सरकार और योजनाएं

प्रधानमंत्री मोदी की अपील से युवाओं में बढ़ा खादी का क्रेज

नई दिल्‍ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 'मन की बात' कार्यक्रम की शुरुआत लोगों से इस अपील के साथ ही की थी कि वे खादी का कोई सामान जरूर प्रयोग में लाएं. मेक इन इंडिया थीम और रोजगार को बढ़ावा देने के लिए की गई मोदी की इस अपील ने खादी को कुछ दिनों में खासा पॉपुलर कर दिया. उन्होंने दीवाली पर भी घर में खादी के कपड़े लाने को कहा है जिसके बाद से खादी की डिमांड में अभी और उछाल आने की उम्मीद जताई जा रही है. मोदी के इस अपील के बाद से ही खादी की बिक्री खासा इजाफा हुआ है और इसकी खरीदारी करने वालों में ज्यादातर युवा शामिल हैं.

Read more...

आईआईटी में ग्रामीण विकास पर कोई भारतीय स...
आईआईटी में ग्रामीण विकास पर कोई भारतीय संत नहीं बोल सकता! आखिर किस मानसिक दिवालिएपन से गुजर रहे हैं वामपंथी पत्रकार?

आधीआबादी ब्‍यूरो, नई दिल्‍ली।क्रम में बाबा रामदेव को अतिथि क्‍या बना लिया, वामपंथी पत्रकारों के मानसिक दिवालिएपन का दर्शन होना शुरू हो गया। आईआईटी में विषय था, 'ग्रामीण [...]

अनाप-शनाप दवा खाने से पहले एक बार महिलाए...
अनाप-शनाप दवा खाने से पहले एक बार महिलाएं इस शोध को पढ़ लें

लंदन।प्रतिकूल प्रभाव के प्रति महिलाएं पुरुषों से अधिक संवेदनशील क्यों होती हैं, इसका जवाब वैज्ञानिकों को मिल गया है। इसका कारण कोशिकाओं की संवेदनशीलता होती है। एक नए अध्ययन में यह बात सामने आई है। महिलाएं [...]

बॉलिवुड में महिलाओं को केवल सेक्‍सी तरीक...
बॉलिवुड में महिलाओं को केवल सेक्‍सी तरीके से परोसने का है चलन: यूएन

संयुक्त राष्ट्र। दुनियाभर की लोकप्रिय फिल्मों के महिला किरदारों पर संयुक्त राष्ट्र की स्टडी की मानें तो बॉलिवुड की फिल्मों में ऐक्ट्रेस को ग्लैमरस अंदाज में पेश करने की होड़ लगी है। इसके मुताबिक, भारतीय फिल्मों के कम से [...]

बिहार की हार में भाजपा के खलनायक: विचारध...
बिहार की हार में भाजपा के खलनायक: विचारधारा के 'अर्जुनों' को भूल कर चलने का खामियाजा अभी कई और बिहार के रूप में सामने आ सकता है!

संदीप देव‬।खासकर, सोशल मीडिया स्ट्रेटजिस्ट रहे प्रशांत किशोर ने Narendra Modi को छोड़कर नीतीश का दामन थाम लिया और नीतीश की जीत [...]

आखिर कौन हैं 'भंगी', 'मेहतर', 'दलित' और ...
आखिर कौन हैं 'भंगी', 'मेहतर', 'दलित' और 'वाल्‍मीकि'?

संदीप देव।ों ने जिन 'भंगी' और 'मेहतर' जाति को अस्‍पृश्‍य करार दिया, जिनका हाथ का छुआ तक आज भी बहुत सारे हिंदू नहीं खाते, जानते हैं वो हमारे आपसे कहीं बहादुर [...]

पाखंडियों के समाज में सावधान रहें प्रधान...
पाखंडियों के समाज में सावधान रहें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी!

संदीप देव।डियों का समाज रहा है। जिन लोगों ने त्‍याग का पाखंड किया, वह बड़ा और जिसने जीवन को संपूर्णता में जीया, वह खोटा साबित होता रहा है। मेरी पिछली पोस्‍ट जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र [...]

'धर्मनिरपेक्ष भारत' में हिंदू की शराब खर...
'धर्मनिरपेक्ष भारत' में हिंदू की शराब खराब, ईसाई की शराब लाजवाब!

संदीप देव। चर्च और इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग देश में सरकार गिराने की खुली धमकी दे रहे हैं और इस पर न तो कहीं चर्चा है और न ही किसी तरह की सुगबुगाहट! तो यही है [...]

ब्रैंडिंग के लिए सर्वाधिक लोकप्रिय साइट ...
ब्रैंडिंग के लिए सर्वाधिक लोकप्रिय साइट बना यूट्यूब

यॉर्क।्री वाली सर्वाधिक लोकप्रिय साइट यूट्यूब को एक ताजा अध्ययन में ब्रैंडिंग वीडियो के लिए सर्वाधिक उपयुक्त जगह बताया गया है। समाचारपत्र 'वॉल स्ट्रीट जर्नल' के अनुसार, वीडियो विज्ञापन निर्माता एजेंसी 'विजिबल मेजर्स' [...]

दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!...
दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!

आधी आबादी ब्‍यूरो, नई दिल्ली। जंगल बनता जा रहा है। बच्चों के लिए खेलने के लिए जगह नहीं बची है। पार्क भी धीरे-धीरे खत्म होते जा रहे हैं। अभिभावकों की [...]

नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदे...
नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदेश

दिल्‍ली।  कमल इंसटिट्यूट ऑफ हायर एडूकेशन के छात्र और छात्राओ ने 'बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ ' अभियान पर नुक्कड नाटक का आयोजन किया। 22 जनवरी 2015 को प्रधानमंत्री नरेंद्र [...]

असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के ब...
असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के बीच रहती हूं, लेकिन मैंने कभी भारत में भेदभाव महसूस नहीं किया!

सोफिया रंगवाला। पेशे से डॉक्टर हूं। बंगलोर में मेरी एक हाइ एण्ड लेजर स्किन क्लिनिक है। मेरा परिवार कुवैत में रहता है। मैं भी कुवैत में पली बढ़ी हूं लेकिन 18 साल [...]

प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम कर...
प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम करे, सूचना प्रसारण मंत्री को तो क्रिकेट डिप्‍लोमेसी से ही फुर्सत नहीं है!

संदीप देव।उटलुक पत्रिका के एक गलत खबर के कारण जो हंगामा हुआ और सदन को स्‍थगित करना पड़ा, इसका जिम्‍मेवार कौन है? क्‍या मोदी सरकार मीडिया के इस तरह के गैरजिम्‍मेवार और सबूत [...]

Other Articles