असावधानी में बनाया गया शारीरिक संबंध कई तरह से आपको कर सकता है परेशान!

नई दिल्ली। आज कल युवाओं का डेट पर जाना आम बात है लेकिन इस दौरान उन्हें अपने पार्टनर के साथ थोड़ी सावधानी बरतने की जरूरत होती है। डेटिंग के दौरान ज्यादातर युवा शारीरिक रूप से एक-दूसरे के नजदीक आ जाते हैं। केवल मौज-मस्ती के लिए बनाया गया संबंध आगे चलकर उनके लिए मुसीबतें बन सकता है। यदि युवा बिना गर्भनिरोधी उपायों के अपनाए बगैर सेक्स करते हैं तो उन्हें इन छह जोखिमभरी बातों का सामना करना पड़ सकता है।

 

अवांछित गर्भधारण

यदि आप गर्भनिरोधी उपायों को अपनाए बगैर सेक्स करते हैं तो गर्भधारण की प्रबल संभावना बनी रहती है। गर्भपात के जरिए गर्भ से छुटकारा पाया जा सकता है। बार-बार गर्भपात कराए जाने से आपको आगे चलकर शारीरिक जटिलताओं का सामना करना पड़ सकता है।

बच्चे
लड़का और लड़की यदि लापरवाही और अगंभीरता के साथ किए गए सेक्स के साथ आगे बढ़ना चाहते हैं तो उन्हें बच्चे के लिए तैयार रहना चाहिए। नवजात बच्चों की दिनचर्या बड़े लोगों की दिनचर्या से अलग होती है। बच्चे की जरूरतें और जिम्मेदारियां आपको उठानी पड़ेंगी। यदि आप इन सारी चीजों से बचना चाहते हैं तो गर्भनिरोधक उपायों को अपनाना चाहिए।

संक्रमण
असुरक्षित सेक्स करने से संक्रमण होने का खतरा बना रहता है। बहुत सारे लोग होमो और गे होते हैं। वे असुरक्षित सेक्स करने के आदी होते हैं। इनके साथ सेक्स करने पर एसटीडी (सेक्सुअली ट्रांसमीटेड डीजिज) होने का खतरा बना रहता है।

एचआईवी/एड्स
एचआईवी/एड्स पीड़ित व्यक्तियों के साथ सेक्स करने पर आपको भी यह रोग हो सकता है। इसलिए एचआईवी/एड्स पीड़ित व्यक्तियों के साथ सेक्स करते समय सावधानी बरतने की जरूरत होती है।

डेटिंग/सेक्स लाइफ पर असर
यदि आप एसटीडी बीमारियों से पीड़ित हो जाते हैं अथवा आपको एड्स हो जाता है तो आप आगे अपने जीवन में डेटिंग के सुख से वंचित हो जाएंगे। आपकी सेक्स लाइफ मुश्किल में पड़ सकती है।

तनाव
यदि आपने अपने पार्टनर के साथ किसी रात असुरक्षित सेक्स किया है तो आप शांत नहीं रह पाएंगे। यह ख्याल आपको बार-बार आएगा कि कहीं आप प्रेंग्नेंट तो नहीं हो जाएंगी।

Courtesy: ज़ी मीडिया ब्‍यूरो

Web Title: dangerous-things-that-can-happen-if-you-have-unprotected-sex

माओवादी खरीद रहे हैं अरबों के हथियार, चर...
माओवादी खरीद रहे हैं अरबों के हथियार, चर्च धर्मांतरण के लिए खर्च कर रहे हैं रक्षा बजट बराबर रकम

संदीप देव। पिछले दो-तीन दिन से काफी सारे लोगों से मिला हूं। सबका यही कहना है कि आपमें सामाजिक व कानूनी शोध करने की क्षमता है, जो नरेंद्र मोदी पर लिखी आपकी पुस्‍तक '' साजिश की [...]

मुगल सल्‍तनत के आखिरी वारिशों का हश्र या...

संदीपदेव‬।ासन करने वाले मुगल साम्राज्‍य के शासक भी बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार की तरह अहंकार से भरे थे, उन्‍हें सत्‍ता का गुमान था, लालू यादव के 'भूराबाल [...]

महिलाओं को कभी नहीं मिल सकती है पूरी खुश...
महिलाओं को कभी नहीं मिल सकती है पूरी खुशी: इंदिरा नूयी

न्यूयॉर्क। विश्व की सबसे शक्तिशाली महिलाओं में शुमार पेप्सीको की भारतीय मूल की मुख्य कार्यकारी इंदिरा नूयी ने स्वीकार किया कि ऑफिस के काम और घर के जीवन के बीच संतुलन बिठाना मुश्किल हो गया है और महिलाओं को सब [...]

