पुरुष ही नहीं, महिलाएं भी होती हैं स्‍वप्‍नदोष की शिकार!

स्वप्नदोष का नाम सुनते ही शर्मिंदा हो जाने वाले पुरुष अब राहत की सांस ले सकते हैं. इस बीमारी के बारे में माना जाता रहा है कि यह सिर्फ पुरुषों को ही होता है. लेकिन अध्‍ययनों से पता चला है कि महिलाओं को भी स्वप्नदोष होता है. स्वप्नदोष में दरअसल नींद में 'रंगीन' सपनों के माध्यम से ऑर्गेज्‍म का अनुभव होता है और वीर्यपात होता है.

1953 में डॉ अल्फ्रेड किंस्ले ने लगभग 6 हजार महिलाओं पर शोध किया. इनमें से 37 फीसदी महिलाओं ने माना कि 45 साल की उम्र तक कम से कम एक बार उन्हें स्वप्नदोष का अनुभव हुआ है. उन्होंने इसे रात के वक्‍त की उत्तेजना के तौर पर परिभाषित किया, जिससे महिलाएं ऑर्गेज्‍म पाने के लिए जाग उठती हैं. उन्होंने अपने रिसर्च में यह भी पाया कि जिन महिलाओं को अपने सेक्स जीवन में ऑर्गेज्‍म की प्राप्ति कम होती है, उनके साथ स्वप्नदोष की समस्या ज्यादा होती है.

1986 में हुए एक और अध्‍ययन में बारबरा वेल्स ने पाया कि स्वप्नदोष का अनुभव करने वाली महिलाओं में से लगभग 85 फीसदी को यह अनुभव काफी कम उम्र में हुआ. सामान्यत 21 साल की उम्र से पहले और कुछ मामलों में तो 13 साल से भी पहले.

सेक्सप्लेनेशन्स नाम की किताब लिखने वाले डॉ बेली के अनुसार, नींद में भावनाओं पर हमारा नियंत्रण कमजोर पड़ जाता है और हमारी दबी हुई भावनाएं, चाहतें सांकेतिक तौर पर उभरकर समने आ जाती हैं. बेली के अनुसार, कई महिलाएं नींद में अपेक्षाकृत जल्दी ऑर्गेज्‍म हासिल कर लेती हैं.

सेक्स से संबंधित नियम-कायदों से भी आपका सपना प्रभावित होता है. डॉ. बेली के अनुसार, एक व्यक्ति जिसने सेक्स से संबंधित कठोर नियम-कायदे बना रखे हों, हो सकता है कि सपने में वह उतना ही 'उदार' हो.

Amsterdam University  की एक मनोवैज्ञानिक के अनुसार, महिलाओं को स्वप्नदोष होना कोई बहुत हैरानी की बात नहीं है. उत्तेजना के उन पलों में जब वो नींद में ही ऑर्गेज्‍म पा रही होती हैं, तो वे पूरी तरह नींद में नहीं होती हैं.

हालांकि महिलाओं के स्वप्नदोष के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है. उनकी शारीरिक बनावट इस तरह की होती है कि स्वप्नदोष का ठीक-ठीक अंदाजा उनको भी नहीं लग पाता.

साभार: आजतक वेब

Web Title : women too have wet dreams

Keyword : women|sex| wet dreams| स्वप्नदोष|महिलाएं|सेक्स

'धर्मनिरपेक्ष भारत' में हिंदू की शराब खर...
'धर्मनिरपेक्ष भारत' में हिंदू की शराब खराब, ईसाई की शराब लाजवाब!

संदीप देव। चर्च और इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग देश में सरकार गिराने की खुली धमकी दे रहे हैं और इस पर न तो कहीं चर्चा है और न ही किसी तरह की सुगबुगाहट! तो यही है [...]

ज्यादा सोने वाली महिलाएं ज्यादा करती हैं...
ज्यादा सोने वाली महिलाएं ज्यादा करती हैं सेक्स

न्यूयॉर्क। एक स्टडी में महिलाओं की सेक्स लाइफ को लेकर दिलचस्प खुलासा किया गया है। इसमें दावा किया गया है कि जो महिलाएं ज्यादा सोती हैं, वह ज्यादा सेक्स करती हैं । स्टडी में पाया गया कि एक घंटे [...]

आप उन्‍हें क्‍या कहेंगे, प्रबंधक, इंजीनि...
आप उन्‍हें क्‍या कहेंगे, प्रबंधक, इंजीनियर, लेखक, अनुसंधानकर्ता या फिर आयुर्वेदाचार्य...!

