विचार विमर्श

असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के बीच रहती हूं, लेकिन मैंने कभी भारत में भेदभाव महसूस नहीं किया!

सोफिया रंगवाला। मैं एक मुस्लिम महिला हूं और पेशे से डॉक्टर हूं। बंगलोर में मेरी एक हाइ एण्ड लेजर स्किन क्लिनिक है। मेरा परिवार कुवैत में रहता है। मैं भी कुवैत में पली बढ़ी हूं लेकिन 18 साल की उम्र में डाक्टरी की पढ़ाई करने के लिए मैं भारत लौट आयी थी। पढ़ाई खत्म होने के बाद जहां मेरे ज्यादातर साथी अच्छे भविष्य के सपने के साथ बाहर चले गये मैंने भारत में ही रहने का निश्चय किया। आज तक मैंने एक बार भी कभी यह महसूस नहीं किया कि एक मुसलमान होने के कारण हमें कोई दिक्कत हुई हो। मुझे अपने देश से प्रेम था और मैंने भारत में ही रहने का निश्चय किया।

Read more...

गो-वध बंदी का राष्ट्रीय कानून बने

रामबहादुर राय। गोरक्षा का सवाल सैकड़ों साल पुराना है। इसका संबंध भारत की सभ्यता से है। हमारी सभ्यता में गाय और गोवंश का स्थान बहुत ऊंचा है। जब कभी इस भावना को चोट पहुंची तो विरोध हुआ। आंदोलन हुए। गोरक्षा के लिए बलिदान और अपने जान की बाजी लगा देने वालों की कभी कमी नहीं रही। इस बारे में बहुत कुछ इतिहास के पन्नों में बिखरा हुआ है। गांधी धारा के विचारक और इतिहासकार धर्मपाल ने इस बारे में अध्ययन कर कुछ ऐसे तथ्य खोजे जो अज्ञात थे।

Read more...

वैदिक की जुबानी हाफिज सईद से मुलाकात और साक्षात्‍कार की पूरी कहानी

डॉ वेद प्रदाप वैदिक। हाफिज सईद से मेरी मुलाकात अचानक तय हुई। दो जुलाई की दोपहर को मैं भारत आनेवाला था। एक जुलाई की शाम को कुछ पत्रकार मुझसे बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि आप भारत-विरोधी आतंकवाद का मुद्दा इतनी जोर से उठा रहे हैं तो आप कभी हाफिज सईद से मिले? मैंने कहा नहीं। उनमें से लगभग सबके पास हाफिज सईद के नंबर थे। उनमें से किसी ने फोन मिलाया और मुलाकात तय हो गई। सुबह 7 बजे इसलिए तय हुई कि मुझे लाहौर हवाई अड्डे पर 10-11 बजे के बीच पहुंचना था। मैंने कह दिया था कि अगर मुलाकात देर से तय हुई तो मैं नहीं मिल सकूंगा।

Read more...

हर रोज हजारों बलात्कार इज्जत की चादर में लपेट कर दफना दिए जाते हैं!

डॉ. पुरुषोत्तम मीणा 'निरंकुश'। हमारे देश में स्त्रियों के साथ बलात्कार तो रोज होते हैं, एकाध नहीं हजारों की संख्या में किये जाते हैं, लेकिन कुछ एक बलात्कार की घटनाएं किन्हीं अपरिहार्य कारणों और हालातों में सार्वजनिक हो जाती हैं। जिनके मीडिया के मार्फ़त सामने आ जाने पर औरतों, मर्दोँ और मीडिया द्वारा वहशी बलात्कारी मर्दों को गाली देने और सरकार को कोसने का सिलसिला शुरू हो जाता है। लेकिन हमारा अनुभव साक्षी है की इन बातों से न तो कुछ हासिल हुआ, न हो रहा और न होगा। क्योंकि हम इस रोग को ठीक करने के बारे में  ईमानदारी से विचार ही नहीं करना चाहते!

Read more...

वैदिक हाफिज भाई भाई!

सुधीर मौर्य। काश वैदिक जी ने जिस हिम्मत के साथ भारत के प्रधानमंत्री रहते नरसिम्हा राव जी के साथ ताश खेलते थे उसी हिम्मत के साथ हाफ़िज़ से विरोध दर्ज़ करते भारत के मुंबई में उसके द्वारा करवाये गए आतंकवादी हमले का। के वैदिक जी को हाफिज के घर पे नाश्ता करते हुए उसके द्वारा मुंबई में फैलाये गए सैकड़ो निरपराध लोगो का खून बिलकुल याद नहीं अाया। क्या संदीप उन्नीकृष्णन के बलिदान का कोई महत्व नहीं वैदिक जी की नज़र में।

Read more...