अपनी छोटी बहन अक्षरा को लेकर श्रुति हासन...
अपनी छोटी बहन अक्षरा को लेकर श्रुति हासन है बेहद पजेसिव!

अभिनेत्री श्रुति हासन का कहना है कि वह अपनी छोटी बहन अक्षरा को लेकर प्रोटेक्टिव हैं. अक्षरा ने फिल्म 'शमिताभ' से बॉलीवुड में अपने करियर की शुरुआत की थी. उन्होंने बताया, 'मैं अक्षरा को लेकर [...]

जिन्‍ना के डायरेक्‍ट एक्‍शन के खिलाफ पंड...
जिन्‍ना के डायरेक्‍ट एक्‍शन के खिलाफ पंडित मदन मोहन मालवीय की वह ललकार!

संदीप देव।दन मोहन मालवीय की पुण्‍यतिथि है। 12 नवंबर 1946 को उनका देहावसान हुआ था। मैं उन सौभाग्‍यशाली लोगों में हूं, जिसे महामना द्वारा स्‍थापित काशी हिंदू विश्‍वविद्यालय से [...]

कानून के फंदे से हर बार निकलने में सफल र...
कानून के फंदे से हर बार निकलने में सफल रही तीस्‍ता सीतलवाड़!

संदीप देव।, तीस्‍ता सीतलवाड़ की भविष्‍य में होने वाली गिरफतारी न जाने कितने मीडिया हाउस, पत्रकारों, एनजीओकर्मी, वामपंथी बुद्धिजीवी, न्‍यायपालिका के कुछ धुरंधर और विदेशी फंडिंग देने वाले सरगनाओं के [...]

प्रधानमंत्री के नाम पत्र: ओबामा द्वारा ...
प्रधानमंत्री के नाम पत्र:  ओबामा द्वारा भारत को दी गई नसीहत मुझे स्‍वीकार नहीं

नई दिल्‍ली। हिंदू धर्म को दी गई नसीहत कम से कम मुझे तो स्‍वीकार नहीं है। मैं मोदी सरकार को सलाह देना चाहता हूं कि यदि आपने धर्मांतरण विरोधी कानून, गो हत्‍या बंदी कानून और [...]

मुझे गाली देने से पहले, अपने संगठन के मह...
मुझे गाली देने से पहले, अपने संगठन के महापुरुषों के लिखे को ही ठीक से पढ लें!

संदीप देव।को हमलावर दिखूुंगा तो केवल इसलिए कि मैं सच को जानता, समझता और उसे उसी रूप में लिखने की हिम्‍मत रखता हूं। सच किसी के हिसाब से नहीं चलता। मीडिया, कांग्रेस, [...]

दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!...
दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!

आधी आबादी ब्‍यूरो, नई दिल्ली। जंगल बनता जा रहा है। बच्चों के लिए खेलने के लिए जगह नहीं बची है। पार्क भी धीरे-धीरे खत्म होते जा रहे हैं। अभिभावकों की [...]

नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदे...
नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदेश

दिल्‍ली।  कमल इंसटिट्यूट ऑफ हायर एडूकेशन के छात्र और छात्राओ ने 'बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ ' अभियान पर नुक्कड नाटक का आयोजन किया। 22 जनवरी 2015 को प्रधानमंत्री नरेंद्र [...]

असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के ब...
असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के बीच रहती हूं, लेकिन मैंने कभी भारत में भेदभाव महसूस नहीं किया!

सोफिया रंगवाला। पेशे से डॉक्टर हूं। बंगलोर में मेरी एक हाइ एण्ड लेजर स्किन क्लिनिक है। मेरा परिवार कुवैत में रहता है। मैं भी कुवैत में पली बढ़ी हूं लेकिन 18 साल [...]

प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम कर...
प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम करे, सूचना प्रसारण मंत्री को तो क्रिकेट डिप्‍लोमेसी से ही फुर्सत नहीं है!

संदीप देव।उटलुक पत्रिका के एक गलत खबर के कारण जो हंगामा हुआ और सदन को स्‍थगित करना पड़ा, इसका जिम्‍मेवार कौन है? क्‍या मोदी सरकार मीडिया के इस तरह के गैरजिम्‍मेवार और सबूत [...]

Other Articles