आस्था

नवंबर माह की लड़कियों में अपार सहनशक्ति होती है!

नवंबर माह में जन्‍म लेने वाले व्‍यक्ति दिल के बड़े अच्‍छे व भोले होते हैं। उनके अंदर प्‍यार और दया का सागर उमड़ता रहता है, लेकिन साथ ही गुस्‍से का तूफान भी अंदर पलता है। ये जिन्‍हें प्‍यार करते हैं उनके लिए सारी दुनिया को छोड़ सकते हैं। नवंबर में जन्‍म लेने वाली लड़कियां बेहद भावुक होती हैं, लेकिन साथ ही यह व्‍यवहारकुशल भी होती हैं। यह अलग बात है कि वह अपने दिल की भावना कई बार व्‍यक्‍त नहीं कर पातीं, जिससे कई लोग इन्‍हें गलत समझ लेते हैं। ये समझती हैं कि लोग इनकी बातों को खुद समझ लेंगे, लेकिन ऐसा इस दुनिया में कहां होता है। इन्‍हें संवाद का तरीका ढूंढ़ना होगा और संवाद स्‍थापित करने की कोशिश करनी होगी, तो इनसे बेहतर कोई इंसान नहीं हो सकता।

Read more...

अक्‍टूबर में जन्‍म लेने वाले आकर्षक और प्‍यार करने वाले होते हैं

अक्‍टूबर महीने में पैदा हाने वाले लोग बेहद शांत और स्‍मार्ट होते हैं। उम्र बढ़ने के साथ इनकी सेहत और स्‍मार्टनेस बढ़ती चली जाती है। आप आकर्षक दिखने की पूरी कोशिश करते हैं, जिसमें आपको शत-प्रतिशत सफलता मिलती है। अंतरमुखी होने के कारण आपकी हर किसी से दोस्‍ती संभव नहीं। इसलिए सामने वाले की नजर में आप एक रहस्‍मयी व्‍यक्ति हो सकते हैं।

 

Read more...

अगस्‍त में जन्‍मे व्‍यक्ति को हमेशा बड़ों का सहयोग मिलता है

अगस्‍त महीने में जन्‍म लेने वाले व्‍यक्ति उदार होते हैं। वे अत्‍यंत स्‍वतंत्र भावना वाले होते हैं। इनके अंदर इच्‍छाशक्ति बेहद प्रबल होती है। यदि किसी योजना, उद्देश्‍य या पद पर ध्‍यान लगाएं तो हर बाधा के बावजूद लक्ष्‍य हासिल करते हैं। इनका हर बड़ा लक्ष्‍य अपने से बड़ों के सहयोग से पूरा होता है। लक्ष्‍य हासिल न होने की स्थिति में इन्‍हें घोर निराशा घेर लेती है।

 

Read more...

शनि को शांत करने का यह उपाय करें, शनि आपके लिए शुभ फलदायक होंगे

शनिदेव तुला राशि में उच्च का तथा मेष राशि में नीच का फल देता है। शनि जिस भाव में विद्यमान होता है वहाँ से तीसरी, सातवीं तथा दसवीं पूर्ण दृष्टि अन्य भावों पर डालता है। शनि जिस राशि में भ्रमण करता है उसकी अगली तथा पिछली राशियों को साढ़ेसाती दशा के रूप में प्रभावित करता है। मानसगरी ग्रन्थ के अनुसार शनि देव का मित्र शुक्र व बुध ग्रह है| बृहस्पति सम ग्रह है| शेष सभी ग्रह शत्रु हैं।

Read more...

जुलाई में जन्‍म लेने वाले थोड़े मूडी, थोड़े गुस्‍सैल लेकिन भरपूर प्‍यार करने वाले होते हैं

जुलाई के महीने में जन्‍म लेने वाले लोग प्रतिभा के धनी होते हैं। ये थोड़े मूडी, गुस्‍सैल लेकिन लोगों को प्‍यार व सम्‍मान देने वाले होते हैं। इनके स्‍वभाव को समझना बहुत ही मुश्किल होता है। ये कब किस बात से खुश होंगे, कब किस बात से दुखी और कब गुस्‍से से भर उठेंगे-कहना मुश्किल होता है।

Read more...

अब रिमोर्ट से कंट्रोल करें अपने गर्भनिरो...
अब रिमोर्ट से कंट्रोल करें अपने गर्भनिरोधक को!

नर्इ दिल्‍ली। अमेरिका के मैसाचुसेट्स यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने एक कंप्यूटर चिप आधारित गर्भनिरोधक विकसित किया है, जिसे रिमोट कंट्रोल से ऑपरेट किया जा सकेगा। यह लगातार 16 साल तक काम कर सकता है। खास बात यह है [...]

