सीआईएसएफ के अंदर महिला यौन उत्‍पीड़न के 50 फीसदी मामले झूठे

नई दिल्‍ली। केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (Central Industrial Security Force-cisf) वर्ष 2013 को महिला सुरक्षा वर्ष के रूप में मना रहा है। सीआईएसएफ के कुल 1 लाख 34 हजार जवानों में करीब 5000 महिला जवान हैं। सीआईएसएफ के महानिदेशक श्री राजीव का कहना है कि अभी यह संख्‍या बेहद छोटी है, लेकिन अन्‍य सुरक्षा बलों की अपेक्षा हमारे यहां महिलाओं की संख्‍या फिर भी अधिक है। हमारा लक्ष्‍य महिला सुरक्षाकर्मियों की संख्‍या को 10 फीसदी तक बढ़ाना है।

मेट्रो से लेकर एयरपोर्ट तक पर तैनात हैं महिला सुरक्षाकर्मी
श्री राजीव के अनुसार, सीआईएसएफ की अधिकांश महिला सुरक्षाकर्मी ऑपरेशनल एरिया में तैनात हैं। दिल्‍ली मेट्रो से लेकर देश भर के एयरपोर्ट पर महिला यात्रियों की जांच, उनसे सहयोग में हमारे बल के महिलाकर्मी ही लगे हुए हैं। यही नहीं, सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों में भी महिला सुरक्षाकर्मी तैनात हैं। सीआईएसएफ ने दिल्‍ली मेट्रो के महिला कोच से पुरुष यात्रियों को निकालने के लिए विशेष अभियान चलाया हुआ है, जिसमें 15 हजार से अधिक पुरुषों को अभी तक पकड़ा और उन पर जुर्माना लगाया गया है। सीआईएसएफ महिला क्‍यूआरटी की भी महत्‍वपूर्ण स्‍थानों पर तैनाती की गई है।

सीआईएसएफ में भी सामने आते हैं यौन उत्‍पीड़न के मामले
सीआईएसएफ के अंदर महिलाओं के साथ यौन उड़ीपन पर पूछे गए एक सवाल के जवाब में श्री राजीव ने कहा कि हां यह सच है कि सीआईएसएफ के अंदर महिला यौन उत्‍पीड़न (sexual harassment) के कई मामले सामने आए हैं, लेकिन करीब 50 फीसदी तक मामले झूठे पाए गए हैं। अभी तक ऐसे 19 मामले सामने आ चुके हैं, जिसमें केवल पांच मामले ही सही साबित हुए हैं। नौ मामले बिल्‍कुल फर्जी पाए गए हैं। अन्‍य में जांच जारी है। यौन उत्‍पीड़न के सही पाए गए मामलों में तीन माह के अंदर दोषियों पर कार्रवाई की गई है।

लिंग भेद समाप्‍त करने के लिए विशेष प्रशिक्षण
सुरक्षा बल में पुरुष जवानों, कर्मचारियों और अधिकारियों को महिलाओं के प्रति संवेदनशील बनाने(gender sensitization) के लिए विशेष प्रशिक्षण कार्यक्रम चलाया जा रहा है। अभी तक 770 जवानों को इसका प्रशिक्षण दिया जा चुका है। आगे हर बैच में 100-125 जवानों को लिंग भेद समाप्‍त करने, लिंग जनित हिंसा से दूर रहने और महिला सहकर्मियों व यात्रियों के प्रति संवेदनशीलता व दोस्‍ताना व्‍यवहार बनाने का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। यह लगातार चलने वाली प्रक्रिया है। महिला सुरक्षाकर्मियों को भी महिला यात्रियों से दोस्‍ताना व्‍यवहार करने का प्रशिक्षण दिया जाता है।

महिलाओं की माहवारी पर बीबीसी हिंदी की पे...
महिलाओं की माहवारी पर बीबीसी हिंदी की पेशकश: अगर मर्दों को मासिक धर्म होता!

सुमिरन प्रीत कौर बीबीसी संवाददाता।र बात कर पाती हैं और न ही परंपरागत भारतीय समाज में आमतौर पर ऐसे विषयों पर बात करने की इजाज़त है. [...]

आज विज्ञान ओम की शक्ति को पहचान रहा है ज...
आज विज्ञान ओम की शक्ति को पहचान रहा है जबकि हमारे ऋषि-मुनी, योगी तो पहले ही इस तथ्य को जान चुके थे!

आधी आबादी ब्‍यूरो। कहा गया है। यह तथ्य भी उल्लेखित है कि तेजस तत्व के अधिष्ठाता भगवान भास्कर की तेज ऊर्जा के संग निकलने वाली ध्वनि में ओम स्वर उच्चरित होता है। [...]

