पर्व त्‍यौहार

होली हिंदुस्‍तान की गहरी प्रज्ञा से उपजा हुआ त्‍यौहार है

अमृत साधना। होली हिंदुस्तान की गहरी प्रज्ञा से उपजा हुआ त्योहार है। उसमें पुराण कथा एक आवरण है, जिसमें लपेटकर मनोविज्ञान की घुट्टी पिलाई गई है। सभ्य मनुष्य के मन पर नैतिकता का इतना बोझ होता है कि उसका रेचन करना जरूरी है, अन्यथा वह पागल हो जाएगा। इसी को ध्यान में रखते हुए होली के नाम पर रेचन की सहूलियत दी गई है। पुराणों में इसके बारे में जो कहानी है, उसकी कई गहरी परतें हैं।

Read more...

नवरात्र में जगाएं अपने अंदर की शक्तियां, जानिए सप्त चक्र के बारे में

शारदीय नवरात्रि का प्रारंभ हो रहा है। हमारे पूर्वजों ने इन 9 दिनों में माता की भक्ति के साथ ही योग का विधान भी निश्चित किया है। हमारे शरीर में सात चक्र होते हैं। नवरात्रि में हर दिन एक विशेष चक्र को जाग्रत किया जाता है, जिससे हमें ऊर्जा प्राप्त होती है।

Read more...

सदभावना देखनी हो तो छठ पर्व को देखिए, महसूस कीजिए और इसके संदेश को अपने जीवन में उतारिए !

अजीत दुबे। जाति-मजहब में बंटे इस देश में हमारे नेताओं को सूर्य उपासना के महापर्व 'छठ' के भारतीय स्‍वरूप का अध्‍ययन करना चाहिए या फिर उन्‍हें चाहिए कि वो छठ के घाटों पर जाकर 'भारतीयता' को नजदीक से देखें, जहां आस्‍था पर मजहब का जोर नहीं दिखता। जहां ऊंच-नीच की सारी भावना जल के प्रवाह में उतरते ही विलोप हो जाती है और जहां भगवान भास्‍कर एक समान सभी को मानवता के सूत्र में पिरोते-से प्रतीत होते है।

Read more...

एक बच्‍चे की जुबानी, होली की कहानी

जिज्ञासु देव, नई दिल्‍ली। होली बच्‍चों का प्रिय पर्व है। इस दिन बच्‍चे और दिनों की अपेक्षा जल्‍दी उठ जाते हैं। उनकी शुरुआत छत से राह चलते लोगों पर रंग डालने से होती है। सिर्फ बच्‍चे ही नहीं, बड़े भी इस त्‍यौहार को बड़ी उत्‍साह से मनाते हैं। बड़े एक दूसरे को गुलाल और अबीर लगाकर गले मिलते हैं।

Read more...

होली का रंग हमेशा के लिए चेहरे को कर सकता है बदरंग!

नई दिल्ली। बुरा न मानो होली है... कहते हुए जब कोई अपना रासायनिक रंग लेकर आपकी ओर बढ़े तो आप उनसे विनती कर ऐसा करने से रोकें। कहीं ऐसा न हो कि रासायनिक रंग हमेशा के लिए आपके चेहरे को बदरंग कर दे! एक दिन की होली आपके चेहरे पर झुर्रियां, झाईंया और एग्जीमा जैसी बीमारी ला सकती है, जिसका अफसोस आपको ताउम्र रहेगा। और तो और यदि ऐसे हानिकारक रंग या गुब्बारे की मार आपकी आंख पर पड़ा तो स्थाई रूप से अन्धे भी हो सकते हैं। फेफड़े में रंग के जाने से दमा का अटैक भी पड़ सकता है।

Read more...

AN OPEN LETTER TO THE PRIME MINISTER Nar...
AN OPEN LETTER TO THE PRIME MINISTER NarendraModi about ‪‎BiharElections ‬

Francois Gautier. Dear Mr Prime Minister [...]

'प्रधान सेवक' नरेंद्र मोदी ने कहा, 'मेरा...
'प्रधान सेवक' नरेंद्र मोदी ने कहा, 'मेरा क्या-मुझे क्या' की जगह देश हित की सोचें!

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज भारत के 68वें स्वतंत्रता दिवस पर ऐतिहासिक लालकिले की प्राचीर से देशवासियों को संबोधित किया। मोदी के भाषण में सबसे ख़ास बात यह रही कि उन्होंने अलिखित भाषण पढ़ा। पेश है [...]