क्‍वांटिको में प्रियंका चोपड़ा का बोल्‍ड...
क्‍वांटिको में प्रियंका चोपड़ा का बोल्‍ड हॉलिवुड अवतार

अमेरिकी टीवी शो ‘क्वांटिको’ के एक नए प्रोमो में अदाकारा प्रियंका चोपड़ा एक बार फिर बोल्ड अंदाज में दिखी है। इस बार उनका लुक इस टीवी सीरियल में बिल्कुल अलग दिख रहा है और फिल्म में अभिनेता की भूमिका निभा [...]

धर्म नहीं, राष्‍ट्र है व्‍यक्ति की सही प...
धर्म नहीं, राष्‍ट्र है व्‍यक्ति की सही पहचान!

संदीप देव।ं (सिर्फ कटटर लिख रहा हूं, इसलिए उदार मुस्लिम इससे खुद को न जोडें) से कहना चाहता हूं कि जहां से इस्‍लाम निकला था, वह देश ही जब धर्म से अधिक राष्‍ट्र [...]

दिल्‍ली के चुनाव में अरविंद केजरीवाल का ...
दिल्‍ली के चुनाव में अरविंद केजरीवाल का स्‍यापा!

संदीप देव।कि अन्ना आंदोलन के बाद उत्तराखंड के तत्कालीन भाजपा मुख्यमंत्री भुवनचंद खंडूरी ने नवंबर 2011 में अन्ना-अरविंद के जनलोकपाल को हूबहू अपने विधानसभा में पारित कर मजबूत लोकायुक्त कानून [...]

लालबहादुर शास्‍त्री, छोटे कद का बड़ा आदम...
लालबहादुर शास्‍त्री, छोटे कद का बड़ा आदमी!

भारत में बहुत कम लोग ऐसे हुए हैं जिन्होंने समाज के बेहद साधारण वर्ग से अपने जीवन की शुरुआत कर देश के सबसे  पड़े पद को प्राप्त किया। चाहे रेल दुर्घटना के बाद उनका रेल मंत्री के पद से इस्तीफ़ा [...]

कविता: ओह मां !
कविता: ओह मां !

संजू मिश्रा। ओह मां !सा भी नही है। माँ के जाते वह बचपन भी नही है।
गुस्से में भी प्यार,

दुनिया की सबसे वैज्ञानिक लिपि है देवनागर...
दुनिया की सबसे वैज्ञानिक लिपि है देवनागरी लिपि

‪संदीपदेव‬।निक लिपि है देवनागरी लिपि। देखिए, देवनागरी का पहला अक्षर है 'अ' अर्थात 'अज्ञान' और देवनागरी का आखिरी अक्षर है 'ज्ञ' अर्थात 'ज्ञान'। देवनागरी मतलब- ' [...]

आधुनिक भारत में धर्मांतरण और घर वापसी का...
आधुनिक भारत में धर्मांतरण और घर वापसी का सच!

संदीप देव।अशोक सिंघल ने जब मुस्लिम और ईसाई पर कुछ कहा तो मीडिया बवाल मचा रहा है, लेकिन बाबा साहब भीमराव अंबेडकर ने इन दोनों ही धर्म को विदेश से आयातित धर्म कहा था और [...]

दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!...
दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!

आधी आबादी ब्‍यूरो, नई दिल्ली। जंगल बनता जा रहा है। बच्चों के लिए खेलने के लिए जगह नहीं बची है। पार्क भी धीरे-धीरे खत्म होते जा रहे हैं। अभिभावकों की [...]

नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदे...
नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदेश

दिल्‍ली।  कमल इंसटिट्यूट ऑफ हायर एडूकेशन के छात्र और छात्राओ ने 'बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ ' अभियान पर नुक्कड नाटक का आयोजन किया। 22 जनवरी 2015 को प्रधानमंत्री नरेंद्र [...]

असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के ब...
असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के बीच रहती हूं, लेकिन मैंने कभी भारत में भेदभाव महसूस नहीं किया!

सोफिया रंगवाला। पेशे से डॉक्टर हूं। बंगलोर में मेरी एक हाइ एण्ड लेजर स्किन क्लिनिक है। मेरा परिवार कुवैत में रहता है। मैं भी कुवैत में पली बढ़ी हूं लेकिन 18 साल [...]

प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम कर...
प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम करे, सूचना प्रसारण मंत्री को तो क्रिकेट डिप्‍लोमेसी से ही फुर्सत नहीं है!

संदीप देव।उटलुक पत्रिका के एक गलत खबर के कारण जो हंगामा हुआ और सदन को स्‍थगित करना पड़ा, इसका जिम्‍मेवार कौन है? क्‍या मोदी सरकार मीडिया के इस तरह के गैरजिम्‍मेवार और सबूत [...]

Other Articles