स्ट्रेस मॅनेजमेंट का फंडा...
स्ट्रेस मॅनेजमेंट का फंडा

एक मनोवैज्ञानिक स्ट्रेस मॅनेजमेंट के बारे में, अपने छात्रों से मुखातिब था। उसने पानी से भरा एक ग्लास उठाया। सभी ने समझा की अब "आधा खाली या आधा भरा है", यही पुछा और समझाया जाएगा! मगर [...]

महिलाओं की माहवारी पर बीबीसी हिंदी की पे...
महिलाओं की माहवारी पर बीबीसी हिंदी की पेशकश: यहां होता है पहली माहवारी पर जश्न

सुशीला सिंह, बीबीसी संवाददाता।ी हो रही है. अनोखी इस मायने में कि असम की परंपरा के अनुसार यहां दुल्हन तो होती है लेकिन दूल्हा एक केले का पौधा [...]

प्रधानमंत्री के नाम पत्र: ओबामा द्वारा ...
प्रधानमंत्री के नाम पत्र:  ओबामा द्वारा भारत को दी गई नसीहत मुझे स्‍वीकार नहीं

नई दिल्‍ली। हिंदू धर्म को दी गई नसीहत कम से कम मुझे तो स्‍वीकार नहीं है। मैं मोदी सरकार को सलाह देना चाहता हूं कि यदि आपने धर्मांतरण विरोधी कानून, गो हत्‍या बंदी कानून और [...]

हिंदुओं को बदनाम करने के लिए राष्‍ट्रीय-...
हिंदुओं को बदनाम करने के लिए राष्‍ट्रीय-अंतरराष्‍ट्रीय मीडिया द्वारा चलाया जा रहा है संगठित अभियान!

संदीप देव‬।्च के नन से रेप करने वाले आरोपी बंग्‍लादेशी मुसलमान निकले, दिल्‍ली के चर्च पर हमले की जांच में केरल के कांग्रेसी विधायक का नाम सामने आया, नवी मुंबई में चर्च पर हमले [...]

लड़की ने पूछा कहां मिलेगा कंडोम, पुरुष श...
लड़की ने पूछा कहां मिलेगा कंडोम, पुरुष शरमा कर भाग खड़े हुए!

मुंबई। असुरक्षित यौन संबंधों के कारण एचआईवी होने का खतरा रहता है. सरकार और विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन अवेयरनेस प्रोग्राम के लिए हर साल करोड़ों रुपये खर्च करते हैं. टीवी पर अनचाहे गर्भ और एचआईवी से सुरक्ष‍ित रहने के [...]

भारत-चीन युद्ध: नेहरू ने देश को छला, भार...
भारत-चीन युद्ध: नेहरू ने देश को छला, भारतीय महिलाओं के आभूषण हड़पे और कम्‍युनिस्‍टों ने कहा, चीन ने नहीं, बल्कि भारत ने चीन की जमीन छीनी है!

संदीप देव‬रेसियों के खून में जो गद्दारी दिखती है, देश में उसका सबसे बेहतरीन उदाहरण सन 1962 में हुआ भारत-चीन युद्ध था, जिसमें नेहरू ने देश को छला और भारत [...]

दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!...
दिल्‍ली में सुरक्षित नहीं है बचपन!

आधी आबादी ब्‍यूरो, नई दिल्ली। जंगल बनता जा रहा है। बच्चों के लिए खेलने के लिए जगह नहीं बची है। पार्क भी धीरे-धीरे खत्म होते जा रहे हैं। अभिभावकों की [...]

नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदे...
नुक्‍कड़ नाटक के जरिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदेश

दिल्‍ली।  कमल इंसटिट्यूट ऑफ हायर एडूकेशन के छात्र और छात्राओ ने 'बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ ' अभियान पर नुक्कड नाटक का आयोजन किया। 22 जनवरी 2015 को प्रधानमंत्री नरेंद्र [...]

असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के ब...
असहिष्णुता: मैं एक मुस्लिम महिला हूं, हिंदुओं के बीच रहती हूं, लेकिन मैंने कभी भारत में भेदभाव महसूस नहीं किया!

सोफिया रंगवाला। पेशे से डॉक्टर हूं। बंगलोर में मेरी एक हाइ एण्ड लेजर स्किन क्लिनिक है। मेरा परिवार कुवैत में रहता है। मैं भी कुवैत में पली बढ़ी हूं लेकिन 18 साल [...]

प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम कर...
प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को मीडिया भले ही बदनाम करे, सूचना प्रसारण मंत्री को तो क्रिकेट डिप्‍लोमेसी से ही फुर्सत नहीं है!

संदीप देव।उटलुक पत्रिका के एक गलत खबर के कारण जो हंगामा हुआ और सदन को स्‍थगित करना पड़ा, इसका जिम्‍मेवार कौन है? क्‍या मोदी सरकार मीडिया के इस तरह के गैरजिम्‍मेवार और सबूत [...]

Other Articles