आचार्य बालकृष्‍ण जी के जन्‍मदिन पर विशेष। संदीप देव, पतंजलि योगपीठ से लौट कर। पतंजलि योगपीठ के भवनों को गौर से देखिए, वो आपको किसी योगी के योगमुद्रा में बैठे होने का अहसास कराता हुआ-सा प्रतीत होता [...]

अकबर के 10 वर्षों की सफलता को महाराणा प्...
अकबर के 10 वर्षों की सफलता को महाराणा प्रताप ने केवल 1 वर्ष के अंदर मिटा दिया था!

‎संदीप देव‬।जन्‍म जयंती (9 May 1540 – 29 January 1597) है। इस [...]

छोले भटूरे बनाने की विधि ...
छोले भटूरे बनाने की विधि

नई दिल्‍ली। छोले भटूरे पंजाब की पसंददीदा व्‍यंजन है। पंजाब सहित दिल्‍ली में छोटे-भटूरे खूब खाए जाते हैं। जहां भी पंजाबी गए, छोले-भटूरे बनाने की विधि साथ ले गए। इसे बनाना बेहद आसान है। आइए हम आपको [...]

द्वितीय विश्‍व युद्ध में ब्रिटिश जहां मह...
द्वितीय विश्‍व युद्ध में ब्रिटिश जहां महात्‍मा गांधी के मित्र थे, वहीं सुभाष चंद्रबोस के लिए दुश्‍मन!

संदीप देव।दूसरे के फटे में टांग अड़ाना। जब द्वितीय विश्‍व युद्ध शुरु हुआ तो गांधी जी के नेतृत्‍व में कांग्रेस ब्रिटिश शासन को बार-बार मदद देने का प्रस्‍ताव दे रही थी, जबकि ब्रिटिश [...]

पत्रकार-दलाल-नौकरशाह-कारपोरेट गठजोड़ पिछ...

संदीप देव।लय में पिछले कई वर्षों से जिस तरह जासूसी का खेल चल रहा था, उसका पर्दाफाश यह दर्शाता है कि मीडिया-दलाल-नौकरशाह-कंपनियों का नेक्‍सस किस तरह गहराई तक देश को घुन की तरह खा [...]

लड़की ने पूछा कहां मिलेगा कंडोम, पुरुष श...
लड़की ने पूछा कहां मिलेगा कंडोम, पुरुष शरमा कर भाग खड़े हुए!

मुंबई। असुरक्षित यौन संबंधों के कारण एचआईवी होने का खतरा रहता है. सरकार और विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन अवेयरनेस प्रोग्राम के लिए हर साल करोड़ों रुपये खर्च करते हैं. टीवी पर अनचाहे गर्भ और एचआईवी से सुरक्ष‍ित रहने के [...]

दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!...
दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!

आधी आबादी ब्‍यूरो, नई दिल्ली। जंगल बनता जा रहा है। बच्चों के लिए खेलने के लिए जगह नहीं बची है। पार्क भी धीरे-धीरे खत्म होते जा रहे हैं। अभिभावकों की [...]

नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदे...
नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदेश

दिल्‍ली।  कमल इंसटिट्यूट ऑफ हायर एडूकेशन के छात्र और छात्राओ ने 'बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ ' अभियान पर नुक्कड नाटक का आयोजन किया। 22 जनवरी 2015 को प्रधानमंत्री नरेंद्र [...]

असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के ब...
असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के बीच रहती हूं, लेकिन मैंने कभी भारत में भेदभाव महसूस नहीं किया!

सोफिया रंगवाला। पेशे से डॉक्टर हूं। बंगलोर में मेरी एक हाइ एण्ड लेजर स्किन क्लिनिक है। मेरा परिवार कुवैत में रहता है। मैं भी कुवैत में पली बढ़ी हूं लेकिन 18 साल [...]

प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम कर...
प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम करे, सूचना प्रसारण मंत्री को तो क्रिकेट डिप्‍लोमेसी से ही फुर्सत नहीं है!

संदीप देव।उटलुक पत्रिका के एक गलत खबर के कारण जो हंगामा हुआ और सदन को स्‍थगित करना पड़ा, इसका जिम्‍मेवार कौन है? क्‍या मोदी सरकार मीडिया के इस तरह के गैरजिम्‍मेवार और सबूत [...]

Other Articles