बिहार की हार में भाजपा के खलनायक: विचारध...
बिहार की हार में भाजपा के खलनायक: विचारधारा के 'अर्जुनों' को भूल कर चलने का खामियाजा अभी कई और बिहार के रूप में सामने आ सकता है!

संदीप देव‬।खासकर, सोशल मीडिया स्ट्रेटजिस्ट रहे प्रशांत किशोर ने Narendra Modi को छोड़कर नीतीश का दामन थाम लिया और नीतीश की जीत [...]

तथ्‍य न मेरे होते हैं और न तुम्‍हारे...।...

संदीप देव।ॉसोपी को न समझने वाले मुझ पर लगातार हमलावर हैं। वो समझ नहीं पा रहे हैं कि मैं किस विचारधारा का हूं, इसलिए पूछते रहते हैं कि आपने पहले तो फलां व्‍यक्ति की ओलाचना की [...]

तो नीतीश कुमार अपने दादा के स्‍वतंत्रता ...
तो नीतीश कुमार अपने दादा के स्‍वतंत्रता सेनानी होने की कीमत वसूलता चाहते हैं बिहारी जनता से!

ंदीपदेव‬।ुख्‍यमंत्री Nitish Kumar के सिर चढ़ कर बोल रहा है! उनका कहना है कि जिन लोगों का (आरएसएस व भाजपा) देश को [...]

'पतंजलि फूड एवं हर्बल पार्क: 'स्‍वदेशी' ...
'पतंजलि फूड एवं हर्बल पार्क: 'स्‍वदेशी' को विचार से धरातल पर उतार दिया बाबा रामदेव ने!

संदीप देव, पतंजलि योगपीठ, हरिद्वार से लौटकर। बाबा रामदेव ने स्‍वदेशी के विचार को धरातल पर उतार कर आरएसएस से लेकर राजीव दीक्षित तक के स्‍वदेशी आंदोलन को मरने से बचा लिया है। स्‍वामी रामदेव के अनुसार, [...]

सुभाषचंद्र बोस के खिलाफ गांधी के लिए सरद...
सुभाषचंद्र बोस के खिलाफ गांधी के लिए सरदार पटेल का चक्रव्‍यूह!

संदीप देव। आज सुभाषचंद्र बोस की जयंती है। उनकी संदेहास्‍पद मौत, उनके जीवित होने की बात पर तो हमेशा चर्चा होती रही है। आज मैं आपलोगों को एक ऐसा तथ्‍य बताऊंगा, जिसे आजाद भारत के बेहद कम लोग [...]

पढ़ना मत! अपनी मूर्खता को पकड़े रखना- कश...
पढ़ना मत! अपनी मूर्खता को पकड़े रखना- कश्‍मीरी पंडित के पूर्वजों ने मूर्खता की थी, उनकी अगली पीढ़ी गाजर-मूली की तरह काट दी गयी, भगा दी गयी! ‎

संदीपदेव‬।िचित्र बात है, वह अपने इतिहास से सबक लेने को तैयार ही नहीं है! और ऐसा नहीं कि यह आज की बात हो, यह हमारे पूर्वजों से चली आ रही मूढ़ता है, जिसका [...]

दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!...
दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!

आधी आबादी ब्‍यूरो, नई दिल्ली। जंगल बनता जा रहा है। बच्चों के लिए खेलने के लिए जगह नहीं बची है। पार्क भी धीरे-धीरे खत्म होते जा रहे हैं। अभिभावकों की [...]

नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदे...
नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदेश

दिल्‍ली।  कमल इंसटिट्यूट ऑफ हायर एडूकेशन के छात्र और छात्राओ ने 'बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ ' अभियान पर नुक्कड नाटक का आयोजन किया। 22 जनवरी 2015 को प्रधानमंत्री नरेंद्र [...]

असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के ब...
असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के बीच रहती हूं, लेकिन मैंने कभी भारत में भेदभाव महसूस नहीं किया!

सोफिया रंगवाला। पेशे से डॉक्टर हूं। बंगलोर में मेरी एक हाइ एण्ड लेजर स्किन क्लिनिक है। मेरा परिवार कुवैत में रहता है। मैं भी कुवैत में पली बढ़ी हूं लेकिन 18 साल [...]

प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम कर...
प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम करे, सूचना प्रसारण मंत्री को तो क्रिकेट डिप्‍लोमेसी से ही फुर्सत नहीं है!

संदीप देव।उटलुक पत्रिका के एक गलत खबर के कारण जो हंगामा हुआ और सदन को स्‍थगित करना पड़ा, इसका जिम्‍मेवार कौन है? क्‍या मोदी सरकार मीडिया के इस तरह के गैरजिम्‍मेवार और सबूत [...]

Other Articles