दिल्‍ली में भाजपा की हार भीतराघात का नती...
दिल्‍ली में भाजपा की हार भीतराघात का नतीजा

संदीप देव।लिखा है कि संघ के तर्ज पर ही जनसंघ (आज की भाजपा) से लोगों को जोड़ने के लिए तीन तरह से कार्य आरंभ हुआ। पहली श्रेणी में कार्यकर्ता बनने वाले लोग, दूसरी [...]

साहित्‍य अकादमी पुरस्‍कार लौटाए जाने के ...
साहित्‍य अकादमी पुरस्‍कार लौटाए जाने के पीछे की राष्‍ट्रीय-अंतरराष्‍ट्रीय साजिश!

संदीप देव।ुरस्‍कार लौटाने का यह जो खेल चल रहा है, आप लोग इसे हल्‍के में न लें। PMO India मोदी सरकार पर किए गए इस वार में पर्दे [...]

मैं किसी तरह की स्तुति में भरोसा नहीं कर...
मैं किसी तरह की स्तुति में भरोसा नहीं करता: ओशो

ओशो।ी प्रंशसा मत करो। तुम मेरी प्रशंसा से कुछ भी नहीं पा सकते हो। मुझे धोखा देना असंभव है। मैं किसी तरह की स्तुति में भरोसा नहीं करता। तुम जैसे हो, मुझे स्वीकार हो। मगर यह ‘खोटे’ [...]

South Asia: UNODC initiates: 32 बिलियन ...
South Asia:  UNODC initiates: 32 बिलियन डॉलर का बिजनस है मानव व्‍यापार

New delhi. A $32 billion business annual [...]

'प्रधान सेवक' नरेंद्र मोदी ने कहा, 'मेरा...
'प्रधान सेवक' नरेंद्र मोदी ने कहा, 'मेरा क्या-मुझे क्या' की जगह देश हित की सोचें!

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज भारत के 68वें स्वतंत्रता दिवस पर ऐतिहासिक लालकिले की प्राचीर से देशवासियों को संबोधित किया। मोदी के भाषण में सबसे ख़ास बात यह रही कि उन्होंने अलिखित भाषण पढ़ा। पेश है [...]

भारत में कम हुआ HIV का प्रकोप, एड्स से ह...
भारत में कम हुआ HIV का प्रकोप, एड्स से होने वाली मौतों में 41 फीसदी की कमी

भाषा, नई दिल्ली। कि भारत वर्ष 2000 और 2014 के बीच एचआईवी संक्रमण के नए मामलों में 20 प्रतिशत से ज्यादा की कमी लाकर [...]

पुस्‍तक के जरिए भोजपुरी अस्मिता की तलाश...
पुस्‍तक के जरिए भोजपुरी अस्मिता की तलाश

नई दिल्‍ली। भोजपुरी को संविधान की आठवीं अनुसूची में शामिल करने की मांग एक बार फिर बहुत जोर-शोर से उठाई गई है। अवसर था भोजपुरी समाज दिल्‍ली द्वारा इंडिया इंटरनेशनल सेंटर में आयोजित समाज के अध्‍यक्ष अजीत दुबे द्वारा [...]

अनुयायी नहीं, आलोचक बनें क्‍योंकि तटस्‍थ...

संदीप देव।डिया के मित्रों से अनुरोध है कि आप किसी के कार्यकर्ता/ अनुयायी की तरह बर्ताव न करें, बल्कि स्‍वतंत्र विचार रखें, जिसमें तथ्‍य भी हों और तर्क भी। मैं जो भी बात [...]

दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!...
दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!

आधी आबादी ब्‍यूरो, नई दिल्ली। जंगल बनता जा रहा है। बच्चों के लिए खेलने के लिए जगह नहीं बची है। पार्क भी धीरे-धीरे खत्म होते जा रहे हैं। अभिभावकों की [...]

नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदे...
नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदेश

दिल्‍ली।  कमल इंसटिट्यूट ऑफ हायर एडूकेशन के छात्र और छात्राओ ने 'बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ ' अभियान पर नुक्कड नाटक का आयोजन किया। 22 जनवरी 2015 को प्रधानमंत्री नरेंद्र [...]

असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के ब...
असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के बीच रहती हूं, लेकिन मैंने कभी भारत में भेदभाव महसूस नहीं किया!

सोफिया रंगवाला। पेशे से डॉक्टर हूं। बंगलोर में मेरी एक हाइ एण्ड लेजर स्किन क्लिनिक है। मेरा परिवार कुवैत में रहता है। मैं भी कुवैत में पली बढ़ी हूं लेकिन 18 साल [...]

प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम कर...
प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम करे, सूचना प्रसारण मंत्री को तो क्रिकेट डिप्‍लोमेसी से ही फुर्सत नहीं है!

संदीप देव।उटलुक पत्रिका के एक गलत खबर के कारण जो हंगामा हुआ और सदन को स्‍थगित करना पड़ा, इसका जिम्‍मेवार कौन है? क्‍या मोदी सरकार मीडिया के इस तरह के गैरजिम्‍मेवार और सबूत [...]

Other Articles