्म होते जा रहे हैं। अभिभावकों की [...]

नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदे...
नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदेश

दिल्‍ली।  कमल इंसटिट्यूट ऑफ हायर एडूकेशन के छात्र और छात्राओ ने 'बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ ' अभियान पर नुक्कड नाटक का आयोजन किया। 22 जनवरी 2015 को प्रधानमंत्री नरेंद्र [...]

असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के ब...
असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के बीच रहती हूं, लेकिन मैंने कभी भारत में भेदभाव महसूस नहीं किया!

सोफिया रंगवाला। पेशे से डॉक्टर हूं। बंगलोर में मेरी एक हाइ एण्ड लेजर स्किन क्लिनिक है। मेरा परिवार कुवैत में रहता है। मैं भी कुवैत में पली बढ़ी हूं लेकिन 18 साल [...]

प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम कर...
प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम करे, सूचना प्रसारण मंत्री को तो क्रिकेट डिप्‍लोमेसी से ही फुर्सत नहीं है!

संदीप देव।उटलुक पत्रिका के एक गलत खबर के कारण जो हंगामा हुआ और सदन को स्‍थगित करना पड़ा, इसका जिम्‍मेवार कौन है? क्‍या मोदी सरकार मीडिया के इस तरह के गैरजिम्‍मेवार और सबूत [...]

Other Articles